विज्ञान कक्षा 10 ;सै(ांतिकद्ध प्रतिदशर् प्रश्नपत्रा दृ प् समय रू 3 घंटे अध्िकतम अंक रू 75 बहुविकल्पीय प्रश्न 1ण् ठोस वैफल्िसयम आॅक्साइड जल के साथ तीव्रता से अभ्िािया कर वैफल्िसयम हाइड्राॅक्साइडबनाता है तथा साथ में ऊष्मा उत्पन्न होती है। इस प्रिया को चूने का बुझाना कहते हैं। चूने के बुझाने के बारे में निम्नलिख्िात में से कौन - से सही हैं? ;पद्ध यह एक ऊष्माशोषी अभ्िािया है ;पपद्ध यह एक ऊष्माक्षेपी अभ्िािया है ;पपपद्ध परिणामी विलयन की चभ् सात से अध्िक होगी। ;पअद्ध परिणामी विलयन की चभ् सात से कम होगी। ;ंद्ध ;पद्ध तथा ;पपद्ध ;इद्ध ;पपद्ध तथा ;पपपद्ध ;बद्ध ;पद्ध तथा ;पअद्ध ;कद्ध ;पपपद्ध तथा ;पअद्ध ;1द्ध 2ण् सोडियम काबोर्नेट एक क्षारीय लवण है क्योंकि यह लवण है ;ंद्ध प्रबल अम्ल तथा प्रबल क्षार का ;इद्ध दुबर्ल अम्ल तथा दुबर्ल क्षार का ;बद्ध दुबर्ल क्षार तथा प्रबल अम्ल का ;कद्ध प्रबल क्षार तथा दुबर्ल अम्ल का ;1द्ध 3ण् निम्नलिख्िात चार धतुओं में से कौन - सी उसके लवण के विलयन से अन्य तीन धतुओं के द्वारा विस्थापित हो जाती है? ;ंद्ध डह ;इद्ध ।ह ;बद्ध र्द ;कद्ध ब्न ;1द्ध 4ण् नाइट्रोजन की इलेक्ट्राॅन ¯बदु संरचना का निम्नलिख्िात में से कौन - सा सही प्रदशर्न है? ;ंद्ध छ छ ;इद्ध छ छ छ छ;बद्ध ;कद्ध ;1द्धछ छ 5ण् यीस्ट में अवायवीय अभ्िािया का सही क्रम है - ;ंद्ध ग्लूकोश⎯⎯⎯⎯⎯⎯→कोश्िाकादव््रय पाइरूवेट ⎯⎯⎯⎯⎯⎯⎯ोान्िडया माइटकॅªएथेनाॅल ़→ काबर्न - डाइआॅक्साइड कश्िाकादव््रय कोश्िाकदव््रय ;इद्ध ग्लूकोश ⎯⎯⎯⎯⎯⎯→ोपाइरूवेट ⎯⎯⎯⎯⎯⎯→ालेक्िटक अम्ल ;बद्ध ग्लूकोश ⎯⎯⎯⎯⎯⎯→कोश्िाकादव््रय पाइरूवेट माइटाकेाॅन्िड्रया लेक्िटक अम्ल⎯⎯⎯⎯⎯⎯⎯→ कोश्िाकादव््रय कोश्िाकादव््रय काबर्न - डाइआॅक्साइड ;कद्ध ग्लूकोश⎯⎯⎯⎯⎯⎯→पाइरूवेट ⎯⎯⎯⎯⎯⎯→एथेनाॅल ़ ;1द्ध 6ण् लैंगिक जनन के द्वारा उत्पन्न संतति में अिाक विविधताएँ पायी जाती हैं, क्योंकि ;ंद्ध लैंगिक जनन एक लंबी प्रिया है ;इद्ध आनुवंश्िाक पदाथर् एक ही स्पीशीश के दो जनकों से आता है ;बद्ध आनुवंश्िाक पदाथर् विभ्िान्न स्पीशीशों के दो जनकों से आता है ;कद्ध आनुवंश्िाक पदाथर् अनेक जनकों से आता है ;1द्ध 7ण् नइर् स्पीशीश बन सकती है यदि ;पद्ध जनन कोश्िाका के डी.एन.