प्ण् बहुविकल्प प्रश्न ;प्ररूप.प्द्ध 1ण् टाॅलूइर्न के सूयर् के प्रकाश में मोनोक्लोरीनन के पश्चात जलीय छंव्भ् द्वारा अपघटन से ऋऋऋऋऋऋऋऋऋ बनेगा। ;पद्ध व.व्रफीसाॅल ;पपद्ध उ.व्रफीसाॅल ;पपपद्ध 2ए 4.डाइहाइड्राॅक्सीटाॅलूइर्न ;पअद्ध बेन्िशल ऐल्कोहाॅल 2ण् अणु सूत्रा ब्भ्व् वाली कितनी ऐल्कोहाॅल प्रवृफति में काइरल होंगी?410;पद्ध 1 ;पपद्ध 2 ;पपपद्ध 3 ;पअद्ध 4 3ण् निम्नलिख्िात अभ्िावि्रफया में ऐल्कोहाॅलों की वि्रफयाशीलता का कौन - सा व्रफम सही है? र्दब्सत्कृव्भ् ़ भ्ब्स ⎯⎯⎯⎯→ त्कृब्स ़ भ्2व्2 ;पद्ध 1° झ 2° झ 3° ;पपद्ध 1° ढ 2° झ 3° ;पपपद्ध 3° झ 2° झ 1° ;पअद्ध 3° झ 1° झ 2° 4ण् ब्भ्ब्भ्व्भ् को ब्भ्ब्भ्व् में ऋऋऋऋऋऋऋऋऋ द्वारा परिवतिर्त किया जा सकता है।323;पद्ध उत्प्रेरकीय हाइड्रोजनन ;पपद्ध स्प।सभ्से अभ्िावि्रफया4 ;पपपद्ध पिरिडिनियम क्लोरोव्रफोमेट से अभ्िावि्रफया ;पअद्ध ज्ञडदव्से अभ्िावि्रफया4 5ण् ऐल्िकल हैलाइडों को ऐल्कोहाॅलों में परिवतिर्त करने की प्रवि्रफया में ऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋ निहित होती है। ;पद्ध योगज अभ्िावि्रफया ;पपद्ध प्रतिस्थापन अभ्िावि्रफया ;पपपद्ध विहाइड्रोहैलोजनन अभ्िावि्रफया ;पअद्ध पुनविर्न्यास अभ्िावि्रफया 6ण् निम्नलिख्िात में से कौन - सा यौगिक ऐरोमेटिक ऐल्कोहाॅल है? ;पद्ध ।ए ठए ब्ए क् ;पपद्ध ।ए क् ;पपपद्ध ठए ब् ;पअद्ध । 7ण् निम्नलिख्िात यौगिक का प्न्च्।ब् नाम दीजिए। ;पद्ध 2.क्लोरो.5.हाइड्राॅक्सीहेक्सेन ;पपद्ध 2.हाइड्राॅक्सी.5.क्लोरोहेक्सेन ;पपपद्ध 5.क्लोरोहेक्सेन.2.आॅल ;पअद्ध 2.क्लोरोहेक्सेन.5.आॅल 8ण् उ.व्रफीसाॅल का प्न्च्।ब् नाम है ऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋ। ;पद्ध 3.मेथ्िालप़्ाफीनाॅल ;पपद्ध 3.क्लोरोपफीनाॅल़;पपपद्ध 3.मेथाॅक्सीप़्ाफीनाॅल ;पअद्ध बेन्जीन.1ए3.डाइआॅल 9ण् यौगिक का प्न्च्।ब् नाम है ऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋ। ;पद्ध 1.मेथाॅक्सी.1.मेथ्िालएथेन ;पपद्ध 2.मेथाॅक्सी.2.मेथ्िालएथेन ;पपपद्ध 2.मेथाॅक्सीप्रोपेन ;पअद्ध आइसोप्रोपिलमेथ्िाल इर्थर 10ण् निम्नलिख्िात में से कौन - सी स्पीशीश प्रबलतम क्षार की तरह कायर् कर सकती है? 11ण् निम्नलिख्िात में से कौन - सा यौगिक सोडियम हाइड्राॅक्साइड के जलीय विलयन के साथ अभ्िावि्रफया करेगा? ;पद्ध ब्भ्व्भ्;पपद्ध ब्भ्ब्भ्व्भ्ट;पद्ध व्भ् ;पपद्ध टव्त् ;पपपद्ध टव् ब्6भ्5 65652;पपपद्ध;ब्भ्द्ध ब्व्भ्33;पअद्ध ब्भ्व्भ्2512ण् पफीनाॅल़ऋऋऋऋऋऋऋऋ से कम अम्लीय है। ;पद्ध एथेनाॅल ;पपद्ध व.नाइट्रोप़्ाफीनाॅल ;पपपद्ध व.मेथ्िालप़्ाफीनाॅल ;पअद्ध व.