प्ण् बहुविकल्प प्रश्न ;प्ररूप.प्द्ध 1ण् निम्नलिख्िात ऐल्कोहाॅलों की हैलोजन अम्लों के साथ अभ्िावि्रफयाशीलता का व्रफम ऋऋऋऋऋऋऋऋऋ होगा। ;।द्ध ब्भ्ब्भ् कृब्भ्कृव्भ् ;ठद्ध;ब्द्ध322;पद्ध;।द्ध झ ;ठद्ध झ ;ब्द्ध ;पपद्ध;ब्द्ध झ ;ठद्ध झ ;।द्ध ;पपपद्ध;ठद्ध झ ;।द्ध झ ;ब्द्ध ;पअद्ध;।द्ध झ ;ब्द्ध झ ;ठद्ध 2ण् निम्नलिख्िात में से कौन - सी ऐल्कोहाॅल कक्ष ताप पर सांद्र भ्ब्स के साथ अभ्िािया करके संगत ऐल्िकल क्लोराइड देगी? ;पद्ध ब्भ्ब्भ्कृब्भ्कृव्भ्322;पपद्ध ;पपपद्ध ;पअद्ध 3ण् निम्नलिख्िात अभ्िावि्रफया में यौगिक ल् को पहचानिए। 4ण् टाॅलूइर्न आयरन ;प्प्प्द्ध क्लोराइड की उपस्िथति में हैलोजन से अभ्िावि्रफया द्वारा आॅथो± और पैरा हैलो यौगिक बनाती है। यह अभ्िावि्रफया ऋऋऋऋऋऋऋऋ है। ;पद्ध इलेक्ट्राॅनरागी निराकरण अभ्िावि्रफया। ;पपद्ध इलेक्ट्राॅनरागी प्रतिस्थापन अभ्िावि्रफया। ;पपपद्ध मुक्त मूलक योगज अभ्िावि्रफया। ;पअद्ध नाभ्िाकरागी प्रतिस्थापन अभ्िावि्रफया। 5ण् निम्नलिख्िात में से कौन - सी अभ्िावि्रफया हैलोजन विनिमय अभ्िावि्रफया है? ;पद्ध त् ग् ़ छंप् ⎯→ त्प् ़ छंग् ;पपद्ध ;पअद्ध 6ण् निम्नलिख्िात अभ्िावि्रफया के लिए आप कौन - सा अभ्िाकमर्क प्रयोग करेंगे? ब्भ्ब्भ्ब्भ्ब्भ्⎯⎯⎯⎯⎯→ ब्भ्ब्भ्ब्भ्ब्भ्ब्स ़ ब्भ्ब्भ्ब्भ्ब्सब्भ्3223 3222323 ;पद्ध ब्सध्न्ट प्रकाश2;पपद्ध छंब्स ़ भ्ैव्24 ;पपपद्ध अंध्ेरे में ब्सगैस2 ;पअद्ध अंध्ेरे में आयरन की उपस्िथति में ब्सगैस2 143 हैलोऐल्केन तथा हैलोऐरीन ;पपपद्ध 7ण् निम्नलिख्िात यौगिकों को उनके बढ़ते हुए घनत्व के व्रफम में व्यवस्िथत कीजिए। ;पद्ध;ंद्ध ढ ;इद्ध ढ ;बद्ध ढ ;कद्ध ;पपद्ध;ंद्ध ढ ;बद्ध ढ ;कद्ध ढ ;इद्ध ;पपपद्ध;कद्ध ढ ;बद्ध ढ ;इद्ध ढ ;ंद्ध ;पअद्ध;इद्ध ढ ;कद्ध ढ ;बद्ध ढ ;ंद्ध 8ण् निम्नलिख्िात यौगिकों को उनके बढ़ते हुए क्वथनांक के व्रफम में व्यवस्िथत कीजिए। ;ंद्ध ;इद्ध ब्भ्ब्भ्ब्भ्ब्भ्ठत ;बद्ध3222;पद्ध;इद्ध ढ ;ंद्ध ढ ;बद्ध ;पपद्ध;ंद्ध ढ ;इद्ध ढ ;बद्ध ;पपपद्ध;बद्ध ढ ;ंद्ध ढ ;इद्ध ;पअद्ध;बद्ध ढ ;इद्ध ढ ;ंद्ध 9ण् निम्नलिख्िात में से किस अणु में तारांकित ;’द्ध काबर्न परमाणु असममित है? ;ंद्ध ;इद्ध ;बद्ध ;कद्ध ;पद्ध;ंद्धए ;इद्धए ;बद्धए ;कद्ध ;पपद्ध;ंद्धए ;इद्धए ;बद्ध ;पपपद्ध;इद्धए ;बद्धए ;कद्ध ;पअद्ध;ंद्धए ;बद्धए ;कद्ध 10ण् निम्नलिख्िात में से कौन - सी संरचना नीचे दिए अणु ;।द्ध का प्रतिबिम्बरूप है? ;।द्ध ;पद्ध ;पपद्ध 11ण् निम्नलिख्िात में से कौन - सा विस - डाइहैलाइड का उदाहरण है? ;पद्ध डाइक्लोरोमेथेन ;पपद्ध 1ए2.डाइक्लोरोएथेन ;पपपद्ध एथ्िालिडीन क्लोराइड ;पअद्ध ऐलिल क्लोराइड 12ण् ब्भ्ब्भ्त्रत्रब्भ्ब्;ठतद्ध;ब्भ्द्धयौगिक में दृठत की स्िथति को ऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋ के जैसे वगीर्वृफत332 किया जा सकता है। ;पद्ध ऐलिल ;पपद्ध ऐरिल ;पपपद्ध वाइनिल ;पअद्ध सेकेन्ड्री 13ण् क्लोरोबेन्जीन को ।सब्सकी उपस्िथति में क्लोरीन की बेन्जीन से अभ्िावि्रफया द्वारा बनाया जा सकता है। इस3 अभ्िावि्रफया में निम्नलिख्िात में से कौन - सी स्पीशीश बेन्जीन वलय पर आव्रफमण करती है? दृ;पद्ध ब्स ;पपद्ध ब्स़ ;पपपद्ध ।सब्स3 ;पअद्ध ख्।सब्स,दृ 414ण् एथ्िालडीन क्लोराइड एक ऋऋऋऋऋऋऋ है। ;पद्ध विस - डाइहैलाइड ;पपद्ध जेम - डाइहैलाइड ;पपपद्ध ऐलिलिक हैलाइड ;पअद्ध वाइनिलिक हैलाइड 15ण् निम्नलिख्िात अभ्िावि्रफया में ष्।ष् क्या है? ;पद्ध ;पपद्ध ;पपपद्ध ;पअद्ध 16ण् प्राथमिक एल्िकल हैलाइड की क्या प्राथमिकता होगी? ;पद्ध ै1 अभ्िावि्रफयाछ;पपद्ध ै2 अभ्िावि्रफयाछ;पपपद्ध αदृनिराकरण ;पअद्ध रेसिमीकरण 17ण् निम्नलिख्िात में से कौन - सा एल्िकल हैलाइड सवार्ध्िक आसानी से ै1 अभ्िावि्रफया देगा?