ए में साथर्क परिवतर्न हो ;पपद्ध युग्मक मंे गुणसूत्रों की संख्या में परिवतर्न हो ;पपपद्ध गुणसूत्रों की संख्या समान बनी रहे ;पअद्ध जनक एक दूसरे के साथ मैथुन न करें ;ंद्ध ;पद्ध तथा ;पपद्ध ;इद्ध ;पद्ध तथा ;पपपद्ध ;बद्ध ;पपद्धए ;पपपद्ध तथा ;पअद्ध ;कद्ध ;पद्धए ;पपद्ध तथा ;पअद्ध ;1द्ध 8ण् चित्रा में दशार्ए अनुसार प्रकाश पुंज किसी बाक्स के । तथा ठ छिद्रों से आपपित होकर क्रमशः ब् तथा क् छिद्रों से बाहर निकलता है। इस बाॅक्स के भीतर निम्नलिख्िात में से क्या हो सकता है? ;ंद्ध काँच का एक आयताकार स्लैब ;इद्ध एक उत्तल लेंस ;बद्ध एक अवतल लेंस ;कद्ध एक पि्रश्म बाॅक्स 9ण् स्वच्छ आकाश नीला प्रतीत होता है, क्योंकि ;ंद्ध नीला प्रकाश वायुमंडल में अवशोष्िात हो जाता है ;इद्ध पराबैंगनी विकिरण वायुमंडल में अवशोष्िात हो जाते हैं ;बद्ध वायुमंडल द्वारा अन्य सभी वणो± के प्रकाश की तुलना में बैंगनी तथा नीला प्रकाशअिाक प्रकीण्िार्त होता है ;कद्ध वायुमंडल द्वारा बैंगनी तथा नीले प्रकाश की तुलना में अन्य सभी वणो± का प्रकाशअिाक प्रकीण्िार्त होता है। 10ण् निम्न चित्रा में उस परिपथ को पहचानिए जिसमें वैद्युत अवयव उचित प्रकार से संयोजित हैं ;ंद्ध ;पद्ध ;इद्ध ;पपद्ध ;बद्ध ;पपपद्ध ;कद्ध ;पअद्ध ;1द्ध 11ण् दिए गए चित्रा मंे। तथा ठ के मध्य प्रतिरोध् होगा ;ंद्ध 20 Ω ;इद्ध 30 Ω ;बद्ध 90 Ω ;कद्ध 10 Ω से 20 Ω के बीच ;1द्ध 12ण् चित्रा में दशार्यी गयी व्यवस्था में किसी अचालक बेलनाकार छड़ पर दो वुंफडलियाँलिपटी हैं। आरंभ में प्लग में वंुफजी नहीं लगी है। इसके पश्चात् प्लग सेहटा ली जाती है। तब ;ंद्ध गैल्वेनोमीटर में विक्षेप हमेशा शून्य रहता है ;इद्ध गैल्वेनोमीटर में एक क्षण्िाक विक्षेप होता है लेकिन यह शीघ्रसमाप्त हो जाता है तथा जब वुफंजी हटाइर् जाती है तो कोइर् प्रभावनहीं होता है ;बद्ध गैल्वेनोमीटर में विक्षेप क्षण्िाक होते हैं जो शीघ्रता से समाप्त हो जातेहैं। विक्षेप समान दिशा में होते हैं ;कद्ध गैल्वेनोमीटर में विक्षेप क्षण्िाक होते हैं जो शीघ्रता से समाप्त हो जाते हैं। विक्षेप विपरीतदिशा मंे होते हैं ;1द्ध 13ण् चित्रा में दशार्ए अनुसार कागश के तल में स्िथत किसी क्षैतिज तार में पूवर् से पश्िचम कीओर कोइर् नियत धरा प्रवाहित हो रही है। चुंबकीय क्षेत्रा की दिशा उत्तर से दक्ष्िाण की ओरउस ¯बदु पर होगी जो स्िथत है ;ंद्ध तार के ठीक ऊपर ;इद्ध तार के ठीक नीचे ;बद्ध तार के उत्तरी दिशा में कागश के तल में स्िथत एक ¯बदु में ;कद्ध तार के दक्ष्िाणी भाग में कागश के तल में स्िथत एक ¯बदु में ;1द्ध 14ण् नाभ्िाकीय ऊजार् को उपयोग में लाने में प्रमुख समस्या यह है कि ;ंद्ध नाभ्िाक को विखंडित वैफसे करें? ;इद्ध अभ्िािया को सतत वैफसे बनाएँ? ;बद्ध उपयोग