मेथाॅक्सीपफीनाॅल़13ण् निम्नलिख्िात में से कौन - सा अध्िकतम अम्लीय है? ;पद्ध बेन्िजल ऐल्कोहाॅल ;पपद्ध साइक्लोहेक्सेनाॅल ;पपपद्धपफीनाॅल़;पअद्ध उ.क्लोरोपफीनाॅल़14ण् निम्नलिख्िात यौगिकों की घटती अम्ल प्रबलता के सही व्रफम पर निशान लगाइए। ;पद्ध म झ क झ इ झ ं झ ब ;पपद्ध इ झ क झ ं झ ब झ म ;पपपद्ध क झ म झ ब झ इ झ ं ;पअद्ध म झ क झ ब झ इ झ ं 15ण् निम्नलिख्िात यौगिकों की भ्ठतध्भ्ब्स के साथ बढ़ती हुइर् वि्रफयाशीलता के सही व्रफम पर निशान लगाइए। ;पद्ध ं ढ इ ढ ब ;पपद्ध इ ढ ं ढ ब ;पपपद्ध इ ढ ब ढ ं ;पअद्ध ब ढ इ ढ ं 16ण् निम्नलिख्िात यौगिकों को बढ़ते हुए क्वथनांक के व्रफम में व्यवस्िथत कीजिए। प्रोपेन.1.आॅलए ब्यूटेन.1.आॅलए ब्यूटेन.2.आॅलए पेन्टेन.1.आॅल ;पद्ध प्रोपेन.1.आॅलए ब्यूटेन.2.आॅलए ब्यूटेन.1.आॅलए पेन्टेन.1.आॅल ;पपद्ध प्रोपेन.1.आॅलए ब्यूटेन.1.आॅलए ब्यूटेन.2.आॅलए पेन्टेन.1.आॅल ;पपपद्ध पेन्टेन.1.आॅलए ब्यूटेन.2.आॅलए ब्यूटेन.1.आॅलए प्रोपेन.1.आॅल ;पअद्ध पेन्टेन.1.आॅलए ब्यूटेन.1.आॅलए ब्यूटेन.2.आॅलए प्रोपेन.1.आॅल प्प्ण् बहुविकल्प प्रश्न ;प्ररूप.प्प्द्ध नोट - निम्नलिख्िात प्रश्नों में दो या इससे अध्िक विकल्प सही हो सकते हैं। 17ण् निम्नलिख्िात में से कौन - से त्ब्भ्व् को त्ब्भ्व्भ् में परिवतिर्त करने के लिए प्रयुक्त होते हैं?2;पद्ध भ्ध्च्क;पपद्ध स्प।सभ्24 ;पपपद्ध छंठभ्4 ;पअद्ध त्डहग् के साथ अभ्िावि्रफया के पश्चात जल अपघटन 18ण् निम्नलिख्िात में से किन वि्रफयाओं में प़्ाफीनाॅल प्राप्त होगा? ;पद्ध ;पपद्ध ;पपपद्ध ;पअद्ध 19ण् प्राथमिक ऐल्कोहाॅलों को ऐल्िडहाइडों में आॅक्सीवृफत करने के लिए निम्नलिख्िात में से कौन - से अभ्िाकमर्क प्रयुक्त होते हैं? 20ण् पफीनाॅल और ऐथेनाॅल में़ऋऋऋऋऋऋऋऋ के साथ अभ्िावि्रफया द्वारा विभेद किया जा सकता है। ;पद्ध ठतध्जल;पपद्ध छं ;पपपद्ध उदासीन थ्मब्स;पअद्ध उपरोक्त सभी 21ण् निम्नलिख्िात में से कौन - से बेन्िशलिक ऐल्कोहाॅल हैं? ;पद्ध ब्भ्कृब्भ्कृब्भ्व्भ्;पपद्ध ब्भ्कृब्भ्व्भ्;पद्ध निजर्लीय माध्यम में ब्तव्3 ;पपद्ध अम्लीय माध्यम में ज्ञडदव्4 ;पपपद्ध पिरीडिनियम क्लोरोव्रफोमेट ;पअद्ध ब्न की उपस्िथति में 573ज्ञ पर तापन 23 6522652;पपपद्ध ;पअद्ध प्प्प्ण् लघु उत्तर प्रश्न 22ण् ग्िलसराॅल की संरचना और प्न्च्।ब् नाम क्या है? 23ण् निम्नलिख्िात यौगिकों के प्न्च्।ब् नाम लिख्िाए। ;कद्ध ;खद्ध 24ण् निम्नलिख्िात यौगिक का प्न्च्।ब् नाम लिख्िाए। 25ण् ऐल्कोहाॅलों के जल में विलयन के लिए उत्तरादायी कारकों के नाम लिख्िाए। 26ण् विवृफत ऐल्कोहाॅल क्या होती है? 27ण् निम्नलिख्िात परिवतर्न के लिए एक अभ्िाकमर्क का सुझाव दीजिए। 