प्ण् बहुविकल्प प्रश्न ;प्ररूप.प्द्ध 1ण् निम्नलिख्िात में से कौन - सा 3° ऐमीन है? 2ण् ब्भ्त्रत्रब्भ्ब्भ् छभ्ब्भ्का सही प्न्च्।ब् नाम क्या है?;पद्ध 1.मेथ्िालसाइक्लोहेक्िसलऐमीन ;पपद्ध ट्राइएथ्िालऐमीन ;पपपद्ध जमतज.ब्यूटिलऐमीन ;पअद्ध छ.मेथ्िालऐनिलीन 2 23 ;पद्ध ऐलिलमेथ्िालऐमीन ;पपद्ध 2.ऐमीनो.4.पेन्टीन ;पपपद्ध 4.ऐमीनोपेन्ट.1.इर्न ;पअद्ध छ.मेथ्िालप्रोप.2.इर्न - एमीन 3ण् जलीय विलयन में निम्नलिख्िात में से प्रबलतम क्षार हैऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋ। ;पद्ध ब्भ्छभ्;पपद्ध छब्ब्भ्छभ्32 22 ;पपपद्ध;ब्भ्द्धछभ्32;पअद्ध ब्भ्छभ्ब्भ्653 4ण् निम्नलिख्िात में से कौन - सा दुबर्लतम ब्रंस्टेद क्षार है? ;पपद्ध ;पपपद्ध ;पअद्ध ब्भ्3छभ्2 5ण् बेन्िजलऐमीन का निम्नलिख्िात अभ्िावि्रफया के अनुसार एल्िकलन किया जा सकता है - ब्भ्ब्भ्छभ् ़ त्कृग् ⎯⎯→ ब्भ्ब्भ्छभ्त्6522 652ैछ1 वि्रफयाविध्ि में निम्नलिख्िात में से कौन - सा ऐल्िकलहैलाइड इसके लिए सवार्ध्िक उपयुक्त होगा? ;पद्ध ब्भ्3ठत ;पपद्ध ब्भ्ठत65;पपपद्ध ब्भ्ब्भ्ठत652;पअद्ध ब्भ्5 ठत26ण् ऐरिल नाइट्रो यौगिक को अपचयन के द्वारा ऐमीन में परिवतिर्त करने के लिए निम्नलिख्िात में से कौन - सा अभ्िाकमर्क अच्छा चयन नहीं होगा? ;पद्ध भ्;आध्िक्यद्धध्च्ज;पपद्ध इर्थर में स्प।सभ्2 4 ;पपपद्ध थ्म और भ्ब्स ;पअद्ध ैद और भ्ब्स 7ण् ऐल्िकलहैलाइड से काबर्न शंृखला में ब्भ्समूह जोड़ते हुए 1° ऐमीन का विरचन करने के लिए वह2 अभ्िाकमर्क जो नाइट्रोजन के स्रोत की तरह प्रयुक्त होता है। ;पद्ध सोडियम ऐमाइडए छंछभ्;पपद्ध सोडियम ऐशाइडए छंछ2 3 ;पपपद्ध पोटैश्िायम सायनाइडए ज्ञब्छ ;पअद्ध पोटैश्िायम थैलिमाइडए ब्भ्;ब्व्द्धछदृज्ञ़ 6428ण् ऐमीन के गैबि्रएल संश्लेषण के लिए नाइट्रोजन का स्रोत है ऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋ । ;पद्ध सोडियम ऐशाइडए छंछ;पपद्ध सोडियम नाइट्राइटए छंछव्3 2 ;पपपद्ध पोटैश्िायम सायनाइडए ज्ञब्छ ;पअद्ध पोटैश्िायम थैलिमाइडए ब्भ्;ब्व्द्धछदृज्ञ़ 6429ण् अभ्िाकमर्कों के दिए हुए समूह में से 2° ऐमीन बनाने के लिए सवार्ध्िक उपयुक्त है ऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋ। ;पद्ध 2° त्कृठत ़ छभ्;पपद्ध 2° त्कृठत ़ छंब्छ के पश्चात भ्ध्च्ज3 2;पपपद्ध 1° त्कृछभ् ़ त्ब्भ्व् के पश्चात भ्ध्च्ज22;पअद्ध 1° त्कृठत ;2 उवसद्ध ़ पोटैश्िायम थैलिमाइड के पश्चात भ्व़्ध्तापन310ण् 2.