अध्याय10 प्रकाश - परावतर्न तथा अपवतर्न बहुविकल्पीय प्रश्न 1ण् निम्नलिख्िात में से कौन किसी बिंदु ड्डोत से उस पर आपतित प्रकाश का समांतर प्रकाश पुंज बना सकता है? ;ंद्ध अवतल दपर्ण और उत्तल लेंस दोनों ही ;इद्ध उत्तल दपर्ण और अवतल लेंस दोनों ही ;बद्ध एक दूसरे से 90ह् पर रखे दो समतल दपर्ण ;कद्ध अवतल दपर्ण और अवतल लेंस दोनों ही 2ण् 10 उउ लबी कोइर् सुइर् किसी अवतल दपर्ण के सामने ऊध्वार्धर रखी है। इस सुइर् कां5 उउ लंबा प्रतिबिंब दपर्ण के सामने 30 बउ दूरी पर बनता है। दपर्ण की पफोकस दूरी हैः ;ंद्ध दृ 30 बउ ;इद्ध दृ 20 बउ ;बद्ध दृ 40 बउ ;कद्ध दृ 60 बउ 3ण् निम्नलिख्िात में से किस स्िथति में कोइर् अवतल दपर्ण बिब से बड़ा वास्तविक प्रतिबिम्ब ंबना सकता है? ;ंद्ध जब बिंब दपर्ण के वक्रता वेंफद्र पर हो ;इद्ध जब बिंब दपर्ण के ध््रुव और पफोकस के बीच हो ;बद्ध जब बिंब दपर्ण के पफोकस और वक्रता वेंफद्र के बीच हो ;कद्ध जब बिंब दपर्ण की वक्रता त्रिाज्या से अध्िक दूरी पर हो 4ण् चित्रा 10.1 में किसी प्रकाश किरण को माध्यम । से माध्यम ठ में गमन करते दशार्या गया है। माध्यम । के सापेक्ष माध्यम ठ का अपवतर्नांक हैः ;ंद्ध 3ध् 2 ;इद्ध 2ध् 3 ;बद्ध 1ध् 2 ;कद्ध 2 5ण् कोइर् प्रकाश किरण चित्रा 10.2 में दशार्ए अनुसार माध्यम । से माध्यम ठ में प्रवेश करती है। माध्यम । के सापेक्ष माध्यम ठ का अपवतर्नांक होगाः ;ंद्ध एक से अिाक ;इद्ध एक से कम ;बद्ध एकमाध्यम । ;कद्ध शून्य 6ण् चित्रा 10.3 में दशार्ए अनुसार प्रकाश पुंज किसी बाॅक्स के छिद्रों । तथा ठ से आपपित होकर क्रमशः छिद्रों ब् तथा क् से बाहर निकलते हैं। बाॅक्स के भीतर निम्नलिख्िात में से क्या हो सकता है? ;ंद्ध काँच का एक आयताकार स्लैब ;इद्ध एक उत्तल लेंस ;बद्ध एक अवतल लेंस ;कद्ध एक पि्रश्म 7ण् चित्रा 10.4 में दशार्ए अनुसार कोइर् प्रकाश पुंज बाॅक्स के पफलक । के छिद्रों से आपतितचित्रा 10ण्3 होकर पफलक ठ के छिद्रों से बाहर निकलता है। इस बाॅक्स के भीतर निम्नलिख्िात में से क्या हो सकता है? ;ंद्ध एक अवतल लेंस ;इद्ध काँच का एक आयताकार स्लैब ;बद्ध एक पि्रश्म ;कद्ध एक उत्तल लेंस 8ण् निम्नलिख्िात में से कौन - सा प्रकथन सत्य है? ;ंद्ध 0ण्25उ पफोकस दूरी के उत्तल लेंस की क्षमता 4 डाइआॅप्टर होती है ;इद्ध 0ण्25 उ पफोकस दूरी के उत्तल लेंस की क्षमता μ4 डाइआॅप्टर होती है ;बद्ध 0ण्25 उ पफोकस दूरी के अवतल लेंस की क्षमता 4 डाइआॅप्टर होती है ;कद्ध 0ण्25 उ पफोकस दूरी के अवतल लेंस की क्षमता μ4 डाइआॅप्टर होती है 9ण् वाहनों में पीछे के दृश्य को देखने के लिए लगे दपर्ण द्वारा आवधर्नः ;ंद्ध एक से कम होता है ;इद्ध एक से अिाक होता है ;बद्ध एक होता है ;कद्ध एक से कम अथवा अिाक हो सकता है। यह इसके सामने रखे बिंब की स्िथति पर निभर्र करता है 10ण् किसी अवतल