28ण् ऐथेनाॅल और 2.क्लोरोऐथेनाॅल में से कौन - सा अध्िक अम्लीय है और क्यों? 29ण् ऐथेनाॅल के ऐथेनैल में परिवतर्न के लिए एक अभ्िाकमर्क का सुझाव दीजिए। 30ण् ऐथेनाॅल के ऐथेनाॅइक अम्ल में परिवतर्न के लिए एक अभ्िाकमर्क का सुझाव दीजिए। 31ण् व.नाइट्रोप़्ाफीनाॅल और च.नाइट्रोपफीनाॅल में से कौन - सा अध्िक वाष्पशील है? स्पष्ट कीजिए।़32ण् व.नाइट्रोप़्ाफीनाॅल और व.व्रफीसाॅल मंे से कौन - सा अध्िक अम्लीय है? 33ण् प़्ाफीनाॅल को ब्रोमीन जल से अभ्िावृफत करने पर श्वेत अवक्षेप प्राप्त होता है। बनने वाले यौगिक का नाम और संरचना लिख्िाए। 34ण् निम्नलिख्िात यौगिकों को अम्लता के बढ़ते हुए व्रफम में व्यवस्िथत कीजिए और उपयुक्त स्पष्टीकरण लिख्िाए। प़्ाफीनाॅलए व.नाइट्रोप़्ाफीनाॅलए व.व्रफीसाॅल 169 ऐल्कोहाॅल, प़्ाफीनाॅल एवं इर्थर 35ण् ऐल्कोहाॅल, सवि्रफय धतु, उदाहरणाथर् छंए ज्ञ इत्यादि से अभ्िावि्रफया करके संगत ऐल्काॅक्साइड बनाती हैं। सोडियम धतु की प्राथमिक, द्वितीयक और तृतीयक ऐल्कोहाॅलों के प्रति घटती हुइर् अभ्िावि्रफया के व्रफम को लिख्िाए। 36ण् बेन्जीन डाइशोनियम क्लोराइड को जल के साथ गरम करने से क्या होता है? 37ण् निम्नलिख्िात यौगिकों को घटती हुइर् अम्लता के व्रफम में व्यवस्िथत कीजिए। भ्2व्ए त्व्भ्ए भ्ब् ≡ ब्भ् 38ण् एथेनाॅल के सूव्रफोस से किणवन द्वारा विरचन में प्रयुक्त होने वाले एन्शाइम का नाम और निहित अभ्िावि्रफयाएँ लिख्िाए। 39ण् प्रोपेन.2.ओन को तृतीयक - ब्युटिल ऐल्कोहाॅल में वैफसे परिवतिर्त किया जा सकता है? 40ण् ब्भ्व् अणुसूत्रा वाली ऐल्कोहाॅलों के समावयवों की संरचनाएँ लिख्िाए। इनमें से कौन - सी ध्ु्रवण410घूणर्कता प्रदश्िार्त करती है? 41ण् स्पष्ट कीजिए कि पफीनाॅलों का़व्भ् समूह ऐल्कोहाॅलों के व्भ् समूह से अध्िक मजबूती से क्यों आबंिात रहता है। ़42ण् स्पष्ट कीजिए कि पफीनाॅलों में नाभ्िाकरागी प्रतिस्थापन अभ्िावि्रफयाएँ सामान्यतः बहुत अध्िक क्यों नहीं होतीं? 43ण् ऐल्कीनों के ऐल्कोहाॅलों से विरचन में ऐल्कीन के काबर्न परमाणु पर इलेक्ट्राॅनरागी आव्रफमण होता है। इसकी वि्रफयाविध्ि स्पष्ट कीजिए। 44ण् स्पष्ट कीजिए कि क्यों व्त्रत्रब्त्रत्रव् अध्ु्रवीय होता है जबकि त्कृव्कृत् ध्ु्रवीय होता है। 45ण् ऐल्कोहाॅलों के तीनों वगो± की सांद्र भ्ब्स और र्दब्स;ल्यूकास अभ्िाकमर्कद्ध के साथ अभ्िावि्रफयाशीलता 2 अलग - अलग क्यों है? 46ण् पफीनाॅल को ऐस्िपरिन में परिवतिर्त करने के चरणों को लिख्िाए।़47ण् नाइट्रोकरण ऐरोमेटिक इलेक्ट्राॅनरागी प्रतिस्थापन का एक उदाहरण है और इसकी दर बेन्जीन वलय पर पहले से ही उपस्िथत समूह पर निभर्र करती है। बेन्जीन और प़्ाफीनाॅल में से कौन - सा अध्िक आसानी से नाइट्रोवृफत होगा और क्यों? 