अध्याय11 मानव नेत्रा तथा रंगबिरंगा संसार बहुविकल्पीय प्रश्न 1ण् कोइर् व्यक्ित 2 उ से अिाक दूरी पर स्िथत बिंबों को स्पष्ट नहीं देख सकता। इस दोषका संशोधन उस लेंस के उपयोग द्वारा किया जा सकता है जिसकी क्षमता हैः ;ंद्ध ़ 0ण्5 क् ;इद्ध दृ 0ण्5 क् ;बद्ध ़ 0ण्2 क् ;कद्ध दृ 0ण्2 क् 2ण् कक्षा में सबसे पीछे बेंच पर बैठा कोइर् विद्याथीर् श्यामपट्ट पर लिखे अक्षरों को पढ़ सकताहै, परंतु पाठ्य पुस्तक में लिखे अक्षरों को नहीं पढ़ पाता। निम्नलिख्िात में कौन - सा प्रकथनसही है? ;ंद्ध विद्याथीर् के नेत्रा का निकट बिंदु उससे दूर हो गया है ;इद्ध विद्याथीर् के नेत्रा का निकट बिंदु उसके पास आ गया है ;बद्ध विद्याथीर् के नेत्रा का दूर बिंदु उसके पास आ गया है ;कद्ध विद्याथीर् के नेत्रा का दूर बिंदु उससे दूर हो गया है 3ण् कोइर् पि्रज्म ।ठब् ;आधार ठब् के साथद्ध विभ्िान्न विन्यासों में रखा जाता है। श्वेत प्रकाशका कोइर् पतला प्रकाश पुंज चित्रा 11.1 में दशार्ए अनुसार इस पि्रज्म पर आपतित है। नीचेदिए गए किस प्रकरण में, प्रकाश के विक्षेपण के पश्चात्, शीषर् से तीसरा वणर् आकाश केवणर् के तदनुरूपी है? ;ंद्ध ;पद्ध ;इद्ध ;पपद्ध ;बद्ध ;पपपद्ध ;कद्ध ;पअद्ध 4ण् दोपहर के समय सूयर् श्वेत प्रतीत होता है, क्योंकि तबः ;ंद्ध प्रकाश का न्यूनतम प्रकीणर्न होता है ;इद्ध श्वेत - प्रकाश के सभी वणो± का प्रकीणर्न हो जाता है ;बद्ध नीले वणर् का सवार्िाक प्रकीणर्न होता है ;कद्ध लाल वणर् का सवार्िाक प्रकीणर्न होता है 5ण् इंद्रधनुष बनने में प्रकाश की कौन - सी परिघटनाएँ सम्िमलित होती हैं? ;ंद्ध परावतर्न, अपवतर्न तथा विक्षेपण ;इद्ध अपवतर्न, विक्षेपण तथा पूणर् आंतरिक परावतर्न ;बद्ध अपवतर्न, विक्षेपण तथा आंतरिक परावतर्न ;कद्ध विक्षेपण, प्रकीणर्न तथा पूणर् आंतरिक परावतर्न 6ण् तारों के टिमटिमाने का कारण हैः ;ंद्ध वायुमंडलीय जल बूँदों द्वारा प्रकाश का विक्षेपण ;इद्ध वायुमंडल में परिवतीर् अपवतर्नांकों की विभ्िान्न परतों द्वारा प्रकाश का अपवतर्न ;बद्ध वायुमंडलीय धूल - कणों द्वारा प्रकाश का प्रकीणर्न ;कद्ध बादलों द्वारा प्रकाश का आंतरिक परावतर्न 7ण् स्वच्छ आकाश नीला प्रतीत होता है, क्योंकिः ;ंद्ध नीला प्रकाश वायुमंडल में अवशोष्िात हो जाता है ;इद्ध पराबैंगनी विकिरण वायुमंडल में अवशोष्िात हो जाते हैं ;बद्ध वायुमंडल द्वारा अन्य सभी वणो± के प्रकाश की तुलना में बैंगनी तथा नीला प्रकाशअिाक प्रकीण्िार्त होता है ;कद्ध वायुमंडल द्वारा बैंगनी तथा नीले प्रकाश की