छ;पद्ध;ब्भ्द्धब्कृथ्33;पपद्ध;ब्भ्द्धब्कृब्स33;पपपद्ध;ब्भ्द्धब्कृठत33;पअद्ध;ब्भ्द्धब्कृप्3318ण् का सही प्न्च्।ब् नाम क्या है? ;पद्ध 1.ब्रोमो.2.एथ्िालप्रोपेन ;पपद्ध 1.ब्रोमो.2.एथ्िाल.2.मेथ्िालएथेन ;पपपद्ध 1.ब्रोमो.2.मेथ्िालब्यूटेन ;पअद्ध 2.मेथ्िाल.1.ब्रोमोब्यूटेन 19ण् डाइएथ्िालब्रोमोमेथेन का सही प्न्च्।ब् नाम क्या है? ;पद्ध 1.ब्रोमो.1ए1.डाइएथ्िालमेथेन ;पपद्ध 3.ब्रोमोपेन्टेन ;पपपद्ध 1.ब्रोमो.1.एथ्िालप्रोपेन ;पअद्ध 1.ब्रोमोपेन्टेन 20ण् प्रकाश की अनुपस्िथति और आयरन की उपस्िथति में टाॅलूइर्न क्लोरीन से अभ्िावि्रफया द्वारा ऋऋऋऋऋऋऋऋ देती है। ;पद्ध ;पपद्ध ;पपपद्ध ;पअद्ध;पपद्ध और ;पपपद्ध का मिश्रण 21ण् क्लोरोमेथेन, अध्िक अमोनिया से अभ्िावि्रफया करके मुख्यतः ऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋ देता है। ;पद्ध छए छ.डाइमेथ्िालमेथेनऐमीन ; द्ध ;पपद्ध छदृमेथ्िालमेथेनऐमीन ;ब्भ्कृछभ्कृब्भ्द्ध33;पपपद्ध मेथेनऐमीन ;ब्भ्छभ्द्ध32;पअद्ध उपरोक्त सभी का मिश्रण जिसमें इन सभी का अनुपात बराबर हो। 22ण् वे अणु जिनके प्रतिबिम्ब उन पर अध्यासित नहीं हो सकते काइरल कहलाते हैं। निम्नलिख्िात अणुओं में से कौन - सा अणु काइरल है? ;पद्ध 2.ब्रोमोब्यूटेन ;पपद्ध 1.ब्रोमोब्यूटेन ;पपपद्ध 2.ब्रोमोप्रोपेन ;पअद्ध 2.ब्रोमोप्रोपेन.2.आॅल 23ण् सोडियम हाइड्राॅक्साइड के साथ ब्भ्ब्भ्ठत की अभ्िावि्रफया ऋऋऋऋऋऋऋ अग्रसारित होती है।652;पद्ध ै1 वि्रफयाविध्ि से।छ;पपद्ध ै2 वि्रफयाविध्ि से।छ;पपपद्ध ताप के अनुसार उपरोक्त दोनों में से किसी भी वि्रफयाविध्ि से। ;पअद्ध सेटशेपफ के नियम के अनुसार। 24ण् नीचे दिए गए अणु में कौन - से काबर्न परमाणु असममित हैं? 25ण् निम्न यौगिकों में से कौन - सा व्भ् दृ आयन द्वारा नाभ्िाकरागी प्रतिस्थापन से रेसिमिक मिश्रण देगा। ;पद्ध ंए इए बए क ;पपद्ध इए ब ;पपपद्ध ंए क ;पअद्ध ंए इए ब ;ंद्ध ;इद्ध ;बद्ध ;पद्ध;ंद्ध ;पपद्ध;ंद्धए ;इद्धए ;बद्ध ;पपपद्ध;इद्धए ;बद्ध ;पअद्ध;ंद्धए ;बद्ध नोट - प्रश्न 26 से 29 तक यौगिकों को नाभ्िाकरागी प्रतिस्थापन अभ्िावि्रफया में अभ्िावि्रफया दर के बढ़ते व्रफम में व्यवस्िथत कीजिए। 26ण् ;ंद्ध ;इद्ध ;बद्ध ;पद्ध;ंद्ध ढ ;इद्ध ढ ;बद्ध ;पपद्ध;बद्ध ढ ;इद्ध ढ ;ंद्ध ;पपपद्ध;ंद्ध ढ ;बद्ध ढ ;इद्ध ;पअद्ध;बद्ध ढ ;ंद्ध ढ ;इद्ध 27ण् ;ंद्ध ;इद्ध ;बद्ध ;पद्ध;ंद्ध ढ ;इद्ध ढ ;बद्ध ;पपद्ध;ंद्ध ढ ;बद्ध ढ ;इद्ध ;पपपद्ध;बद्ध ढ ;इद्ध ढ ;ंद्ध ;पअद्ध;इद्ध ढ ;बद्ध ढ ;ंद्ध 28ण् ;ंद्ध ;इद्ध ;बद्ध ;पद्ध;बद्ध ढ ;इद्ध ढ ;ंद्ध ;पपद्ध;इद्ध ढ ;बद्ध ढ ;ंद्ध ;पपपद्ध;ंद्ध ढ ;बद्ध ढ ;इद्ध ;पअद्ध;ंद्ध ढ ;इद्ध ढ ;बद्ध ;पद्ध;ंद्ध ढ ;इद्ध ढ ;बद्ध ;पपद्ध;इद्ध ढ ;ंद्ध ढ ;बद्ध ;पपपद्ध;बद्ध ढ ;इद्ध ढ ;ंद्ध ;पअद्ध;ंद्ध ढ ;बद्ध ढ ;इद्ध 30ण् निम्नलिख्िात यौगिकों के क्वथनांकों के बढ़ते हुए व्रफमों में से कौन - सा सही है? 1 - आयोडोब्यूटेन, 1 - ब्रोमोब्यूटेन, 1 - क्लोरोब्यूटेन, ब्यूटेन ;पद्ध ब्यूटेन ढ 1 - क्लोरोब्यूटेन ढ 1 - ब्रोमोब्यूटेन ढ 1 - आयोडोब्यूटेन ;पपद्ध 1 - आयोडोब्यूटेन ढ 1 - ब्रोमोब्यूटेन ढ 1 - क्लोरोब्यूटेन ढ ब्यूटेन ;पपपद्ध ब्यूटेन ढ 1 - आयोडोब्यूटेन ढ 1 - ब्रोमोब्यूटेन ढ 1 - क्लोरोब्यूटेन ;पअद्ध ब्यूटेन ढ 1 - क्लोरोब्यूटेन ढ 1 - आयोडोब्यूटेन ढ 1 - ब्रोमोब्यूटेन 31ण् निम्नलिख्िात यौगिकों के क्वथनांकों के बढ़ते हुए व्रफमों में से कौन - सा सही है? 