48ण् कोल्बे अभ्िावि्रफया में पफीनाॅल के स्थान पर प़्ाफीनाॅक्साइड आयन की अभ्िावि्रफया काबर्न डाइआॅक्साइड वेफ़साथ की जाती है। क्यों? 49ण् पफीनाॅल का द्विध्ु्रव अघूणर् मेथेनाॅल से कम क्यों होता है?़50ण् इर्थरों को विलियम्सन संश्लेषण द्वारा प्राप्त किया जा सकता है जिसमें ऐल्िकल हैलाइडों को सोडियम ऐल्काॅक्साइड से अभ्िावृफत किया जाता है। इस विध्ि से डाइ - टशर्री - ब्युटिल इर्थर नहीं बनाइर् जा सकती। स्पष्ट कीजिए क्यों? 51ण् ऐल्कोहाॅलों में ब्कृव्कृभ् आबंध् कोण चतुष्पफलकीय कोण से थोड़ा सा कम होता है जबकि इर्थर में ब्कृव्कृब् आबंध् कोण थोड़ा सा अध्िक होता है। क्यों? 52ण् स्पष्ट कीजिए कि कम द्रव्यमान की ऐल्कोहाॅल जल में घुलनशील क्यों होती है? 53ण् स्पष्ट कीजिए कि च.नाइट्रोपफीनाॅल, प़़्ाफीनाॅल से अध्िक अम्लीय क्यों होती है? 54ण् स्पष्ट कीजिए कि संगत अणु द्रव्यमान की ऐल्कोहाॅलों और इर्थरों का क्वथनांक भ्िान्न क्यों होता है? 55ण् मेथेनाॅल की तुलना में प़्ाफीनाॅल का काबर्न - आॅक्सीजन आबंध् थोड़ा - सा अध्िक प्रबल क्यों होता है? 56ण् जल, एथेनाॅल और प़्ाफीनाॅल को अम्ल प्रबलता के बढ़ते व्रफम में व्यवस्िथत कीजिए और अपने उत्तर का कारण लिख्िाए। प्टण् सुमेलन प्ररूप प्रश्न नोट - निम्नलिख्िात प्रश्नों में काॅलम प् और काॅलम प्प् के मदों को सुमेलित कीजिए। 57ण् काॅलम प् में दी गइर् यौगिकों की संरचनाओं को काॅलम प्प् में दिए गए उनके नामों से सुमेलित कीजिए। काॅलम प् काॅलम प्प् ;ंद्ध हाइड्रोक्यूनोन ;पपद्ध ;इद्ध पेफनिटाॅल ;पपपद्ध ;बद्ध वैफटेकोल ;पअद्ध ;कद्ध व.व्रफीसाॅल ;अद्ध ;मद्ध क्िवनोन ;अपद्ध ;द्धि रिसाॅसिर्नाॅल ;हद्ध ऐनिसोल 58ण् काॅलम प् में दिए गए प्रारंभ्िाक यौगिकों की भ्प् से अभ्िावि्रफया में बनने वाले काॅलम प्प् में दिए गए उत्पादों से सुमेलन कीजिए। काॅलम प् काॅलम प्प् ;पद्ध ब्भ्कृव्कृब्भ् ;ंद्ध33 ;पपद्ध ;इद्ध ;पपपद्ध ;बद्ध ;पअद्ध ;कद्ध ब्भ्कृव्भ् ़ ब्भ्कृप्33;मद्ध ;द्धि ;हद्ध 59ण् काॅलम प् और काॅलम प्प् के मदों को सुमेलित कीजिए - काॅलम प् काॅलम प्प् ;पद्ध कार इंजन में प्रयुक्त होने वाला प्रतिहिम ;ंद्ध उदासीन पेफरिक क्लोराइड ;पपद्ध सुगंध् में प्रयुक्त होने वाला विलायक ;इद्ध ग्िलसराॅल ;पपपद्ध पिवि्रफक अम्ल का प्रारंभन पदाथर् ;बद्ध मेथेनाॅल ;पअद्ध काष्ठ स्िपरिट ;कद्धप़्ाफीनाॅल ;अद्धपफीनाॅलिक समूह के संसूचन के लिए़;मद्ध एथेलीनग्लाइकाॅल प्रयुक्त अभ्िाकमर्क ;अपद्ध साबुन उद्योग का अतिरिक्त उत्पाद ;द्धि एथेनाॅल जो वफांतिवध्र्कों में प्रयुक्त होता है 60ण् काॅलम प् और काॅलम प्प् के मदों को सुमेलित कीजिए - काॅलम प् काॅलम प्प् ;पद्ध मेथेनाॅल ;ंद्धपफीनाॅल का़व.