तुलना में अन्य सभी वणो± का प्रकाश अिाकप्रकीण्िार्त होता है 8ण् वायु में श्वेत प्रकाश के विभ्िान्न वणो± के प्रकाश के पैफलने के संबंध में निम्नलिख्िात में सेकौन - सा प्रकथन सही है? ;ंद्ध लाल प्रकाश सवार्िाक गति से गमन करता है ;इद्ध हरे प्रकाश की तुलना में नीला प्रकाश तीव्र गति से गमन करता है ;बद्ध श्वेत प्रकाश के सभी वणर् समान चाल से गमन करते हैं ;कद्ध पीला प्रकाश लाल तथा बैंगनी प्रकाश की माध्य चाल से गमन करता है 9ण् ऊँचे भवनों के शीषर् पर लगे खतरे के संकेत लाल वणर् के होते हैं। इन्हें दूरी से आसानीसे देखा जा सकता है, क्योंकि अन्य वणो± की अपेक्षा लाल वणर् का प्रकाशः ;ंद्ध धुँए तथा कोहरे द्वारा सवार्िाक प्रकीण्िार्त होता है ;इद्ध ध्ुँए तथा कोहरे द्वारा न्यूनतम प्रकीण्िार्त होता है ;बद्ध ध्ुँए तथा कोहरे द्वारा सवार्िाक अवशोष्िात होता है ;कद्ध वायु में तीव्रतम गति से चलता है 10ण् सूयोर्दय तथा सूयार्स्त के समय सूयर् के रक्ताभ प्रतीत होने में निम्नलिख्िात परिघटनाओं में से किसका महत्वपूणर् योगदान है? ;ंद्ध प्रकाश का विक्षेपण ;इद्ध प्रकाश का प्रकीणर्न ;बद्ध प्रकाश का पूणर् आंतरिक परावतर्न ;कद्ध पृथ्वी से प्रकाश का परावतर्न 11ण् गहरे समुद्र में जल का रंग नीला दिखाइर् देने का कारण हैः ;ंद्ध जल में शैवाल की उपस्िथति तथा अन्य पौधों की उपस्िथति ;इद्ध जल में प्रकाश का परावतर्न ;बद्ध प्रकाश का प्रकीणर्न ;कद्ध समुद्र द्वारा प्रकाश का अवशोषण 12ण् जब प्रकाश नेत्रा में प्रवेश करता है तो अिाकांश अपवतर्न कहाँ होता है? ;ंद्ध िस्टलीय लेंस पर ;इद्ध स्वच्छ मंडल ;काॅनिर्याद्ध पर ;बद्ध परितारिका पर ;कद्ध पुतली पर 13ण् नेत्रा लेंस की पफोकस दूरी में वृि हो जाती है जब नेत्रा की पेश्िायाँः ;ंद्ध श्िाथ्िाल होती हैं तथा लेंस पतला हो जाता है ;इद्ध सिवुफड़ती हैं तथा लेंस मोटा हो जाता है ;बद्ध श्िाथ्िाल होती हैं तथा लेंस मोटा हो जाता है ;कद्ध सिवुफड़ती हैं तथा लेंस पतला हो जाता है 14ण् निम्नलिख्िात प्रकथनों में से कौन - सा सही है? ;ंद्ध निकट दृष्िट वाला व्यक्ित दूर की वस्तुओं को स्पष्ट देख सकता है ;इद्ध दीघर् दृष्िट वाला व्यक्ित पास की वस्तुओं को स्पष्ट देख सकता है ;बद्ध निकट दृष्िट वाला व्यक्ित पास की वस्तुओं को स्पष्ट देख सकता है ;कद्ध दीघर् दृष्िट वाला व्यक्ित दूर की वस्तुओं को स्पष्ट नहीं देख सकता लघुउत्तरीय प्रश्न 15ण् ;पद्ध निकट दृष्िट ;पपद्ध दीघर् दृष्िट दोषों को दशार्ने के लिए किरण आरेख खींचिए। 