1 - ब्रोमोएथेन, 1 - ब्रोमोप्रोपेन, 1 - ब्रोमोब्यूटेन, ब्रोमोबेन्जीन ;पद्ध ब्रोमोबेन्जीन ढ 1 - ब्रोमोब्यूटेन ढ 1 - ब्रोमोप्रोपेन ढ 1 - ब्रोमोएथेन ;पपद्ध ब्रोमोबेन्जीन ढ 1 - ब्रोमोएथेन ढ 1 - ब्रोमोप्रोपेन ढ 1 - ब्रोमोब्यूटेन ;पपपद्ध 1 - ब्रोमोप्रोपेन ढ 1 - ब्रोमोब्यूटेन ढ 1 - ब्रोमोएथेन ढ ब्रोमोबेन्जीन ;पअद्ध 1 - ब्रोमोएथेन ढ 1 - ब्रोमोप्रोपेन ढ 1 - ब्रोमोब्यूटेन ढ ब्रोमोबेन्जीन प्प्ण् बहुविकल्प प्रश्न ;प्ररूप.प्प्द्ध नोट - निम्नलिख्िात प्रश्नों में दो या इससे अध्िक विकल्प सही हो सकते हैं। निम्नलिख्िात अभ्िावि्रफया को संज्ञान में लेते हुए व्रफम संख्या 32दृ34 तक प्रश्नों के उत्तर दीजिए। 32ण् उपरोक्त अभ्िावि्रफया के लिए कौन - से कथन सही हैं? ;पद्ध;ंद्ध और ;मद्ध दोनों नाभ्िाकरागी हैं। ;पपद्ध;बद्ध में काबर्न परमाणु ेच3 संकरित है। ;पपपद्ध;बद्ध में काबर्न परमाणु ेच2 संकरित है। ;पअद्ध;ंद्ध और ;मद्ध दोनों इलेक्ट्राॅनरागी हैं। 33ण् निम्नलिख्िात कथनों में से कौन - से कथन उपरोक्त अभ्िावि्रफया के लिए सही हैं? ;पद्ध अभ्िावि्रफया ै2 वि्रफयाविध्ि का अनुसरण करती है।छ;पपद्ध;इद्ध और ;कद्ध का विन्यास एक दूसरे के विपरीत है। ;पपपद्ध;इद्ध और ;कद्ध का विन्यास समान है। ;पअद्ध अभ्िावि्रफया ै1 वि्रफयाविध्ि का अनुसरण करती है।छ34ण् अभ्िावि्रफया माध्यमिक के लिए निम्नलिख्िात में से कौन - से कथन सही हैं? ;पद्ध माध्यमिक ;बद्ध अस्थायी है क्योंकि इसमें काबर्न पाँच परमाणुओं से जुड़ा है। ;पपद्ध माध्यमिक ;बद्ध अस्थायी है क्योंकि इसमें काबर्न परमाणु ेच2 संकरित है। ;पपपद्ध माध्यमिक ;बद्ध स्थायी है क्योंकि इसमें काबर्न परमाणु ेच2 संकरित है। ;पअद्ध माध्यमिक ;बद्ध अभ्िावि्रफयक ;इद्ध से कम स्थायी है। नोट - प्रश्न संख्या 35 और 36 के उत्तर निम्नलिख्िात अभ्िावि्रफया के आधर पर दीजिए। 35ण् इस अभ्िावि्रफया की वि्रफयाविध्ि के संबंध् में कौन - से कथन सही हैं? ;पद्ध अभ्िावि्रफया में काबर्ध्नायन ;काबोर्वैफटायनद्ध माध्यमिक बनेगा। दृ;पपद्ध व्भ् वि्रफयाध्र ;इद्ध पर एक ओर से जुड़ेगा और उसी समय ब्सदृ इसे छोड़ेगा। दृ;पपपद्ध एक अस्थायी माध्यमिक बनेगा जिसमें व्भ् और ब्सदृ दुबर्ल आबंधें से जुड़े होंगे। ;पअद्ध अभ्िावि्रफया ै1 वि्रफयाविध्ि से बढ़ेगी।छ36ण् इस अभ्िावि्रफया की गतिकी के लिए कौन - से कथन सही हैं? ;पद्ध अभ्िावि्रफया की दर केवल ;इद्ध की सांद्रता पर निभर्र करती है। ;पपद्ध अभ्िावि्रफया की दर ;ंद्ध और ;इद्ध दोनों की सांद्रता पर निभर्र करती है। ;पपपद्ध अभ्िावि्रफया की आण्िवकता एक है। ;पअद्ध अभ्िावि्रफया की आण्िवकता दो है। 37ण् हैलोऐल्केनों में हैलोजन परमाणु ऐल्िकल समूह के ेच3 संकरित काबर्न से जुड़ा/जुड़े होता/होते हैं। निम्नलिख्िात यौगिकों में से हैलोऐल्केनों को पहचानिए। 38ण् एथ्िालीन क्लोराइड एवं एथ्िालिडीन क्लोराइड समावयव हैं। इनके विषय में सही कथन पहचानिए। ;पद्ध ऐल्कोहाॅली ज्ञव्भ् से अभ्िावि्रफया में दोनों यौगिक एक ही उत्पाद बनाते हैं। ;पपद्ध जलीय छंव्भ् के साथ अभ्िावि्रफया में दोनों यौगिक एक ही उत्पाद बनाते हैं। ;पपपद्ध दोनों यौगिक अपचयन से एक ही उत्पाद बनाते हैं। ;पअद्ध दोनों यौगिक ध्ु्रवण घूणर्क हैं। 39ण् निम्नलिख्िात में से कौन - से यौगिक जेम - डाइहैलाइड हैं? ;पद्ध एथ्िालिडीन क्लोराइड ;पपद्ध एथ्िालीन डाइक्लोराइड ;पपपद्ध मेथ्िालीन क्लोराइड ;पअद्ध बेन्िजल क्लोराइड 40ण् निम्नलिख्िात में से कौन - से यौगिक सेकेन्ड्री ब्रोमाइड हैं? ;पद्ध;ब्भ्द्ध ब्भ्ठत;पद्ध 2.ब्रोमोपेन्टेन ;पपद्ध वेनिलक्लोराइड ;क्लोरोएथीनद्ध ;पपपद्ध 2.क्लोरोऐसीटोप़्ाफीनोन ;पअद्ध ट्राइक्लोरोमेथेन 32;पपद्ध;ब्भ्द्धब् ब्भ्ठत332;पपपद्ध ब्भ्ब्भ्;ठतद्धब्भ्ब्भ्323 ;पअद्ध;ब्भ्द्धब्ठतब्भ्ब्भ्3223 41ण् निम्नलिख्िात में से कौन - से यौगिकों को ऐरिल हैलाइडों में वगीर्वृफत किया जा सकता है? ;पद्ध च.