के पश्चात ईंध्न का सुरक्ष्िात विकास वैफसे करें? ;कद्ध नाभ्िाकीय ऊजार् को विद्युत ऊजार् में रूपांतरित वैफसे करें? ;1द्ध 15ण् निम्नलिख्िात में से कौन - सा कथन सही नहीं है? ;ंद्ध सभी हरे पौध्े तथा नीले - हरे शैवाल उत्पादक हैं ;इद्ध हरे पौध्े अपना भोजन काबर्निक पदाथो± ;जैव पदाथो±द्ध से प्राप्त करते हैं ;बद्ध उत्पादक अपना भोजन अकाबर्निक यौगिकों से तैयार करते हैं ;कद्ध पौध्े सौर ऊजार् को रासायनिक ऊजार् में परिव£तत करते हैं ;1द्ध लघुउत्तरीय प्रश्न 16ण् निम्नलिख्िात अभ्िाियाओं के लिए संतुलित रासायनिक समीकरण लिख्िाए तथा प्रत्येक केलिए अभ्िािया के प्रकार को पहचानिए। ;ंद्ध 773ज्ञ पर उत्प्रेरक की उपस्िथति में नाइट्रोजन गैस, हाइड्रोजन गैस से अभ्िािया करअमोनिया गैस बनाती है। ;इद्ध चूना पत्थर को तीव्रता से गरम करने पर बिना बुझा चूना बनता है तथा काबर्न - डाइआॅक्साइड गैस निकलती है। ;1़1त्र2द्ध 17ण् लवण । जिसका उपयोग सामान्यतः बेकरी उत्पादों में होता है, गरम करने पर एक अन्य लवण ठ जिसका उपयोग काँच बनाने में होता है, में परिव£तत होता है तथा एक गैस ब् निगर्मित होती है। गैस ब् को जब चूने के पानी में प्रवाहित किया जाता है तो वह दूध्िया हो जाता है। ।ए ठ तथा ब् को पहचानिए। लवण । को गरम करने के लिए अभ्िािया लिख्िाए। ;क् ़ क् ़ क् ़ क् त्र 2द्ध 18ण् तत्वों के गुण नीचे दिए गए हैं। आवतर् सारणी में निम्नलिख्िात तत्वों को आप कहाँ खोजेंगे? ;ंद्ध एक मुलायम धतु जिसे किरोसिन में संग्रहित किया जाता है। ;इद्ध परिवतर्नशील ;एक से अध्िकद्ध संयोजकता युक्त तत्व जिसे जल में संग्रहित किया जाता है। ;1़1त्र2द्ध 19ण् किसी जीव के लिए पोषण क्यों आवश्यक है? ;2द्ध 20ण् एक तंत्रिाका कोश्िाका ;न्यूराॅनद्ध के तंत्रिाकाक्ष ;ऐक्साॅनद्ध छोर से अन्य तंत्रिाका कोश्िाका केदु्रमाकृतिक ;डेंड्राइटद्ध छोर की ओर ही संकेतों का प्रवाह क्यों होता है, इसके विपरीत नहीं? ;2द्ध 21ण् मानव स्पीशीश में नर अथवा मादा संतति की सांख्यकीय संभावना 50 रू 50 होती है। उपयुक्त व्याख्या कीजिए। ;2द्ध 22ण् सुधा यह देखती है कि उसकी प्रयोगशाला की ख्िाड़कियों का स्पष्ट प्रतिबिंब लेंस से 15बउ दूरी पर बनता है। अब वह लेंस को बिना हिलाए ही ख्िाड़कियों की अपेक्षा किसी दूरस्थ भवन को पफोकसित करना चाहती है। भवन का स्पष्ट प्रतिबिंब प्राप्त करने के लिए उस पदेर् को किस दिशा में स्थानांतरित करना चाहिए? इस लेंस की सन्िनकट पफोकस दूरी क्या है? ;1़1त्र2द्ध 