दपर्ण पर आपतित सूयर् की किरणें दपर्ण के सामने 15 बउ दूरी पर अभ्िासरित होती हैं। इस दपर्ण के सामने किसी बिंब को कहां रखें कि इसका समान साइश का प्रतिबिंब बने? ;ंद्ध दपर्ण से 15 बउ दूरी पर ;इद्ध दपर्ण से 30 बउ दूरी पर ;बद्ध दपर्ण से 15 बउ तथा 30 बउ के बीच ;कद्ध दपर्ण से 30 बउ से अिाक दूरी पर 11ण् निम्नलिख्िात में से किसके द्वारा निश्िचत रूप से किसी दूरस्थ ऊँचे भवन का पूरी लंबाइर् का प्रतिबिंब देखा जा सकता है? ;ंद्ध केवल अवतल दपर्ण ;इद्ध केवल उत्तल दपर्ण ;बद्ध केवल समतल दपर्ण ;कद्ध उपरोक्त सभी 12ण् टाॅचो±, सचर्लाइटों तथा वाहनों की हैडलाइटों में बल्ब कहाँ लगा होता है? ;ंद्ध परावतर्क के ध्रुव एवं पफोकस के बीच ;इद्ध परावतर्क के पफोकस के अत्यिाक निकट ;बद्ध परावतर्क के पफोकस एवं वक्रता वेंफद्र के बीच ;कद्ध परावतर्क के वक्रता वंेफद्र पर 13ण् परावतर्न के नियम लागू होते हैंः ;ंद्ध केवल समतल दपर्ण पर ;इद्ध केवल अवतल दपर्ण पर ;बद्ध केवल उत्तल दपर्ण पर ;कद्ध सभी दपर्णों पर चाहें उनकी आकृति वैफसी भी क्यों न हो 14ण् वायु से काच के आयताकार स्लैब पर आपतित किसी प्रकाश किरण का गमन पथ से चार विद्याथ्िार्यों ।ए ठए ब्ए क् ने चित्रा 10.5 में दशार्ए अनुसार आरेख्िात किया। इनमें से कौन - सा सही है? ;ंद्ध । ;इद्ध ठ ;बद्ध ब् ;कद्ध क् ँ15ण् आपको जल, तारपीन का तेल, बंेशीन तथा किरोसिन दिया गया है। इनमें से किस माध्यम में समान कोण पर तिरछी आपतित कोइर् प्रकाश किरण सबसे अिाक मुड़ेगी? ;ंद्ध किरोसिन ;इद्ध जल ;बद्ध तारपीन का तेल ;कद्ध बंेशीन 16ण् किसी अवतल दपर्ण पर चित्रा 10.6 में दशार्ए अनुसार आपतित प्रकाश किरण के लिए निम्न आरेखों में से कौन - सा सही है? चित्रा 10ण्6 चित्रा ठ ;ंद्ध चित्रा। ;इद्ध चित्राठच् थ्ब् ;बद्ध चित्राब् ;कद्ध चित्राक्चित्रा ब् चित्रा क् 17ण् किसी उत्तल लेंस पर चित्रा 10.7 में दशार्ए अनुसार आपतित प्रकाश किरण के लिए निम्न चित्रा 10ण्7 चित्रा । चित्रा ठ ;कद्ध चित्रा क्ण्चित्रा ब् चित्रा क् 18ण् कोइर् बच्चा किसी जादुइर् दपर्ण के सामने खड़ा है। वह यह देेखता है कि उसके प्रतिबिंब में उसका सिर बड़ा, उसके शरीर का मध्य भाग साइश में समान तथा पैर छोटे दिखते हैं। मैजिक दपर्ण में शीषर् से दपर्णों के संयोजन का क्रम क्या है? ;ंद्ध समतल, उत्तल, अवतल ;इद्ध उत्तल, अवतल, समतल ;बद्ध अवतल, समतल, उत्तल ;कद्ध उत्तल, समतल, अवतल 19ण् निम्नलिख्िात में से किसके द्वारा अनंत पर स्िथत किसी बिंब का प्रतिबिंब अत्यिाक छोटा बनेगा? ;ंद्ध केवल अवतल दपर्ण ;इद्ध केवल उत्तल दपर्ण ;बद्ध केवल उत्तल लेंस ;कद्ध अवतल दपर्ण, उत्तल दपर्ण, अवतल लेंस तथा उत्तल लेंस लघुउत्तरीय प्रश्न 20ण् निम्नलिख्िात प्रकरणों में गोलीय दपर्ण अथवा लेंस के रूप में युक्ित की पहचान कीजिए, जबकि प्रत्येक प्रकरण