ब्सब्भ्ब्भ्ब्भ्;ब्भ्द्ध;पपद्ध च.ब्भ्ब्भ्ब्स;ब्भ्द्धब्भ्ब्भ्64 232 36423 ;पपपद्ध व.ठतभ्ब्.ब्भ्ब्भ्;ब्भ्द्धब्भ्ब्भ्2 64323 ;पअद्ध ब्भ्.ब्स6542ण् ऐल्िकल हैलाइड को एल्कोहाॅल की ऋऋऋऋऋऋ से अभ्िावि्रफया द्वारा बनाया जा सकता है। ;पद्ध भ्ब्स ़ र्दब्स;पपद्ध लाल च् ़ ठत2 2 ;पपपद्ध भ्ैव् ़ ज्ञप्24;पअद्ध उपरोक्त सभी 43ण् ऐल्िकल फ्रलुओराइडों का विरचन ऐल्िकल क्लोराइड/ब्रोमाइड को ऋऋऋऋऋऋऋऋऋ अथवा ऋऋऋऋऋऋऋऋऋ की उपस्िथति में गरम करके किया जा सकता है। ;पद्ध ब्ं थ्;पपद्ध ब्वथ्2 2 ;पपपद्ध भ्हथ्22 ;पअद्ध छंथ् प्प्प्ण् लघु उत्तर प्रश्न 44ण् ऐरिल क्लोराइड और ब्रोमाइड लूइस अम्ल उत्प्रेरक की उपस्िथति में व्रफमशः क्लोरीन और ब्रोमीन द्वारा ऐरीनों की इलेक्ट्राॅनरागी प्रतिस्थापन अभ्िावि्रफया द्वारा आसानी से बनाए जा सकते हैं, परन्तु ऐरिल आयोडाइडों को बनाने के लिए आॅक्सीकरण कमर्क की आवश्यकता क्यों होती है? 45ण् आॅथोर् - और पेरा - डाइब्रोमोबेन्जीन में से किसका गलनांक उच्च है और क्यों? 46ण् निम्नलिख्िात यौगिकों में से कौन - सा यौगिक ै1 अभ्िावि्रफया में दृव्भ् आयन से अध्िक तेजी सेछअभ्िावि्रफया करेगा? ब्भ्कृ ब्भ्कृ ब्स अथवा ब्भ्कृ ब्भ्कृ ब्स3265247ण् आयोडोपफाॅमर् के पयार्प्त पूतिरोध्ी गुणध्मर् क्यों होते हैं? 48ण् हैलोएरीन, हैलोऐल्केन और हैलोऐल्कीन से कम वि्रफयाशील होती हैं। समीक्षा कीजिए। 49ण् ऐरिल ब्रोमाइड और क्लोराइड के अंध्ेरे में विरचन में लूइस अम्ल की भूमिका की विवेचना कीजिए। 50ण् निम्नलिख्िात यौगिकों ;कद्ध और ;खद्ध में से कौन - सा छंठत और भ्ैव्के मिश्रण के साथ24 अभ्िावि्रफया नहीं करेगा और क्यों? ;कद्ध ब्भ्ब्भ्ब्भ्व्भ् ;खद्ध32251ण् निम्नलिख्िात अभ्िावि्रफया में कौन सा उत्पाद प्रमुख उत्पाद होगा? समझाइए। ब्भ्ब्भ् त्र ब्भ् ़ भ्प् ⎯⎯⎯→ ब्भ्ब्भ्ब्भ्प् ़ ब्भ्ब्भ्प्ब्भ्32 32233 ;कद्ध ;खद्ध 52ण् हैलोऐल्केनों की जल में घुलनशीलता बहुत कम क्यों होती है? 53ण् निम्नलिख्िात संरचना से संबंध्ित अन्य अनुनाद संरचनाएँ लिख्िाए और ज्ञात कीजिए कि अणु में उपस्िथत प्रकायार्त्मक समूह आॅथो± - पेरा निदशर्न वाला है या मेटा निदशर्न वाला। 54ण् निम्नलिख्िात यौगिकों को प्राथमिक, द्वितीयक और तृतीयक वगो± में वगीर्वृफत करिए। ;पद्ध 1.ब्रोमोब्यूट.2.इर्न ;पपद्ध 4.ब्रोमोपेन्ट.2.इर्न ;पपपद्ध 2.ब्रोमो.2.मेथ्िालप्रोपेन 55ण् ब्भ्ठत अणुसूत्रा के यौगिक ष्कष् को ज्ञव्भ् के जलीय विलयन से अभ्िावृफत किया गया। इस अभ्िावि्रफया49की दर केवल यौगिक ष्कष् की सांद्रता पर निभर्र करती है। जब इस यौगिक के दूसरे ध््रुवण घूणर्क समावयव ष्खष् को ज्ञव्भ् के जलीय विलयन से अभ्िावृफत किया गया तो अभ्िावि्रफया दर यौगिक और ज्ञव्भ् दोनों की सांद्रता पर निभर्र पाइर् गइर्। ;पद्ध दोनों यौगिकों ‘क’ और ‘ख’ के संरचना सूत्रा लिख्िाए। ;पपद्ध इन दोनों यौगिकों में से कौन - सा प्रतीपित विन्यास के उत्पाद में परिवतिर्त होगा। 56ण् ब्भ्अणुसूत्रा वाले यौगिक ‘क’ के थ्मब्सकी उपस्िथति में ब्ससे अभ्िावृफत होने पर बनने वाले78 3 2 उत्पादों के नाम और संरचनाएँ लिख्िाए। 57ण् निम्नलिख्िात अभ्िावि्रफया में बने उत्पादों ‘क’ और ‘ख’ को पहचानिए। ब्भ्कृ ब्भ्कृ ब्भ् त्रत्र ब्भ् कृ ब्भ् ़ भ्ब्स ⎯→ क ़ ख3 2 358ण् निम्नलिख्िात यौगिकों में से किसका गलनांक उच्चतम होगा और क्यों? ;प्द्ध;प्प्द्ध ;प्प्प्द्ध 59ण् निओ - पेन्िटलब्रोमाइड की संरचना और प्न्च्।ब् नाम लिख्िाए। 60ण् 72 ह उवसदृ1 अणु द्रव्यमान का एक हाइड्रोकाबर्न प्रकाश में क्लोरीनन से केवल एक मोनोक्लोरो और दो डाइक्लोरो व्युत्पन्न देता है। हाइड्रोकाबर्न की संरचना लिख्िाए। 