पेफनिलप्रोपेनेमाइड को़2.प़्ोफनिलप्रोपेनेमीन में परिवतिर्त करने के लिए सवोर्त्तम अभ्िाकमर्क है ऋऋऋऋऋऋ। ;पद्ध आध्िक्य में भ्;पपद्ध जलीय छंव्भ् में ठत2 2 ;पपपद्ध लाल प़्ाफाॅस्प़्ाफोरस की उपस्िथति में आयोडीन ;पअद्ध इर्थर में स्प।सभ्4 11ण् 2.प़्ोफनिलप्रोपेनेमाइड को 1.प़्ोफनिलएथेनेमीन में परिवतिर्त करने के लिए सवोर्त्तम अभ्िाकमर्क है ऋऋऋऋऋऋ। ;पद्ध आध्िक्य में भ्ध्च्ज2;पपद्ध छंव्भ्ध्ठत2 ;पपपद्ध छंठभ्ध्मेथेनाॅल4;पअद्ध स्प।सभ्ध्इर्थर412ण् हाॅपफमान ब्रोमेमाइड निम्नीकरण अभ्िावि्रफया ऋऋऋऋऋऋऋऋ द्वारा प्रदश्िार्त की जाती है। ;पद्ध ।तछभ्;पपद्ध ।तब्व्छभ्2 2 ;पपपद्ध ।तछव्2 ;पअद्ध ।तब्भ्छभ्22 13ण् निम्नलिख्िात यौगिकों की क्षार प्रबलता के बढ़ने का सही व्रफम है ऋऋऋऋऋऋऋऋ। ;प्द्ध;प्प्द्ध;प्प्प्द्ध ;पद्ध प्प् ढ प्प्प् ढ प् ;पपद्ध प्प्प् ढ प् ढ प्प् ;पपपद्ध प्प्प् ढ प्प् ढ प् ;पअद्ध प्प् ढ प् ढ प्प्प् 14ण् मेथ्िालऐमीन भ्छव्से अभ्िावि्रफया द्वारा बनाती है ऋऋऋऋऋऋऋऋ।2 ;पद्ध ब्भ्कृव्कृछत्रत्रव्;पपद्ध ब्भ्कृव्कृब्भ्333 ;पपपद्ध ब्भ्व्भ्3;पअद्ध ब्भ्ब्भ्व्315ण् मेथ्िालऐमीन की नाइट्रस अम्ल के साथ अभ्िावि्रफया में निकलने वाली गैस है ऋऋऋऋऋऋऋऋऋ। ;पद्ध छभ्;पपद्ध छ3 2 ;पपपद्ध भ्2 ;पअद्ध ब्भ्26 16ण् सांद्र भ्ैव्और सांद्र भ्छव्के मिश्रण द्वारा बेन्जीन की नाइट्रोकरण अभ्िावि्रफया में बनने वाली स्पीशीश24 3 जो अभ्िावि्रफया को प्रारंभ करती है वह ऋऋऋऋऋऋऋऋहै। ;पद्ध छव्2 ;पपद्ध छव़् ;पपपद्ध छव़् 2 दृ;पअद्ध छव्2 17ण् ऐरोमेटिक नाइट्रोयौगिक का थ्म और भ्ब्स द्वारा अपचयन देता है ऋऋऋऋऋऋऋऋ। ;पद्ध ऐरोमेटिक आॅक्िसम ;पपद्ध ऐरोमेटिक हाइड्रोकाबर्न ;पपपद्ध ऐरोमेटिक प्राथमिक ऐमीन ;पअद्ध ऐरोमेटिक ऐमाइड 18ण् तनु हाइड्रोक्लोरिक अम्ल के प्रति सवार्ध्िक वि्रफयाशील ऐमीन है ऋऋऋऋऋऋऋऋ। ;पद्ध ब्भ्कृछभ्32 ;पपद्ध ;पपपद्ध ;पअद्ध 19ण् प्राथमिक ऐमीन के साथ अभ्िावि्रफया से अम्ल ऐनहाइड्राइड देते हैं ऋऋऋऋऋऋऋऋऋ। ;पद्ध ऐमाइड ;पपद्ध इमाइड ;पपपद्ध द्वितीयक ऐमीन ;पअद्ध इमीन ़ ब्नध्भ्ब्स →20ण् अभ्िावि्रफया ।