हाइड्राॅक्सीसैलिसिलिक अम्ल में परिवतर्न ;पपद्ध कोल्बे अभ्िावि्रफया ;इद्ध एथ्िाल ऐल्कोहाॅल ;पपपद्ध विलियम्सन संश्लेषण ;बद्ध प़्ाफीनाॅल का सैलिसिलऐल्िडहाइड में परिवतर्न ;पअद्ध 2° ऐल्कोहाॅल का कीटोन में परिवतर्न ;कद्ध काष्ठ स्िपरिट ;अद्ध राइमर - टीमन अभ्िावि्रफया ;मद्ध 573ज्ञ पर तप्त काॅपर ;अपद्ध किणवन ;द्धि ऐल्िकल हैलाइड की सोडियम ऐल्काॅक्साइड के साथ अभ्िावि्रफया टण् अभ्िाकथन एवं तवर्फ प्ररूप प्रश्न नोट - निम्नलिख्िात प्रश्नों में अभ्िाकथन के पश्चात तवर्फ का कथन दिया है। निम्नलिख्िात विकल्पों में से सही विकल्प का चयन कीजिए। ;पद्ध अभ्िाकथन और तवर्फ दोनों सही हैं और तवर्फ अभ्िाकथन का सही स्पष्टीकरण है। ;पपद्ध अभ्िाकथन और तवर्फ दोनों ही गलत कथन हैं। ;पपपद्ध अभ्िाकथन सही है परन्तु तवर्फ गलत कथन है। ;पअद्ध अभ्िाकथन गलत है परन्तु तवर्फ सही कथन है। ;अद्ध अभ्िाकथन और तवर्फ दोनों सही कथन हैं परन्तु तवर्फ अभ्िाकथन का सही स्पष्टीकरण नहीं है। 173 ऐल्कोहाॅल, प़्ाफीनाॅल एवं इर्थर 61ण् अभ्िाकथन - अम्लीय माध्यम में ब्यूट.1.इर्न पर जल का योगज ब्युटेन.1.आॅल देता है। तवर्फ - अम्लीय माध्यम में जल की योगज अभ्िावि्रफया प्राथमिक काबर्ध्नायन के बनने के द्वारा आगे बढ़ती है। 62ण् अभ्िाकथन - पेरा - नाइट्रोप़्ाफीनाॅल, प़्ाफीनाॅल से अध्िक अम्लीय होती है। तवर्फ - ़नाइट्रो समूह अनुनाद द्वारा पफीनाॅक्साइड आयन के )ण आवेश का परिक्षेपण करके इसे स्थायित्व प्रदान करने में सहायता करता है। 63ण् अभ्िाकथन - यौगिक का प्न्च्।ब् नाम 2.एथाॅक्सी2.मेथ्िालएथेन है। तवर्फ - प्न्च्।ब् नामकरण में इर्थर को हाइड्रोकाबर्नों का व्युत्पन्न माना जाता है जिसमें हाइड्रोजन परमाणु कृव्त् अथवा कृव्।त समूह द्वारा प्रतिस्थापित होता है। ख्जहाँ त् त्र ऐल्िकल समूह और ।त त्र ऐरिल समूह, 64ण् अभ्िाकथन - इर्थरों में आबंध् कोण चतुष्पफलकीय कोण से थोड़ा सा कम होता है। तवर्फ - दो स्थूल ;कृत्द्ध समूहों के मध्य प्रतिकषर्ण होता है। 65ण् अभ्िाकथन - ऐल्कोहाॅलों और इर्थरों के क्वथनांक उच्च होते हैं। तवर्फ - वे अंतरा आण्िवक हाइड्रोजन आबंध् बना सकते हैं। 66ण् अभ्िाकथन - बेन्जीन के ब्रोमिनन की भांति ही प़्ाफीनाॅल का ब्रोमिनन भी लूइर्स अम्ल की उपस्िथति में किया जाता है। तवर्फ - लूइर्स अम्ल ब्रोमीन अणु को ध्ु्रवित कर देता है। 67ण् अभ्िाकथन - व.नाइट्रोपफीनाॅल़उ.और च.