16ण् कक्षा के कमरे में पीछे बैठा कोइर् छात्रा श्यामपट पर लिखे अक्षरों को स्पष्ट नहीं पढ़ पाता। डाॅक्टर उसे क्या परामशर् देंगे? इस दोष के संशोधन के लिए किरण आरेख खींचिए। 17ण् हम पास की वस्तुओं और दूर की वस्तुओं को भी देखने योग्य वैफसे बन जाते हैं? 18ण् किसी व्यक्ित को अपने दृष्िट दोष के संशोधन के लिए दृ 4ण्5 क् क्षमता के लेंस की आवश्यकता होती हैः ;ंद्ध वह व्यक्ित किस प्रकार के दृष्िट दोष से पीडि़त है? ;इद्ध संशोधक लेंस की पफोकस दूरी कितनी है? ;बद्ध संशोधक लेंस की प्रकृति क्या है? 19ण् आप दो सवर्सम पि्रज्मों का उपयोग किस प्रकार करेंगे कि एक पि्रज्म पर आपतित पतला श्वेत प्रकाश पुंज दूसरे पि्रज्म से श्वेत प्रकाश पुंज के रूप में निगर्त हो? आरेख खींचिए। 20ण् कोइर् ऐसा किरण आरेख खींचिए जो यह दशार्ए कि जब कोइर् पतला श्वेत प्रकाश पुंज किसी पि्रज्म के एक अपवतीर् पृष्ठ पर आपतित होता है तो उसका वणर् विक्षेपण हो जाता है। प्राप्त स्पेक्ट्रम के वणो± के क्रम को भी इंगित कीजिए। 21ण् क्या हमंे दिखाइर् देने वाली किसी तारे की स्िथति उसकी सही स्िथति होती है? अपने उत्तर की पुष्िट कीजिए। 22ण् हमें आकाश में इंद्रधनुष केवल वषार् के पश्चात् ही क्यों दिखाइर् देता है? 23ण् स्वच्छ आकाश का रंग नीला क्यों होता है? 24ण् सूयोर्दय/सूयार्स्त तथा दोपहर के समय सूयर् के वणर् में अंतर क्यों दृष्िटगोचर होता है? प्रत्येक के लिए स्पष्टीकरण दीजिए। दीघर्उत्तरीय प्रश्न 25ण् मानव नेत्रा की संरचना तथा कायर्वििा स्पष्ट कीजिए। हम पास एवं दूर दोनों की वस्तुओं को देखने योग्य वैफसे बन जाते हैं? 26ण् हम कब यह कहते हैं कि कोइर् व्यक्ित निकट दृष्िट अथवा दीघर् दृष्िट दोष से पीडि़त है? आरेखों का उपयोग करके स्पष्ट कीजिए कि निकट दृष्िट तथा दीघर् दृष्िट दोष से संबंिात दृष्िट दोषों का संशोधन किस प्रकार किया जा सकता है? 27ण् नामांकित किरण आरेख का उपयोग करके किसी काँच के त्रिाभुजाकार पि्रज्म से होने वाले प्रकाश के अपवतर्न को स्पष्ट कीजिए। इस प्रकार विचलन कोण की परिभाषा लिख्िाए। 28ण् सूयोर्दय तथा सूयार्स्त के समय सूयर् के रक्ताभ प्रतीत होने का स्पष्टीकरण हम किस प्रकार कर सकते हैं? दोपहर के समय यह लाल क्यों प्रतीत नहीं होता? 29ण् काँच के पि्रज्म द्वारा श्वेत प्रकाश के वणर् विक्षेपण की परिघटना उपयुक्त किरण आरेख खींचकर स्पष्ट कीजिए। 30ण् वायुमंडल में अपवतर्न किस प्रकार होता है? तारे क्यों टिमटिमाते हैं जबकि ग्रह नहीं टिमटिमाते?

RELOAD if chapter isn't visible.