त छ2ब्सदृ ⎯⎯⎯⎯⎯⎯ ।तब्स ़ छ2 ़ ब्नब्स का नाम है ऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋ। ;पद्ध सैंडमायर अभ्िावि्रफया ;पपद्ध गाटरमान अभ्िावि्रफया ;पपपद्ध क्लेशन अभ्िावि्रफया ;पअद्ध काबिर्लऐमीन अभ्िावि्रफया 21ण् शृंखला मंे काबर्न परमाणुओं की संख्या अपरिवतिर्त रखते हुए ऐल्िकलहैलाइडों से प्राथमिक ऐमीन बनानेकी सवोर्त्तम विध्ि है ऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋ। ;पद्ध हाॅपफमान ब्रोमेमाइड अभ्िावि्रफया ;पपद्ध गैबि्रएल थैलिमाइड संश्लेषण ;पपपद्ध सैंडमायर अभ्िावि्रफया ;पअद्ध छभ्के साथ अभ्िावि्रफया3 22ण् बेन्जीन डाइएशोनियम क्लोराइड के साथ निम्नलिख्िात में से कौन - सा यौगिक ऐशो युग्मन नहीं करेगा? ;पद्ध ऐनिलीन ;पपद्धप़्ाफीनाॅल ;पपपद्ध ऐनिसाॅल ;पअद्ध नाइट्रोबेन्जीन 23ण् निम्नलिख्िात यौगिकों में से कौन - सा सवार्ध्िक दुबर्ल ब्रंस्टेद क्षार है? ;पद्ध ;पपद्ध 24ण् निम्नलिख्िात ऐमीनों में से कौन - सा प्रबलतम ब्रंस्टेद क्षार है? ;पद्ध ;पपद्ध छभ्3 ;पपपद्ध ;पअद्ध 25ण् निम्नलिख्िात स्पीशीश की घटती हुइर् क्षारकीय प्रबलता का सही व्रफम है ऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋ। भ्2व्ए छभ्3ए व्भ् दृए छभ्2दृ दृदृ;पद्ध छभ् झ व्भ् झ छभ् झ भ्व्2 3 2दृदृ;पपद्ध व्भ् झ छभ् झ भ्व् झ छभ्223 दृ;पपपद्ध छभ् झ भ्व् झ छभ्दृ झ व्भ्322 दृ दृ;पअद्ध भ्व् झ छभ् झ व्भ् झ छभ्232 26ण् निम्नलिख्िात में से कौन - सा सवार्ध्िक वाष्पशील होना चाहिए? ;प्द्ध ब्भ्ब्भ्ब्भ्छभ् ;प्प्द्ध ;ब्भ्द्धछ ;प्प्प्द्ध;प्टद्ध ब्भ्ब्भ्ब्भ्3222 33323 ;पद्ध प्प् ;पपद्ध प्ट ;पपपद्ध प् ;पअद्ध प्प्प् 27ण् ऐमीनों के संश्लेषण की निम्नलिख्िात विध्ियों में से कौन - सी विध्ि से ऐमीन की काबर्न शृंखला में उतने ही परमाणु रहेंगे जितने कि अभ्िाकमर्क में होंगे? ;पद्ध नाइट्राइल की स्प।सभ्के साथ अभ्िावि्रफया।;पपद्ध एमाइड की स्प।सभ्के साथ अभ्िावि्रफया के पश्चात जल से वि्रफया।4 4 ;पपपद्ध ऐल्िकल हैलाइड को थैलिमाइड के पोटैश्िायम लवण के साथ गरम करने के पश्चात जल अपघटन करके। ;पअद्ध ऐमाइड की सोडियम हाइड्राॅक्साइड के विलयन में ब्रोमीन से अभ्िावि्रफया द्वारा। प्प्ण् बहुविकल्प प्रश्न ;प्ररूप.