23ण् कक्षा के कमरे में पीछे बैठा कोइर् छात्रा श्यामपट पर लिखे अक्षरों को स्पष्ट नहीं पढ़ पाता। डाॅक्टर उसे क्या परामशर् देंगे, इस दोष के संशोधन के लिए किरण आरेख खींचिए। ;1 ़ 1 त्र2द्ध 24ण् आप दो सवर्सम पि्रज्मों का उपयोग किस प्रकार करेंगे जब एक पि्रज्म पर आपतित पतला श्वेत प्रकाश पुन्ज दूसरे पि्रज्म से पतले श्वेत प्रकाश पुन्ज के रूप में ही निगर्त हो? आरेख खींचिए। ;2द्ध 25ण् 60 ॅ के तीन तापदीप्त बल्ब पाश्वर्क्रम में संयोजित हैं ;ंद्ध वुफल उपयोग्य शक्ित परिकलित कीजिए। ;इद्ध यदि एक बल्ब फ्रयूश हो जाए तो अब वुफल उपयोग्य शक्ित कितनी होगी? ;1 ़ 1 त्र2द्ध 26ण् किसी धरावाही तार के निकट चुंबकीय दिव्फसूची रखने पर यह विक्षेप दशार्ती है।दिव्फसूची के विक्षेप पर क्या प्रभाव पड़ेगा यदि तार में प्रवाहित धरा में वृि कर दी जाए?कारण सहित उत्तर की पुष्िट कीजिए। ;2द्ध 27ण् दिष्ट धरा तथा प्रत्यावतीर् धरा में क्या अंतर है? भारत में उपयोग होने वाली प्रत्यावतीर् धारामें एक सेवंफड में कितनी बार दिशा में परिवतर्न होता है? ;1़1त्र2द्ध 28ण् जीवाश्म ईंध्न के दहन के कारण उत्पन्न वायुमंडलीय प्रदूषण को कम करने के लिए आप क्या उपाय सुझाएंगे? ;2द्ध 29ण् तालाब पारितंत्रा की सामान्य आहार - शृंखला की सूची बनाइए। ;2द्ध 30ण् सामुदायिक स्तर पर जल संरक्षण के कोइर् दो लाभ लिख्िाए। ;2द्ध दीघर्उत्तरीय प्रश्न 31ण् निम्नलिख्िात को समझाइए। ;ंद्ध एलुमिनियम धतु के टुकड़े को यदि भ्छव्में डुबोया जाता है तो इसकी सियता3 घट जाती है। ;इद्ध छं अथवा डह के आॅक्साइड को काबर्न अपचयित नहीं कर सकता है। ;बद्ध छंब्स ठोस अवस्था में विद्युत चालन नहीं करता है जबकि गलित अवस्था अथवा जलीय विलयन में विद्युत का संचलन करता है। ;कद्ध लोहे की वस्तुओं के गैल्वनीकरण की आवश्यकता। ;मद्ध धतुएँ जैसे छंए ज्ञए ब्ं तथा डह प्रवृफति में मुक्त अवस्था में नहीं पायी जाती है। ;1़1़1़1़1त्र 5द्ध अथवा काॅपर को उसके अयस्क से निष्कषर्ण हेतु पद नीचे दिए गए हैं। ;ंद्ध काॅपर ;प्द्ध सल्पफाइड में भंजन तदुपरांत इसके अपचयन में प्रयुक्त अभ्िाियाओं का समीकरण लिख्िाए। ;इद्ध विद्युत अपघटनी परिशोध्न का स्वच्छ नामांकित चित्रा बनाइए। ;3 ़ 2 त्र 5द्ध 32ण् आपको छः काबर्न परमाणुओं तथा चैदह हाइड्रोजन परमाणुओं का बाॅल तथा स्िटक माॅडल पयार्प्त संख्या में स्िटक दी गइर् हंै। ब्6भ्14 के विभ्िान्न अणु बनाने के लिए कोइर् व्यक्ित छः काबर्न परमाणुओं तथा चैदह हाइड्रोजन परमाणुओं को