61ण् उस ऐल्कीन का नाम बताइए जो भ्ब्स के साथ अभ्िावि्रफया से 1.क्लोरो.1.मेथ्िालसाइक्लोहेक्सेन देगी। अभ्िावि्रफयाएँ भी लिख्िाए। 62ण् निम्नलिख्िात हैलोएल्केनों में से कौन - सा जलीय ज्ञव्भ् के साथ सबसे आसानी से अभ्िावि्रफया करता है? कारण सहित स्पष्टीकरण दीजिए। ;पद्ध 1.ब्रोमोब्यूटेन ;पपद्ध 2.ब्रोमोब्यूटेन ;पपपद्ध 2.ब्रोमो.2.मेथ्िालप्रोपेन ;पअद्ध 2.क्लोरोब्यूटेन 63ण् ऐरिल हैलाइडों को र्दब्सकी उपस्िथति में पफीनाॅलों की़भ्ब्स के साथ अभ्िावि्रफया द्वारा क्यों नहीं बनाया2 जा सकता? 153 हैलोऐल्केन तथा हैलोऐरीन 64ण् निम्नलिख्िात यौगिकों में से किसकी ै1 अभ्िावि्रफया दु्रतगामी होगी और क्यों?छ;कद्ध ;खद्ध 65ण् ऐलिल क्लोराइड द.प्रोपिल क्लोराइड की अपेक्षा अध्िक आसानी से क्यों जलअपघटित होता है? 66ण् ग्रीन्यार अभ्िाकमर्क के उपयोग में लेशमात्रा नमी भी न होना क्यों आवश्यक है? 67ण् ै1 वि्रफयाविध्ि के प्रथम चरण में ध््रुवीय विलायक किस प्रकार सहायता करते हैं? छ68ण् अणु में द्विआबंध् की उपस्िथति ज्ञात करने के लिए एक परीक्षण लिख्िाए। 69ण् डाइपेफनिल पयार्वरण के लिए शक्ितशाली खतरा होते हैं। यह ऐल्िकलहैलाइडों से वैफसे बनते हैं? 70ण् कीटनाशी डी.डी.टी. और बेन्जीनहैक्साक्लोराइड के प्न्च्।ब् नाम क्या हैं? इनका भारत और अन्य देशों में प्रयोग प्रतिबंिात क्यों हैं? 71ण् ऐल्िकल हैलाइडों में निराकरण अभ्िावि्रफयाएँ ;विशेषकर β.निराकरणद्ध उतनी ही सामान्य हैं जितनी प्रतिस्थापन अभ्िावि्रफयाएँ। दोनों के अभ्िाकमर्कों का उल्लेख कीजिए। 72ण् ऐनिलीन से आप मोनोब्रोमोबेन्जीन वैफसे प्राप्त करेंगे? 73ण् ऐरिल हैलाइड नाभ्िाकरागी प्रतिस्थापन के प्रति अत्यंत कम वि्रफयाशील होते हैं। निम्नलिख्िात यौगिकों की नाभ्िाकरागी प्रतिस्थापन के प्रति अभ्िावि्रफयाशीलता का व्रफम लिख्िाए और विवेचना कीजिए। ;प्द्ध;प्प्द्ध ;प्प्प्द्ध 74ण् जमतज.ब्यूटिलब्रोमाइड जलीय छंव्भ् के साथ ै1 वि्रफयाविध्ि से अभ्िावि्रफया करता है, जबकि छ द.ब्यूटिलब्रोमाइड ै2 वि्रफयाविध्ि द्वारा अभ्िावि्रफया करता है। क्यों?छ75ण् आइसोब्यूटिलीन में भ्ब्स मिलने पर कौन - सा प्रमुख उत्पाद बनेगा। निहित वि्रफयाविध्ि को समझाइए। 76ण् हैलोएरीनों के ब्दृग् आबंध् की प्रवृफति की विवेचना कीजिए। 77ण् यदि प्रयोगशाला में छंप् के अतिरिक्त कोइर् भी आयोडीन युक्त यौगिक उपलब्ध् न हो तो आप ऐथेनाॅल से आयोडोएथेन वैफसे बनाएँगे? 78ण् सायनाइड आयन उभदंती नाभ्िाकरागी के समान वि्रफया करता है। जलीय माध्यम में यह किस छोर से प्रबलनाभ्िाकरागी का कायर् करता है? अपने उत्तर का कारण दीजिए। प्टण् सुमेलन प्ररूप प्रश्न नोट - निम्नलिख्िात प्रश्नों में काॅलम प् और काॅलम प्प् के मदों को सुमेलित कीजिए। 79ण् काॅलम प् में दिए यौगिकों को काॅलम प्प् में दिए प्रभावों से सुमेलित कीजिए। काॅलम प् काॅलम प्प् ;पद्ध क्लोरएम्िपफनिकाॅल ;ंद्ध मलेरिया ;पपद्ध थायराॅक्िसन ;इद्ध संज्ञाहारी ;पपपद्ध क्लोरोक्वीन ;बद्ध टाइपफाइड बुखार ;पअद्ध क्लोरोपफामर् ;कद्ध गलगंड ;मद्ध रक्त प्रतिस्थापी 80ण् काॅलम प् और काॅलम प्प् के मदों को सुमेलित कीजिए। काॅलम प् काॅलम प्प् ;पद्ध ै1 अभ्िावि्रफया ;ंद्ध विस - डाइब्रोमाइडछ;पपद्ध अग्िनशामक में रसायन ;इद्ध जेम - डाइहैलाइड ;पपपद्ध एल्कीनों का ब्रोमीनन ;बद्ध रेसिमीकरण ;पअद्ध ऐल्िकलिडीन हैलाइड ;कद्ध सेटशेपफ नियम ;अद्ध एल्िकल हैलाइड से भ्ग् का निकलना ;मद्ध क्लोरोब्रोमोकाबर्न 81ण् काॅलम प् में दी गइर् सरंचनाओं को काॅलम प्प् में दिए गए यौगिकों के वगर् से सुमेलित कीजिए। काॅलम प् काॅलम प्प् ;पद्ध ;ंद्ध ऐरिल हैलाइड ;पपद्ध ब्भ्त्रत्रब्भ्कृब्भ्कृग् ;इद्ध ऐल्िकल हैलाइड2 2;पपपद्ध ;बद्ध