प्प्द्ध नोट - निम्नलिख्िात प्रश्नों में दो या इससे अध्िक विकल्प सही हो सकते हैं। 28ण् निम्नलिख्िात में से कौन - से यौगिक सैंडमायर अभ्िावि्रफया द्वारा नहीं बनाए जा सकते? 29ण् निम्नलिख्िात में से कौन - सा अभ्िाकमर्क नाइट्रोबेन्जीन के अपचयन से ऐनिलीन देगा? ;पद्ध ैदध्भ्ब्स ;पपद्ध थ्मध्भ्ब्स ;पपपद्ध भ्.च्क;पअद्ध ैदध्छभ्व्भ्30ण् काबिर्लऐमीन परीक्षण में निम्नलिख्िात में से कौन - सी स्पीशीश भागीदार होती हैं? ;पद्ध त्कृछब् ;पपद्ध ब्भ्ब्स;पपपद्ध ब्व्ब्स;पअद्ध छंछव् ़ भ्ब्स31ण् बेन्जीनडाइऐशोनियम क्लोराइड को बेन्जीन में परिवतिर्त करने के लिए कौन - से अभ्िाकमर्क प्रयुक्त किए जा सकते हैं? ;पद्ध ैदब्सध्भ्ब्स;पपद्ध ब्भ्ब्भ्व्भ्;पपपद्ध भ्च्व्;पअद्ध स्प।सभ्32ण् निम्नलिख्िात अभ्िावि्रफया के उत्पाद हैं ऋऋऋऋऋऋऋऋ। ;पद्ध क्लोरोबेन्जीन ;पपद्ध ब्रोमोबेन्जीन ;पपपद्ध आयोडोबेन्जीन ;पअद्ध फ्रलुओरोबेन्जीन 243 2 223232 4 33ण् ऐनिलीन के ब्रोमीनन में भाग लेने वाले ऐरीनियम आयन हैं ऋऋऋऋऋऋऋऋ। ;पपपद्ध ;पअद्ध 34ण् निम्नलिख्िात ऐमीनों में से कौन - सी ग्रैबिएल संश्लेषण द्वारा विरचित की जा सकती हैं? ;पद्ध आइसोब्यूटिलऐमीन ;पपद्ध 2.पेफनिलएथ्िालऐमीऩ;पपपद्ध छ.मेथ्िालबेन्िशलनऐमीन ;पअद्ध ऐनिलीन 35ण् निम्नलिख्िात में से कौन - सी अभ्िावि्रफयाएँ सही हैं? ;पद्ध ;पद्ध ;पपद्ध ;पपद्ध ;पपपद्ध ;पअद्ध 36ण् निम्नलिख्िात अभ्िावि्रफया अवस्थाओं में से ऐनिलीन किसके द्वारा च.नाइट्रो व्युत्पन्न मुख्य उत्पाद के रूप में देती है? ;पद्ध ऐसिटिल क्लोराइडध्पिरीडीन तत्पश्चात् सांद्र भ्ैव् ़ सांद्र भ्छव्के साथ अभ्िावि्रफया।;पपद्ध ऐसीटिक ऐनहाइड्राइडध्पिरीडीन तत्पश्चात् सांद्र भ्ैव् ़ सांद्र भ्छव्के साथ अभ्िावि्रफया।243 243 ;पपपद्ध तनु भ्ब्स तत्पश्चात सांद्र भ्ैव् ़ सांद्र भ्छव्के साथ अभ्िावि्रफया।243 ;पअद्ध सांद्र भ्छव् ़ सांद्र भ्ैव्के साथ अभ्िावि्रफया।