कितनी प्रकार से जोड़ सकता है? ;5द्ध अथवा अणुसूत्रा ब्3भ्6व् युक्त यौगिकों के सभी संभावित समावयवियों का संरचना सूत्रा बनाइये तथा इनकी इलेक्ट्राॅन बिंदु संरचनाएँ दीजिए। ;2 ़ 3 त्र 5द्ध 33ण् परागण तथा निषेचन के बीच अंतर बताइए। पुष्प में निषेचन के उत्पाद का उल्लेख कीजिए। बताइए कि वह किस भाग में होता है। स्त्राीकेसर में परागनलिका में वृि तथा इसके अंडाशय में प्रवेश का स्वच्छ नामांकित चित्रा बनाइए। ;1क़्1क़्2त्र5द्ध अथवा जनन एक आवश्यक परिघटना है जो एक व्यष्िट की न केवल उत्तरजीविता के लिए आवश्यक है अपितु एक स्पीशीज के सततता के लिए भी आवश्यक है। समझाइये। ;5द्ध 34ण् ;ंद्ध उत्तल लेंस द्वारा प्रतिबिंब बनना दशार्ने के लिए प्रकाश किरण आरेख खींचिए जबकि बिंब स्िथत हैः ;पद्ध लेंस की पफोकस दूरी के दोगुने पर ;पपद्ध अनंत पर ;इद्ध मोमबत्ती की ज्वाला का किसी लेंस द्वारा बना प्रतिबिंब लेंस के दूसरी ओर स्िथत पदेर् पर प्राप्त होता है। यदि प्रतिबिंब का साइश ज्वाला का तीन गुना है तथा लेंस से प्रतिबिंब की दूरी 80बउ है, तो मोमबत्ती लेंस से कितनी दूरी पर स्िथत है? लेंस तथा प्रतिबिंबकी प्रकृति क्या है? ;1़1़3 त्र 5द्ध अथवा अपवतर्न के नियम लिख्िाए। इन्हें किरण आरेख की सहायता से उस स्िथति में स्पष्ट कीजिए जब कोइर् प्रकाश किरण किसी काँच के आयताकार स्लैब से गुजरती है। ;2़3त्र5द्ध 35ण् किसी प्रयोग की सहायता से आप यह निष्कषर् किस प्रकार निकालेंगे कि बैटरी से श्रेणीक्रम में संयोजित तीन प्रतिरोधकों के परिपथ के प्रत्येक भाग से समान धारा प्रवाहित होती है? ;5द्ध अथवा चित्रा में दिए गए विद्युत परिपथ में निम्नलिख्िात के मान ज्ञात कीजिएः ;ंद्ध संयोजन में 8 Ω के दो प्रतिरोधकों का प्रभावी प्रतिरोध ;इद्ध 4 Ω प्रतिरोधक से प्रवाहित धारा ;बद्ध 4 Ω प्रतिरोधक के सिरों के बीच विभवांतर ;कद्ध 4 Ω प्रतिरोधक में शक्ित - क्षय ;मद्ध ।1 तथा ठ2 के पाठ्यांकों मंे अंतर ;यदि कोइर् हैद्ध ;1़1़1़1़1त्र 5द्ध 36ण् प्रावृफतिक संसाध्नों के संरक्षण के संदभर् में, कम उपयोग करना, पुनःचक्रण तथा पुनः उपयोग शब्दों को समझाइए। दैनिक जीवन में काम आने वाले पदाथो± से प्रत्येक वगर् के दो - दो पदाथो± को पहचानिए। ;5द्ध अथवा अपश्िाष्ट जल के उपयोग के लिए लाभदायक तरीकों का सुझाव दीजिए। ;5द्ध उत्तर बहुविकल्पीय प्रश्न 1ण् ;इद्ध 2ण् ;कद्ध 3ण् ;इद्ध 4ण् ;कद्ध 5ण् ;कद्ध 6ण् ;इद्ध 7ण् ;ंद्ध 8ण् ;ंद्ध 9ण् ;बद्ध 10ण् ;इद्ध 11ण् ;कद्ध 12ण् ;कद्ध 