वाइनिल हैलाइड ;पअद्ध ब्भ्त्रत्र ब्भ्कृग् ;कद्ध ऐलिल हैलाइड2 82ण् काॅलम प् में दी गइर् अभ्िावि्रफयाओं को काॅलम प्प् में दिए गए अभ्िावि्रफया के प्रकारों से सुमेलित कीजिए। काॅलम प् काॅलम प्प् ;ंद्ध नाभ्िाकरागी ऐरोमेटिक प्रतिस्थापन;पद्ध ;पपद्ध ब्भ्कृब्भ्त्रत्र ब्भ़् भ्ठत ⎯→ ;इद्ध इलेक्ट्राॅनरागी32 ऐरोमेटिक प्रतिस्थापन ;बद्ध सेटशेपफ निराकरण ;कद्ध इलेक्ट्राॅनरागी योगज ;मद्ध नाभ्िाकरागी प्रतिस्थापन ;ै1द्धछ83ण् काॅलम प् में दी गइर् संरचनाओं को काॅलम प्प् में दिए गए नामों से सुमेलित कीजिए। काॅलम प् काॅलम प्प् ;पद्ध ;ंद्ध 4.ब्रोमोपेन्ट.2.इर्न ;पपद्ध ;इद्ध 4.ब्रोमो.3.मेथ्िालपेन्ट.2.इर्न ;पपपद्ध ;बद्ध 1.ब्रोमो.2.मेथ्िालब्यूट.2.इर्न ;पअद्ध ;कद्ध 1.ब्रोमो.2.मेथ्िालपेन्ट.2.इर्न 84ण् काॅलम प् में दी गइर् संरचनाओं को काॅलम प्प् में दिए गए नामों से सुमेलित कीजिए। काॅलम प् काॅलम प्प् ;ंद्ध पिफटिग अभ्िावि्रफया ;पपद्ध़ 2छंग् ;इद्ध वुट्र्श पिफटिग अभ्िावि्रफया ;पपपद्ध ;बद्ध पिंफकेलस्टाइन अभ्िावि्रफया शष्ुक एसेीटाने;पअद्ध ब्भ् ब्स ़छंप् ⎯⎯⎯⎯⎯⎯⎯→ब्भ् प् ़छंब्स ;कद्ध सैंडमायर अभ्िावि्रफया 25 25 टण् अभ्िाकथन एवं तवर्फ प्ररूप प्रश्न निम्नलिख्िात प्रश्नों में अभ्िाकथन और तवर्फ के कथन दिए हैं। प्रत्येक प्रश्न के नीचे लिखे विकल्पों में से सही विकल्प का चयन कीजिए। ;पद्ध अभ्िाकथन और तवर्फ दोनों सही हैं और तवर्फ अभ्िाकथन का सही स्पष्टीकरण है। ;पपद्ध अभ्िाकथन और तवर्फ दोनों ही गलत कथन हैं। ;पपपद्ध अभ्िाकथन सही है परन्तु तवर्फ गलत कथन है। ;पअद्ध अभ्िाकथन गलत है परन्तु तवर्फ सही कथन है। ;अद्ध अभ्िाकथन और तवर्फ दोनों सही कथन हैं परन्तु तवर्फ अभ्िाकथन का सही स्पष्टीकरण नहीं है। 85ण् अभ्िाकथन - ऐल्कोहाॅल से ऐल्िकल क्लोराइड बनाने के लिए प़्ाफाॅस्प़्ाफोरस क्लोराइडों ;ट्राइ एवं पेन्टाद्ध को थायोनिल क्लोराइड के स्थान पर वरीयता दी जाती है। तवर्फ - प़्ाफाॅस्प़्ाफोरस क्लोराइड शु( ऐल्िकल हैलाइड देते हैं। 86ण् अभ्िाकथन - ऐल्िकल हैलाइडों के क्वथनांक के घटने का व्रफम है - त्प् झ त्ठत झ त्ब्स झ त्थ् तवर्फ - ऐल्िकल क्लोराइडों, ब्रोमाइडों और आयोडाइडों के क्वथनांक लगभग समान अणु द्रव्यमान के हाइड्रोकाबर्न से उच्च होते हैं। 87ण् अभ्िाकथन - ज्ञब्छ मेथ्िाल क्लोराइड से अभ्िावि्रफया करके मेथ्िाल आइसोसायनाइड देता है। दृतवर्फ - ब्छ एक उभदंती नाभ्िाकरागी है। 88ण् अभ्िाकथन - जमतज.ब्यूटिल ब्रोमाइड वुट्र्ज अभ्िावि्रफया द्वारा 2ए 2ए 3ए 3.टेट्रामेथ्िालब्यूटेन देता है। तवर्फ - वुटर्श अभ्िावि्रफया में ऐल्िकल हैलाइड शुष्क इर्थर में सोडियम से अभ्िावि्रफया करते हैं और हैलाइड में उपस्िथत काबर्न परमाणुओं की संख्या से दुगनी संख्या वाला हाइड्रोकाबर्न बनाते हैं। 89ण् अभ्िाकथन - आॅथोर् और पेरा स्िथतियों पर नाइट्रो समूह की उपस्िथति हैलोऐरीनों की नाभ्िाकरागी प्रतिस्थापन के प्रति वि्रफयाशीलता बढ़ा देती है। तवर्फ - नाइट्रो समूह इलेक्ट्राॅन अपनयक समूह होने के कारण बेन्शीन वलय पर इलेक्ट्राॅन का घनत्व कम कर देता है। 90ण् अभ्िाकथन - मोनोहैलोएरीनों में अगला इलेक्ट्राॅनरागी प्रतिस्थापन आॅथोर् और पेरा स्िथतियों पर होता है। तवर्फ - हैलोजन परमाणु वलय को निष्िव्रफय करता है। 91ण् अभ्िाकथन - ऐरिल आयोडाइडों को ऐरीनों की आक्सीकरण कमर्क की उपस्िथति में आयोडीन से अभ्िावि्रफया द्वारा बनाया जा सकता है। तवर्फ - आक्सीकरण कमर्क आयोडीन को भ्प् में आक्सीवृफत कर देता है। 92ण् अभ्िाकथन - क्लोरोएथेन की अपेक्षा क्लोरोबेन्जीन की क्लोरीन को दृव्भ् द्वारा प्रतिस्थापित करना कठिन है। तवर्फ - अनुनाद के कारण क्लोरोबेन्जीन के ब्कृब्स आबंध् में आंश्िाक द्विआबंध् गुण आ जाता है। 