में आभासी एवं सीधा प्रतिबिंब बनता हैः ;ंद्ध बिंब युक्ित और इसके पफोकस के बीच है तथा आविार्त प्रतिबिंब इसके पीछे बनता है ;इद्ध बिंब युक्ित और इसके पफोकस के बीच है तथा आविार्त प्रतिबिंब उसी ओर बनता है जिस ओर बिंब स्िथत है ;बद्ध बिंब युक्ित और अनन्त के बीच स्िथत है तथा छोटा प्रतिबिंब प्रकाश्िाक केन्द्र तथा पफोकस के बीच उसी ओर बनता है जिस ओर बिंब स्िथत है ;कद्ध बिंब युक्ित और अनन्त के बीच स्िथत है तथा छोटा प्रतिबिंब इस युक्ित के पीछे ध्रुव तथा पफोकस के बीच बनता है 21ण् किसी माध्यम में डूबे काँच के आयताकार स्लैब पर आपतित कोइर् प्रकाश किरण अपने स्वयं के समांतर निगर्त क्यों होती है? आरेख द्वारा स्पष्ट कीजिए। 22ण् किसी पेंसिल को जब जल से भरे गिलास में डुबोते हैं तो वह वायु तथा जल के अंतरापृष्ठ पर मुड़ी हुइर् प्रतीत होती है। यदि इस पेंसिल को जल के स्थान पर किरोसिन अथवा तारपीनके तेल में डुबोएं तो क्या यह इनमें भी इतनी ही मुड़ी प्रतीत होगी? अपने उत्तर की व्याख्या आरेख सहित कीजिए। 23ण् किसी माध्यम का अपवतर्नांक प्रकाश की चाल से किस प्रकार संबंिात है? किसी एक माध्यम का किसी अन्य माध्यम के सापेक्ष अपवतर्नांक इन दोनों माध्यमों में प्रकाश की चाल से किस प्रकार संबंध्ित है। इसे व्यंजक द्वारा व्यक्त कीजिए। 24ण् काँच के सापेक्ष हीरे का अपवतर्नांक 1.6 है तथा काँच का निरपेक्ष अपवतर्नांक 1.5 है। हीरे का निरपेक्ष अपवतर्नांक ज्ञात कीजिए। 25ण् 26ण् 27ण् 28ण् 29ण् 30ण् 31ण् 32ण् 20 बउ पफोकस दूरी का कोइर् उत्तल लेंस आविार्त आभासी प्रतिबिंब के साथ - साथ आविार्त वास्तविक प्रतिबिंब भी बना सकता है। क्या यह कथन सही है? यदि हाँ, तो दोनों प्रकरणों में प्रतिबिंब प्राप्त करने के लिए बिंब को कहाँ रखा जाना चाहिए? सुधा देखती है कि उसकी प्रयोगशाला की ख्िाड़कियों का स्पष्ट प्रतिबिंब लेंस से 15 बउ दूरी पर बनता है। अब वह लेंस को बिना हिलाए ही ख्िाड़कियों की अपेक्षा बाहर दिखाइर् देने वाले भवन को पफोकसित करना चाहती है। भवन का स्पष्ट प्रतिबिंब प्राप्त करने के लिए उसे पदेर् को किस दिशा में स्थानांतरित करना चाहिए? इस लेंस की सन्िनकट पफोकस दूरी क्या है? किसी लेंस की क्षमता एवं पफोकस दूरी में क्या संबंध है? आपको क्रमशः 20 बउ तथा 40 बउ पफोकस दूरी के दो लेंस दिए गए हैं। प्रकाश को अिाक अभ्िासरित करने के लिए इनमें से आप किसे उपयोग करेंगे? दो समतल दपर्णों की किसी व्यवस्था द्वारा किस स्िथति में, चाहे आपतन कोण वुफछ भी हो, आपतित किरण और परावतिर्त किरण सदैव एक दूसरे के समान्तर होंगी? इसे आरेख द्वारा दशार्इए। किसी प्रकाश किरण का पथ दशार्इए, जब वह ;पद्ध वायु से जल, ;पपद्ध जल से वायु में तिरछी प्रवेश करती है। दीघर्उत्तरीय प्रश्न अवतल दपर्ण द्वारा प्रतिबिंब बनना दशार्ने के लिए प्रकाश