13ण् ;इद्ध 14ण् ;बद्ध 15ण् ;इद्ध लघुउत्तरीय प्रश्न 16ण् ;ंद्ध छ2;हद्ध ़ 3भ्2;हद्ध 773 ज्ञ उत्पे्ररक 2छभ्3;हद्ध संकलन अभ्िाियाऊष्मा;इद्ध ब्ंब्व्;ेद्ध ब्ंव् ;ेद्ध ़ ब्व् ;हद्ध3 2विघटन अभ्िािया 17ण् बेकरी उत्पादों में सामान्यतः काम आने वाला लवण । बे¯कग पाउडर ;छंभ्ब्व्3द्ध है। यहगरम किए जाने परठ सोडियम काबोर्नेट ;छंब्व्द्ध बनाता है तथाब्व्गैस ;ब्द्ध निगर्मित23 2 होती है। जब ब्व् ;हद्ध गैस को चूने के पानी में प्रवाहित किया जाता है तो यह वैफल्िसयम2काबोर्नेट बनाता है जो कि जल में अल्प विलेय है तथा इसे दूध्िया बनाता है। गरम2छंभ्ब्व् छंब्व़्भ्व् ़ ब्व्3 23 22 18ण् ;ंद्ध सोडियम ;छंद्ध समूह1 तथा आवतर् 3 ;इद्ध पफास्पफोरस;च्द्ध समूह 15 तथा आवतर्3 19ण् निम्नलिख्िात उद्देश्यों के लिए भोजन की आवश्यकता होती है ;ंद्ध यह शरीर में विभ्िान्न उपापचयी प्रियाओं के लिए ऊजार् प्रदान करता है। ;इद्ध यह नयी कोश्िाकाओं की वृि तथा टूटी - पूफटी कोश्िाकाओं की मरम्मत तथा विस्थापन के लिए आवश्यक है। ;बद्ध यह विभ्िान्न रोगों के लिए प्रतिरोध् - क्षमता उत्पन्न करने के लिए आवश्यक होता है। 20ण् जब विद्युत संकेत तंत्रिाका कोश्िाका के तंत्रिाकाक्ष सिरे पर पहुँचते हैं तब ये तंत्रिाकाक्ष एक रासायनिक पदाथर् निष्कासित करते हैं। यह रसायन अगले तंत्रिाका कोश्िाका के द्रुमावृफतिक सिरे की ओर पहुँचता है जहाँ यह एक विद्युत आवेग अथवा संकेत उत्पन्न करता है। अतः तंत्रिाकाक्ष सिरे पर एक विद्युत संकेत रासायनिक संकेत में परिव£तत होता है। चूँकि ये रसायन तंत्रिाका कोश्िाका के द्रुमावृफतिक सिरे पर अनुपस्िथत होते हैं, अतः विद्युत संकेत, रासायनिक संकेतों में परिव£तत नहीं होते हैं। 21ण् श्िाशु के ¯लग का निधर्रण नर युग्मक के लिंग गुणसूत्रों के प्रकार द्वारा होता है। चूँकि नर युग्मक में ग् गुणसूत्रा और ल् गुणसूत्रा का अनुपात 50 रू 50 होता है, अतः नर और मादा होने की सांख्ियकी संभावना भी 50 रू 50 होती है। 22ण् संकेतμभवन का स्पष्ट प्रतिबिंब प्राप्त करने के लिए सुधा को पदेर् को लेंस की ओर सरकाना चाहिए। इस लेंस की सन्िनकट पफोकस दूरी 15 बउ है। 23ण् संकेतμछात्रा निकट दृष्िटदोष से पीडि़त है। डाॅक्टर इस दोष के संशोधन के लिए उसे उचित क्षमता का अवतल लेंस उपयोग करने का परामशर् देंगे। 24ण् संकेतμदो सवर्सम पि्रज्मों द्वारा एक को दूसरे के सापेक्ष उल्टा रखकर। 