93ण् अभ्िाकथन - ;दृद्धदृ2.ब्रोमोआॅक्टेन का जलअपघटन विन्यास के प्रतिलोमन के साथ बढ़ता है। तवर्फ - यह अभ्िावि्रफया काबर्ध्नायन बनने ;काबोर्वैफटायनद्ध के द्वारा अग्रगामी होती है। 94ण् अभ्िाकथन - क्लोरोबेन्जीन के नाइट्रोकरण से उ.नाइट्रोक्लोरोबेन्जीन बनती है। तवर्फ - कृछव्समूह उ.निदेर्शक समूह है।2 टप्ण् दीघर् उत्तर प्रश्न 95ण् क्षारों के साथ वुफछ ऐल्िकलहैलाइड प्रतिस्थापन अभ्िावि्रफयाएँ देते हैं जबकि वुफछ निराकरण अभ्िावि्रफयाएँ। उदाहरणों की सहायता से ऐल्िकल हैलाइडों के उन संरचनात्मक गुणों की विवेचना कीजिए जो इस अन्तर का कारण हैं। 96ण् वुफछ हैलोजन युक्त यौगिक दैनिक जीवन में उपयोगी हैं। इस वगर् के वुफछ यौगिक पेड़ - पौधें और जीव - जन्तुओं के पराबैंगनी प्रकाश से अध्िकाध्िक उदभासन ;मगचवेनतमद्ध के लिए उत्तरदायी होते हैं जिससे अत्यध्िक विनाश होता है। इन हैलोयौगिकों के वगर् का नाम लिख्िाए। आपके विचार से इन यौगिकों के हानिकारक प्रभाव को कम करने के लिए क्या करना चाहिए। 97ण् ऐरिल हैलाइड ऐल्िकल हैलाइडों की अपेक्षा नाभ्िाकरागी प्रतिस्थापन के प्रति कम वि्रफयाशील क्यों होते हैं? हम ऐरिल हैलाइडों की वि्रफयाशीलता वैफसे बढ़ा सकते हैं? प्ण् बहुविकल्प प्रश्न ;प्ररूप - प्द्ध 1ण् ;पपद्ध 2ण् ;पअद्ध 3ण् ;पद्ध 4ण् ;पपद्ध 5ण् ;पद्ध 6ण् ;पद्ध 7ण् ;पद्ध 8ण् ;पपपद्ध, ;ंद्ध का क्वथनांक 364 ज्ञ ;इद्ध का क्वथनांक 375 ज्ञए ;बद्ध का क्वथनांक 346 ज्ञ 9ण् ;पपद्ध 10ण् ;पद्ध, संकेत - सभी अणुओं के माॅडल बनाइए और ;पद्ध से ;पअद्ध तक अणुओं को अणु ;।द्ध पर अध्यारोपित करके देख्िाए। 11ण् ;पपद्ध 12ण् ;पद्ध 13ण् ;पपद्ध 14ण् ;पपद्ध 15ण् ;पपपद्ध 16ण् ;पपद्ध 17ण् ;पअद्ध 18ण् ;पपपद्ध 19ण् ;पपद्ध 20ण् ;पअद्ध 21ण् ;पपपद्ध 22ण् ;पद्ध 23ण् ;पद्ध, संकेत - ब्भ्5 ब् ⊕ भ्स्थायित्व प्राप्त ध्नायन है अतः अभ्िावि्रफया के अग्रसारण के लिए ैछ162 वि्रफयाविध्ि अनुवूफल होती है। 24ण् ;पपद्ध 25ण् ;पद्ध 26ण् ;पपपद्ध 27ण् ;पअद्ध 28ण् ;पअद्ध 29ण् ;पपपद्ध 30ण् ;पद्ध 31ण् ;पअद्ध प्प्ण् बहुविकल्प प्रश्न ;प्ररूप - प्प्द्ध 32ण् ;पद्धए ;पपपद्ध 33ण् ;पद्धए ;पपद्ध 34ण् ;पद्धए ;पअद्ध 35ण् ;पद्धए ;पअद्ध 36ण् ;पद्धए ;पपपद्ध 37ण् ;पद्धए ;पअद्ध 38ण् ;पद्धए ;पपपद्ध 39ण् ;पद्धए ;पपपद्ध 40ण् ;पद्धए ;पपपद्ध 41ण् ;पद्धए ;पअद्ध 42ण् ;पद्धए ;पपद्ध 43ण् ;पपद्धए ;पपपद्ध प्प्प्ण् लघु उत्तर प्रश्न 44ण् आयोडीनन अभ्िावि्रफयाएँ उत्व्रफमणीय होती हैं। अभ्िावि्रफयाओं को अग्र दिशा में बढ़ाने के लिए अभ्िावि्रफया से बने भ्प् को आक्सीकरण द्वारा हटाया जाता है, भ्प्व्को आॅक्सीकरण कमर्क की4 तरह प्रयुक्त किया जाता है। 45ण् पेरा - डाइब्रोमोबेन्जीन का गलनांक आॅथोर् - समावयवी से उच्च होता है। यह पेरा - समावयवी की सममिति के कारण होता है जो आॅथोर् - समावयवी की अपेक्षा वि्रफस्टल जालक में ठीक बैठ जाती है। 46ण् ब्6भ्5कृब्भ्2कृब्स 47ण् स्वतंत्रा आयोडीन निकलने के कारण। 48ण् एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 49ण् एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 50ण् ;खद्धए क्योंकि ;खद्ध में अनुनाद के कारण ब्दृव् आबंध् अध्िक स्थायी है। 51ण् अभ्िावि्रफया का मुख्य उत्पाद ष्खष् होगा। स्पष्टीकरण के लिए माकोर्नीकाॅपफ नियम देखें। एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 11 की पाठ्यपुस्तक का सेक्शन 13ण्3ण्5 पढ़ें। 