324 37ण् निम्नलिख्िात में से कौन - सी अभ्िावि्रफयाएँ इलेक्ट्राॅनरागी ऐरोमेटिक प्रतिस्थापन हैं? ;पद्ध ऐसीटेनेलाइड का ब्रोमीनन। ;पपद्ध ऐरिलडाइऐशोनियम लवण की युग्मन अभ्िावि्रफया। ;पपपद्ध ऐनिलीन का डाइऐशोकरण। ;पअद्ध ऐनिलीन का ऐसिलन। प्प्प्ण् लघु उत्तर प्रश्न 38ण् बेन्जीन के नाइट्रोकरण में प्रयुक्त होने वाले नाइट्रोकरण मिश्रण में भ्छव्की क्या भूमिका है?39ण् नाइट्रोकरण करने से पहले एनिलीन के कृछभ्समूह का ऐसीटिलन क्यों किया जाता है?40ण् ब्भ्ब्भ्छभ्की भ्छव्के साथ अभ्िावि्रफया से कौन - सा उत्पाद बनेगा?3 2 6522 2 41ण् नाइट्राइल को प्राथमिक ऐमीन में परिवतिर्त करने के लिए कौन - सा अभ्िाकमर्क सवोर्त्तम होता है? 42ण् निम्नलिख्िात अभ्िावि्रफया में ष्।ष् की संरचना लिख्िाए। 43ण् हिंसबगर् अभ्िाकमर्क क्या है? 44ण् बेन्जीन डाइऐशोनियम क्लोराइड को भंडारित नहीं किया जाता और बनाने के बाद तुरंत प्रयोग में ले लिया जाता है। क्यों? 45ण् ऐनिलीन के दृछभ्समूह के ऐसीटिलन से उसका वि्रफयाशीलता बढ़ाने का प्रभाव कम क्यों हो जाता है?46ण् स्पष्ट कीजिए कि डमछभ्य डमव्भ् से अध्िक प्रबल क्षार क्यों होता है?47ण् ऐमीनों की ऐसीलन अभ्िावि्रफया में पिरिडीन की भूमिका क्या होती है? 48ण् ऐरिल डाइऐशोनियम क्लोराइड की ऐनिलीन के साथ युग्मन अभ्िावि्रफया किन अवस्थाओं में ;अम्लीय अथवा क्षारकीयद्ध की जाती है? 49ण् ब्ैजैसे अध्ु्रवीय विलायक में ऐनिलीन की ब्रोमीन के साथ अभ्िावि्रफया में बनने वाले उत्पाद की2 22 प्रागुक्ित कीजिए। 50ण् निम्नलिख्िात यौगिकों को बढ़ते हुए द्विध्ु्रव आघूणर् के व्रफम में लिख्िाए। ब्भ्ब्भ्ब्भ्ए ब्भ्ब्भ्छभ्ए ब्भ्ब्भ्व्भ्3233223251ण् यौगिक ऐलिल ऐमीन की संरचना और प्न्च्।ब् नाम लिख्िाए। 52ण् का प्न्च्।ब् नाम लिख्िाए। 53ण् ब्भ्ैव्ब्स से अभ्िावि्रफया करके ब्भ्छ अणुसूत्रा वाली एक ऐमीन ;र्द्ध क्षारक में अविलेय ठोस 652 39देती है। ;र्द्ध को पहचानिए। 54ण् एक प्राथमिक ऐमीन त्छभ्की ब्भ्कृग् से अभ्िावि्रफया द्वारा एक द्वितीयक ऐमीन त्कृछभ्कृब्भ्23 3 प्राप्त की जा सकती है परन्तु इसका नुकसान यह है कि इसमें 3° ऐमीन और चतुष्क ऐमीन अतिरिक्त उत्पाद भी बनते हैं। क्या आप ऐसी विध्ि का सुझाव दे सकते हैं जिसमें त्छभ्केवल 2° ऐमीन बनाए?2 55ण् निम्नलिख्िात अभ्िावि्रफया को पूरा कीजिए। 56ण् ऐनिलीन जलीय भ्ब्स में घुलनशील क्यों होती है? 57ण् एक ऐसे पथ का सुझाव दीजिए जिससे निम्नलिख्िात परिवतर्न किया जा सके। 