32ण् ब् भ्614 ;ंद्ध ब्भ् कृ ब्भ् कृ ब्भ् कृ ब्भ् कृ ब्भ् कृ ब्भ्322223 ;इद्धब्भ् कृब्भ् कृ ब्भ् कृ ब्भ् कृ ब्भ्3223 ब्भ्3;बद्धब्भ् कृब्भ् कृब्भ् कृ ब्भ्कृ ब्भ्322 3 ब्भ्3 ;कद्धब्भ् कृ ब्भ् कृ ब्भ् कृ ब्भ्3 3 ब्भ्3ब्भ्3ब्भ्3 ;मद्ध ब्भ्3 ब् ब्भ्2 ब्भ्3 ब्भ्3 अथवा व् ब्भ्3 ब् ब्भ्3 प्रोपेनोन ब्भ्3कृब्भ्2कृब्भ्व् प्रोपेनल 33ण् परागकोश से परागकणों का व£तकाग्र पर स्थानांतरण की प्रिया को परागण कहते हैं। नर तथा मादा युग्मक के संलयन से युग्मनज के निमार्ण को निषेचन कहते हैं। निषेचन का स्थान अंडाशय होता है। निषेचन का उत्पाद युग्मनज होता है। प्रश्न प्रदश्िार्काμविज्ञान अथवा संकेतकृ ;ंद्ध किसी व्यष्िट की उत्तरजीविता के लिए ऊजार् की आवश्यकता होती है जो पोषण तथाश्वसन जैसे जैव प्रक्रमों से प्राप्त होती है। ;इद्ध जनन ऊजार् प्रदान नहीं करता है। ;बद्ध जनन आनुवंश्िाक पदाथर् का स्थानांतरण एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में निश्िचत करताहै जोकि स्पीशीज की सततता में सहायक है। 34ण् ;ंद्ध ;इद्ध संकेतकृउत्र दृ त्रदृ3 ए दृ त्र का उपयोग करते हुए न का परिकलन।नअन ि80 नत्र− यप्रतिबिंब वास्तविक तथा उल्टा होगा। लेंस उत्तल है।3 बउ अथवा संकेतμ अपवतर्न के दोनों नियम दीजिए। निम्नलिख्िात आरेख खींचकर स्लैब के दोनों पफलकों पर प्रकाश पर अपतिर्त होना स्पष्टकीजिए। 35ण् संकेतकृफ्श्रेणी परिपथ के प्रत्येक घटक में समान धरा प्रवाहित होती है।य् दशार्ते हुए प्रयोग की व्याख्या कीजिए। अथवा ;ंद्ध 1 । ;इद्ध 4 Ω ;बद्ध 4 ट ;कद्ध 4 ॅ ;मद्ध कोइर् अंतर नहीं। 36ण् रिड्यूस अथार्त् पदाथर्/उपयोगी वस्तु को कम मात्रा में प्रयोग करके। उदाहरणाथर् बिजलीतथा जल। पुनःचक्रण अथार्त् एक पदाथर् जिसका उपयोग हो चुका है, को एकत्रा कर पुनः निमार्णकत्तार्के पास भेजना ताकि अन्य उपयोगी पदाथर् का निमार्ण हो सके। उदाहरणाथर् प्लास्िटक कीप्लेट, अल्यूमिनियम का गिलास। पुनःउपयोग अथार्त् एक वस्तु को पेंफकने के बजाय उसे कइर् बार उपयोग में लेना। यह छोटेअथवा बड़े स्तर पर पुनःचक्रण प्रिया को सम्िमलित नहीं करता है। उदाहरणाथर् प्रयुक्तलिपफापेफ, सामान ले जाने वाले प्लास्िटक के थैले, जैम की बोतल। अथवा संकेतकृ अपश्िाष्ट जल का उपयोग ;ंद्ध भौमजल को पुनभर्रण करने के लिए हो सकता है। ;इद्ध ¯सचाइर् कायो± में उपयोग हो सकता है। ;बद्ध कारों को धेने, बगीचे में पानी डालने तथा अन्य घरेलू काय±े के लिए कर सकते हैं। ;बद्ध मल जल में उपस्िथत प्रदूषक विभ्िान्न पफसलों के लिए उवर्रक का कायर् करते हैं।

RELOAD if chapter isn't visible.