समावयवियों की अपेक्षा जल में कम घुलनशील होता है। तवर्फ - ़उ.और च.नाइट्रोपफीनाॅल संगुण्िात अणुओं के रूप में उपस्िथत होते हैं। 68ण् अभ्िाकथन - एथेनाॅल प़्ाफीनाॅल की तुलना में दुबर्ल अम्ल होता है। तवर्फ - सोडियम एथाॅक्साइड को एथेनाॅल की जलीय छंव्भ् से अभ्िावि्रफया द्वारा विरचित किया जा सकता है। ़2ए4ए6दृट्राइब्रोमोप़्69ण् अभ्िाकथन - काबर्न डाइसल्पफाइड माध्यम में 273ज्ञ पर पफीनाॅल ब्रोमीन से अभ्िावि्रफया द्वारा ाफीनाॅल बनाता है। तवर्फ - ब्रोमीन काबर्न डाइसल्पफाइड विलयन में ध्ु्रवित हो जाती है। 70ण् अभ्िाकथन - सांद्र भ्छव्और सांद्र भ्ैव्अम्लों के मिश्रण से नाइट्रोकरण में प़्ाफीनाॅल व.और3 24 च.नाइट्रोप़्ाफीनाॅल देता है। तवर्फ - ़पफीनाॅल में कृव्भ् समूह वदृए चदृ निदेर्शक होता है। टप्ण् दीघर् उत्तर प्रश्न 71ण् भ्प् की मेथाॅक्सीबेन्जीन से अभ्िावि्रफया की वि्रफयाविध्ि लिख्िाए। 72ण् ;कद्धप़्ाफीनाॅल के औद्योगिक उत्पादन में प्रयुक्त होने वाले प्रारंभ्िाक पदाथर् का नाम लिख्िाए। ;खद्धप़्ाफीनाॅल के जलीय और निजर्लीय माध्यम में ब्रोमीनन की संपूणर् अभ्िावि्रफया लिख्िाए। ;गद्ध स्पष्ट कीजिए कि प़्ाफीनाॅल के ब्रोमीनन में लूइर्स अम्ल की आवश्यकता क्यों नहीं होती? 73ण् प़्ाफीनाॅल को एस्िपरिन में वैफसे परिवतिर्त किया जा सकता है? 74ण् अपनी जानकारी के किसी यौगिक के औद्योगिक उत्पादन की ऐसी विध्ि का विवरण दीजिए जिसमें एक जैव उत्प्रेरक प्रयुक्त होता है। प्ण् बहुविकल्प प्रश्न ;प्ररूप - प्द्ध 1ण् ;पअद्ध 7ण् ;पपपद्ध 13ण् ;पअद्ध 2ण् ;पद्ध 8ण् ;पद्ध 14ण् ;पपद्ध 3ण् ;पपपद्ध 9ण् ;पपपद्ध 15ण् ;पपपद्ध 4ण् ;पपपद्ध 10ण् ;पपद्ध 16ण् ;पद्ध 5ण् ;पपद्ध 11ण् ;पद्ध 6ण् ;पपपद्ध 12ण् ;पपद्ध प्प्ण् बहुविकल्प प्रश्न ;प्ररूप - प्प्द्ध 17ण् ;पद्धए ;पपद्ध ए ;पपपद्ध 21ण् ;पपद्धए ;पपपद्ध 18ण् ;पद्धए ;पपद्धए ;पपपद्ध 19ण् ;पद्धए ;पपपद्धए ;पअद्ध 20ण् ;पद्धए ;पपपद्ध प्प्प्ण् लघु उत्तर प्रश्न 22ण्य प्रोपेन.1ए2ए3.ट्राइआॅल 23ण् ;कद्ध 3 - एथ्िाल - 5 - मेथ्िालहेक्सेन - 2, 4 - डाइआॅल ;खद्ध 1.मेथाॅक्सी.3.नाइट्रोसाइक्लोहेक्सेन 24ण् 3.मेथ्िालपेन्ट.2.इर्न.1ए2.डाइआॅल 25ण् ;पद्ध हाइड्रोजन आबंध्न ;पपद्ध ऐल्िकल/ऐरिल समूह का आकार 26ण् जब ऐल्कोहाॅल को वुफछ काॅपर सल्पेफट और पिरीडिन मिलाकर पीने के लिए अनुपयुक्त बना दिया जाता है तो उसे विवृफत एल्कोहाॅल कहते हैं। 27ण् ब्तव्, पिरीडीन और भ्ब्स ;पिरिडिनियमक्लोरोव्रफोमेटद्ध28ण् 2.क्लोरोऐथेनाॅलए क्लोरीन परमाणु के दृ प् प्रभाव के कारण। 29ण् ब्तव्ए पिरीडीन और भ्ब्स ;पिरिडिनियमक्लोरोव्रफोमेटद्ध30ण् ;पद्ध कोइर् भी प्रबल आॅक्सीकरण कमर्क, उदारणाथर् अम्लीवृफत ज्ञडदव्अथवा ज्ञब्तव्।