किरण आरेख खींचिए जबकि बिंब स्िथत हैः ;ंद्ध दपर्ण के ध्ु्रव और पफोकस के बीच ;इद्ध दपर्ण के पफोकस और वक्रता वेंफद्र के बीच ;बद्ध दपर्ण के वक्रता वेंफद्र पर ;कद्ध दपर्ण के वक्रता वेंफद्र से वुफछ अिाक दूरी पर ;मद्ध अनंत पर उत्तल लेंस द्वारा प्रतिबिंब बनना दशार्ने के लिए प्रकाश किरण आरेख खींचिए जबकि बिंब स्िथत हैः ;ंद्ध लेंस के प्रकाश्िाक वेंफद्र और पफोकस के बीच ;इद्ध लेंस के पफोकस तथा लेंस की पफोकस दूरी के दोगुने के बीच ;बद्ध लेंस की पफोकस दूरी के दोगुने पर ;कद्ध अनंत पर ;मद्ध लेंस के पफोकस पर अपवतर्न के नियम लिख्िाए। इन्हें किरण आरेख की सहायता से उस स्िथति में स्पष्ट कीजिए जब कोइर् प्रकाश किरण किसी काँच के आयताकार स्लैब से गुजरती है। 33ण् किसी अवतल लेंस द्वारा प्रतिबिंब बनना दशार्ने के लिए प्रकाश किरण आरेख खींचिए, जब कोइर् बिंब स्िथत हैः ;ंद्ध लेंस के पफोकस पर ;इद्ध लेंस के पफोकस तथा लेंस की पफोकस दूरी के दोगुने के बीच ;बद्ध लेंस की पफोकस दूरी के दोगुने से वुफछ अिाक दूरी पर 34ण् किसी उत्तल दपर्ण द्वारा प्रतिबिंब बनना दशार्ने के लिए प्रकाश किरण आरेख खींचिए, जब कोइर् बिंब स्िथत हैः ;ंद्ध अनंत पर ;इद्ध दपर्ण से परिमित दूरी पर 35ण् मोमबत्ती की ज्वाला का किसी लेंस द्वारा बना प्रतिबिंब लेंस के दूसरी ओर स्िथत पदेर् पर प्राप्त होता है। यदि प्रतिबिंब का साइश ज्वाला का तीन गुना है तथा प्रतिबिंब की लेंस से दूरी 80 बउ है, तो मोमबत्ती लेंस से कितनी दूरी पर स्िथत है? लेंस तथा प्रतिबिंब कीप्रकृति क्या है? 36ण् 20 बउ पफोकस दूरी के किसी दपर्ण द्वारा बने किसी बिंब का प्रतिबिंब साइश में 1/3 गुनादिखाइर् देता है। बिंब दपर्ण से कितनी दूरी पर स्िथत है? दपर्ण तथा प्रतिबिंब की प्रकृति क्या है? 37ण् लेंस की क्षमता की परिभाषा लिख्िाए। इसका मात्राक क्या है? कोइर् विद्याथीर् 50 बउ पफोकस दूरी का लेंस उपयोग करता है तथा दूसरा दृ50 बउ पफोकस दूरी का लेंस उपयोगकरता है। इन लेंसों में प्रत्येक लेंस की प्रकृति तथा उसकी क्षमता क्या है? 38ण् किसी विद्याथीर् ने उत्तल लेंस का उपयोग करके मोमबत्ती की ज्वाला के प्रतिबिंब को सपेफदपदेर् पर पफोकसित किया। उसने मोमबत्ती, पदेर् तथा लेंस की स्िथतियों को स्केल पर नीचे दिए अनुसार नोट कियाः मोमबत्ती की स्िथति त्र 12ण्0 बउ उत्तल लेंस की स्िथति त्र 50ण्0 बउ पदेर् की स्िथति त्र 88ण्0 बउ ;पद्ध उत्तल लेंस की पफोकस दूरी क्या है? ;पपद्ध यदि वह मोमबत्ती को 30ण्0 बउ पर स्थानांतरित कर दे, तो प्रतिबिम्ब कहाँ बनेगा? ;पपपद्ध यदि वह मोमबत्ती को लेंस की ओर और अिाक स्थानांतरित कर दे, तो बनने वालेप्रतिबिंब की प्रकृति क्या होगी? ;पअद्ध उपरोक्त प्रकरण ;पपपद्ध में प्रतिबिंब बनना दशार्ने के लिए प्रकाश किरण आरेख खींचिए।

RELOAD if chapter isn't visible.