58ण् निम्नलिख्िात अभ्िावि्रफया में । और ठ को पहचानिए। 59ण् आप निम्नलिख्िात परिवतर्न वैफसे करेंगे? ;पद्ध टाॅलूइर्न ⎯⎯⎯→ च.टाॅलूडीन ;पपद्ध च.टाॅलूडीन डाइऐशोनियम क्लोराइड ⎯⎯⎯→ च.टाॅलूइक अम्ल 60ण् निम्नलिख्िात परिवतर्न लिख्िाए। ;पद्ध नाइट्रोबेन्जीन ⎯→ ऐसीटेनिलाइडए और ;पपद्ध ऐसीटेनिलाइड ⎯→ च.नाइट्रोऐनिलीन 61ण् एक विलयन में च.टाॅलूइन डाइऐशोनियम क्लोराइड और च.नाइट्रोप़्ोफनिल डाइऐशोनियम क्लोराइड में से प्रत्येक का 1 ह उवस उपस्िथत है। इसमें पफीनाॅल का़1 ह उवस क्षारकीय विलयन मिलाया जाता है। मुख्यउत्पाद की प्रागुक्ित कीजिए। अपने उत्तर का स्पष्टीकरण लिख्िाए। 62ण् निम्नलिख्िात परिवतर्न आप वैफसे करेंगे? 63ण् निम्नलिख्िात परिवतर्न आप वैफसे करेंगे? 64ण् निम्नलिख्िात परिवतर्न आप वैफसे करेंगे? 65ण् निम्नलिख्िात परिवतर्नों को आप वैफसे करेंगे? ;पद्ध प्टण् सुमेलन प्ररूप प्रश्न नोट - निम्नलिख्िात प्रश्नों में काॅलम प् एवं काॅलम प्प् के मदों को सुमेलित कीजिए। 66ण् काॅलम प् में दी गइर् अभ्िावि्रफयाओं को काॅलम प्प् में दिए गए कथनों से सुमेलित कीजिए। 67ण् काॅलम प् में दिए यौगिकों को काॅलम प्प् में दिए मदों से सुमेलित कीजिए। काॅलम प् काॅलम प्प् ;पद्ध बेन्जीन सल्पफोनिल क्लोराइड ;ंद्ध िवटर आयन ;पपद्ध सल्प़्ौफनिलिक अम्ल ;इद्ध हिंसबगर् अभ्िाकमर्क काॅलम प् काॅलम प्प् ;पद्ध अमोनी अपघटन ;ंद्ध कम काबर्न परमाणु युक्त ऐमीन ;पपद्ध गैबि्रएल थैलिमाइड संश्लेषण ;इद्ध प्राथमिक ऐमीनों के संसूचन के लिए परीक्षण ;पपपद्ध हाॅपफमान ब्रोमेमाइड अभ्िावि्रफया ;बद्ध थैलिमाइड की ज्ञव्भ् और त्कृग् से अभ्िावि्रफया ;पअद्ध काबिर्लऐमीन अभ्िावि्रफया ;कद्ध ऐल्िकलहैलाइडों की छभ्3 से अभ्िावि्रफया ;पपपद्ध ऐल्िकल डाइऐशोनियम लवण ;बद्धरजक ं;पअद्ध ऐरिल डाइऐशोनियम लवण ;कद्ध ऐल्कोहाॅलों में परिवतर्न टण् अभ्िाकथन एवं तवर्फ प्ररूप प्रश्न नोट - निम्नलिख्िात प्रश्नों में अभ्िाकथन और तवर्फ के कथन दिए हैं। निम्नलिख्िात विकल्पों में से सहीउत्तर का चयन कीजिए। ;पद्ध अभ्िाकथन और तवर्फ दोनों ही गलत कथन हैं। ;पपद्ध अभ्िाकथन और तवर्फ दोनों सही कथन हैं परन्तु तवर्फ अभ्िाकथन का स्पष्टीकरण नहीं है। ;पपपद्ध अभ्िाकथन सही है परन्तु तवर्फ गलत कथन है। ;पअद्ध अभ्िाकथन और तवर्फ दोनों सही हैं और तवर्फ अभ्िाकथन का सही स्पष्टीकरण है। ;अद्ध अभ्िाकथन गलत है परन्तु तवर्फ सही कथन है। 