334 227 31ण् व.नाइट्रोप़्ाफीनाॅल ख्संकेत - व.नाइट्रोप़्ाफीनाॅल में आन्तरआण्िावक हाइड्रोजन आबंध्न है और च.नाइट्रोपफीनाॅल में अन्तराआण्िावक हाइड्रोजन आबंध्न है।़, 32ण् व.नाइट्रोपफीनाॅल़ ख्संकेत - ब्भ्कृ समूह इलेक्ट्राॅन अपनयक होता है।,3 33ण् ;2ए4ए6.ट्राइब्रोमोपफीनाॅलद्ध़34ण् अम्लता का बढ़ता हुआ व्रफम - व.व्रफीसाॅल ढ प़्ाफीनाॅल ढ व.नाइट्रोपफीनाॅल़ख्संकेत - प्रतिस्थापित पफीनाॅलों में इलेक्ट्राॅन अपनयक समूहों की उपस्िथति पफीनाॅल की अम्ल प्रबलता बढ़ा देती है जबकि़़इलेक्ट्राॅन विमोचित करने वाले समूह प़्ाफीनाॅल की अम्ल प्रबलता घटाते हैं।, 35ण् सोडियम धतु की अभ्िावि्रफया का घटता हुआ व्रफम है - 1° झ 2° झ 3° 36ण् संकेत - यह पफीनाॅल देता है।़37ण् संकेत - भ्2व् झ त्व्भ् झ भ्ब् ब्भ् 38ण् एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 39ण् संकेत - ग्रीनियार अभ्िाकमर्क का उपयोग करके। 40ण् एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 41ण् एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 42ण् एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 43ण् एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 44ण् एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 45ण् ऐल्कोहाॅल सांद्र भ्ब्स और र्दब्स;ल्यूकास अभ्िाकमर्कद्ध के साथ अभ्िावि्रफया से काबर्ध्नायन 2 बनाती है। काबर्ध्नायन जितना स्थायी होता है अभ्िावि्रफया उतनी ही दु्रत होती है। 46ण् 47ण् प़्ाफीनाॅल, बेन्जीन से अध्िक आसानी से नाइट्रोवृफत होता है क्योंकि पफीनाॅल में़कृव्भ् समूह की उपस्िथति बेन्जीन वलय की आॅथोर् और पेरा स्िथतियों पर ़त् प्रभाव द्वारा इलेक्ट्राॅन घनत्व बढ़ा देती है। नाइट्रोकरण अभ्िावि्रफया इलेक्ट्राॅनरागी प्रतिस्थापन होने के कारण उस स्थान पर अध्िक आसानी से होती है जहाँ इलेक्ट्राॅन घनत्व अध्िक होता है। 48ण् प़्ाफीनाॅक्साइड आयन पफीनाॅल की तुलना में इलेक्ट्राॅनरागी ऐरोमेटिक प्रतिस्थापन के प्रति अध्िक़वि्रफयाशील होता है अतः इसमें काबर्न डाइआॅक्साइड द्वारा जो एक दुबर्ल इलेक्ट्राॅनरागी है, इलेक्ट्राॅनरागी प्रतिस्थापन होता है। 49ण् प़्ाफीनाॅल में बेन्जीन वलय के इलेक्ट्राॅन अपनयक प्रभाव के कारण ब्कृव् आबंध् कम ध्ु्रवीय होता है जबकि मेथेनाॅल में कृब्भ्समूह के इलेक्ट्राॅन विमोचक प्रभाव के कारण ब्कृव् आबंध् अिाक3 ध्ु्रवीय होता है। 177 ऐल्कोहाॅल, प़्ाफीनाॅल एवं इर्थर 50ण् जमतज - ब्यूटिल हैलाइडों में प्रतिस्थापन के स्थान पर निराकरण अध्िक वरीयता प्राप्त करता है अतः केवल ऐल्कीन अभ्िावि्रफया उत्पाद होता है और इर्थर नहीं बनती। 