52ण् एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 53ण् आॅथोर् और पेरा स्िथतियों पर इलेक्ट्राॅन घनत्व बढ़ने के कारण आॅथो± - पेरा निदशर्क। ;अनुनाद संरचनाओं के लिए एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखेंद्ध 54ण् ;पद्ध प्राथमिक ;पपद्ध द्वितीयक ;पपपद्ध तृतीयक 55ण् ;पद्ध यौगिक ‘क’ - यौगिक ‘ख’ - ;पपद्ध यौगिक ‘ख’ 56ण् 58ण् प्प्ए पेरा स्िथतियों की सममिति के कारण यह वि्रफस्टल जालक में दूसरे समावयवों की अपेक्षा अिाक अच्छी प्रकार से ठीक बैठता है। 59ण् य 1.ब्रोमो.2ए2.डाइमेथ्िालप्रोपेन 60ण् ब्भ्ए पेन्टेन का अणु द्रव्यमान 72 ह उवसदृ1 है यानी पेन्टेन के उस समावयवी में जो एक512मोनोक्लोरो - व्युत्पन्न बनाता है, सभी 12 हाइड्रोजन एकसमान होने चाहिए। अतः हाइड्रोकाबर्न है - मोनोक्लोरो व्युत्पन्न डाइक्लोरो व्युत्पन्न ;पद्ध ;पपद्ध 61ण् 62ण् ;पपपद्धए अभ्िावि्रफया में बना तृतीयक काबर्ध्नायन स्थायी है। 63ण् प़्ाफीनाॅलों में अनुनाद के कारण ब्कृव् आबंध् अध्िक स्थायी होता है और इसमें द्विआबंध् गुण आ जाता है अतः इस आबंध् को तोड़ना कठिन होता है। दृ64ण् ;कद्ध की अपेक्षा ;खद्ध अध्िक तीव्रता से ै1अभ्िावि्रफया देगा क्योंकि ब्सके निकलने के पश्चातछ;खद्ध से बना काबर्धनायन अनुनाद द्वारा स्थायित्व प्राप्त कर लेता है जबकि ;कद्ध से प्राप्त काबर्धनायन में ऐसा स्थायित्व संभव नहीं है। 65ण् ऐलिल क्लोराइड अध्िक अभ्िावि्रफयाशीलता प्रदश्िार्त करता है क्योंकि जलअपघटन से बना काबर्धनायन अनुनाद द्वारा स्थायित्व प्राप्त कर लेता है जबकि द.प्रोपिल क्लोराइड से बने काबर्धनायन में ऐसा स्थायित्व नहीं होता। 66ण् ग्रीन्यार अभ्िाकमर्क अत्यध्िक वि्रफयाशील होते हैं और जल से अभ्िावि्रफया करके संगत हाइड्रोकाबर्न देते हैं? त्डहग् ़ भ्व् ⎯→ त्भ् ़ डह;व्भ्द्धग्267ण् संकेत - काबर्ध्नायन का विलायकयोजन 68ण् संकेत - ;1द्ध ब्रोमीन जल से असंतृप्तता का परीक्षण ;2द्ध बेअर परीक्षण। 69ण् एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 70ण् एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 71ण् एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 72ण् एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 73ण् प्प्प् झ प्प् झ प् 74ण् एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। इस अभ्िावि्रफया की वि्रफयाविध्ि निम्नलिख्िात है। चरण प् चरण प्प् 76ण् संकेत - ध्ु्रवीय प्रवृफति और ब्कृग् आबंध् के स्थायित्व की विवेचना कीजिए। 77ण् संकेत - 78ण् संकेत - यह काबर्न की ओर से प्रबल नाभ्िाकरागी का कायर् करता है क्योंकि इसमें ब्दृब् बंध् बनता है जो ब्दृछ बंध् से अध्िक स्थायी होता है। प्टण् सुमेलन प्ररूप प्रश्न 79ण् ;पद्ध→ ;बद्ध;पपद्ध→ ;कद्ध;पपपद्ध→;ंद्ध;पअद्ध→;इद्ध 80ण् ;पद्ध→ ;बद्ध;पपद्ध → ;मद्ध;पपपद्ध → ;ंद्ध;पअद्ध → ;इद्ध;अद्ध → ;कद्ध 81ण् ;पद्ध→ ;इद्ध;पपद्ध → ;कद्ध;पपपद्ध → ;ंद्ध;पअद्ध → ;बद्ध 82ण् ;पद्ध→ ;इद्ध;पपद्ध → ;कद्ध;पपपद्ध → ;मद्ध;पअद्ध → ;ंद्ध;अद्ध→ ;बद्ध 83ण् ;पद्ध→ ;ंद्ध;पपद्ध → ;बद्ध;पपपद्ध → ;इद्ध;पअद्ध → ;कद्ध 84ण् ;पद्ध→ ;इद्ध;पपद्ध → ;ंद्ध;पपपद्ध → ;कद्ध;पअद्ध → ;बद्ध टण् अभ्िाकथन एवं तवर्फ प्ररूप प्रश्न 85ण् ;पपद्ध 86ण् ;अद्ध 87ण् ;पअद्ध 88ण् ;पद्ध 89ण् ;पद्ध 90ण् ;अद्ध 91ण् ;पपपद्ध 92ण् ;पद्ध 93ण् ;पपपद्ध 94ण् ;पअद्ध टप्ण् दीघर् उत्तर प्रश्न 95ण् संकेत - प्राथमिक ऐल्िकल हैलाइड ै2 वि्रफयाविध्ि से प्रतिस्थापन को वरीयता देते हैं जबकिछ तृतीयक हैलाइड स्थायी काबर्ध्नायन बनने के कारण निराकरण अभ्िावि्रफया देते हैं। 96ण् संकेत - एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 97ण् संकेत - एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें।

RELOAD if chapter isn't visible.