51ण् एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 52ण् एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 53ण् एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 54ण् एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 55ण् ऐसा इसलिए होता है कि - ;पद्धप़्ाफीनाॅलों में, आॅक्सीजन पर उपस्िथत इलेक्ट्राॅन युगल और ऐरोमेटिक वलय के संयुग्मन में होने के कारण काबर्न - आॅक्सीजन आबंध् आंश्िाक द्विआबंध् गुण प्राप्त कर लेता है। ;पपद्धप़्ाफीनाॅल में, आॅक्सीजन ेच2 संकरित काबर्न परमाणु से जुड़ा होता है जबकि मेथेनाॅल में यह ेच3 संकरित काबर्न परमाणु से जुड़ा होता है। आॅक्सीजन और ेच2 संकरित काबर्न के मध्य बना आबंध् ेच3 संकरित काबर्न और आॅक्सीजन के मध्य बने काबर्न की तुलना में अध्िक स्थायी होता है। 56ण् अम्लता का बढ़ता हुआ व्रफम है - एथेनाॅल ढ जल ढ पफीनाॅल। प़्ाफीनाॅल में से प्रोटाॅन के निकलने से़प्राप्त हुआ प़्ाफीनाॅक्साइड आयन अनुनाद द्वारा स्थायित्व प्राप्त कर लेता है जबकि एथेनाॅल में से प्रोटाॅन के निकलने से प्राप्त एथाॅक्साइड आयन, कृब्भ्समूह के ष़्प्ष् प्रभाव के कारण अस्थायी होता25 है। इसलिए प़्ाफीनाॅल एथेनाॅल से प्रबल अम्ल होती है। दूसरी ओर, एथेनाॅल जल से दुबर्ल अम्ल होती है क्योंकि इलेक्ट्राॅन विमोचक कृब्भ्समूह आॅक्सीजन पर इलेक्ट्राॅन घनत्व बढ़ा देता25 है अतः एथेनाॅल के व्कृभ् आबंध् की ध्ु्रवता कम होती है। जिसके कारण अम्ल प्रबलता कम हो जाती है अतः अम्ल प्रबलता उपरोक्त व्रफम में बढ़ती है। प्टण् सुमेलन प्ररूप प्रश्न 57ण् ;पद्ध→ ;कद्ध;पपद्ध → ;बद्ध;पपपद्ध → ;द्धि;पअद्ध → ;ंद्ध;अद्ध → ;हद्ध ;अपद्ध → ;इद्ध 58ण् ;पद्ध→ ;कद्ध;पपद्ध → ;मद्ध;पपपद्ध → ;इद्ध;पअद्ध → ;ंद्ध 59ण् ;पद्ध→ ;मद्ध;पपद्ध → ;द्धि;पपपद्ध → ;कद्ध;पअद्ध → ;बद्ध;अद्ध→ ;ंद्ध ;अपद्ध→ ;इद्ध 60ण् ;पद्ध→ ;कद्ध;पपद्ध → ;ंद्ध;पपपद्ध → ;द्धि;पअद्ध → ;मद्ध;अद्ध→ ;बद्ध ;अपद्ध→ ;इ द्ध टण् अभ्िाकथन एवं तवर्फ प्ररूप प्रश्न 61ण् ;पपद्ध 62ण् ;पद्ध 66ण् ;पअद्ध 67ण् ;अद्ध 63ण् ;पअद्ध 68ण् ;पपपद्ध 64ण् ;पअद्ध 69ण् ;पपद्ध 65ण् ;पपद्ध 70ण् ;पअद्ध टप्ण् दीघर् उत्तर प्रश्न 71ण् एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 72ण् एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 73ण् एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 77ण् एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें।

RELOAD if chapter isn't visible.