68ण् अभ्िाकथन - ऐमीनों के ऐसिलन से एकल प्रतिस्थापन उत्पाद बनते हैं जबकि ऐमीनों के ऐल्िकलन से बहुप्रतिस्थापन उत्पाद बनते हैं। तवर्फ - ऐसिल समूह अन्य ऐसिल समूहों के पहुंचने में त्रिाविमीय बाध डालता है। 69ण् अभ्िाकथन - प्राथमिक ऐमीन हाॅपफमान ब्रोमेमाइड अभ्िावि्रफया देते हैं। तवर्फ - प्राथमिक ऐमीन द्वितीयक ऐमीनों से अध्िक क्षारकीय होते हैं। 70ण् अभ्िाकथन - छ.एथ्िालऐमीन सल्पफोनेमाइड क्षारक में घुलनशील होता है। तवर्फ - सल्पफोनेमाइड में नाइट्रोजन में जुड़ी हाइड्रोजन अत्यन्त अम्लीय होती है। 71ण् अभ्िाकथन - छए छ डाइएथ्िालबेन्जीन सल्प़्ाफोनेमाइड क्षार में अघुलनशील होता है। तवर्फ - नाइट्रोजन परमाणु से जुड़ा सल्पफोनिल समूह इलेक्ट्राॅनअपनयक समूह होता है।़72ण् अभ्िाकथन - नाइट्रो यौगिकों के लौह छीलन, भ्ब्स और भाप की उपस्िथति में अपचयन के लिए कम भ्ब्स की आवश्यकता होती है। तवर्फ - अभ्िावि्रफया में बना थ्मब्सजल अपघटन द्वारा भ्ब्स देता है।2 73ण् अभ्िाकथन - ऐरोमेटिक 1° ऐमीनों को गैबि्रएल थैलिमाइड संश्लेषण द्वारा विरचित किया जा सकता है। तवर्फ - ऐरिलहैलाइड, थैलिमाइड द्वारा बने )णायन के साथ नाभ्िाकरागी प्रतिस्थापन वि्रफया देते हैं। 74ण् अभ्िाकथन - ऐसिटेनिलाइड ऐनिलीन की तुलना में से कम क्षारकीय होता है। तवर्फ - ऐसीलन से ऐनिलीन की नाइट्रोजन पर इलेक्ट्राॅन का घनत्व कम हो जाता है। टप्ण् दीघर् उत्तर प्रश्न 75ण् एक हाइड्रोकाबर्न ष्।ष् ;ब्भ्द्ध भ्ब्स से अभ्िावि्रफया द्वारा यौगिक ष्ठष् ;ब्भ्ब्सद्ध देता है ए जो 1 उवस4849छभ्से अभ्िावि्रफया द्वारा यौगिक ष्ब्ष्;ब्भ्छद्धदेता है। यौगिक ष्ब्ष्ए छंछव्और भ्ब्स से अभ्िावि्रफया3 4112 के पश्चात जल से अभ्िावि्रफया द्वारा धु्रवण घूणर्क ऐल्कोहाॅल ष्क्ष् देता है। ष्।ष् के ओजोनी अपघटन से 2 उवस ऐसीटेल्िडहाइड बनता है। ष्।ष् से ष्क्ष् तक यौगिकों को पहचानिए। निहित अभ्िावि्रफयाओं को स्पष्ट कीजिए। 76ण् एक रंगहीन यौगिक ष्।ष् ;ब्भ्छद्ध जल में बहुत कम घुलनशील है और खनिज अम्ल के साथ 67अभ्िावि्रफया से जल में विलेय एक यौगिक ष्ठष् देता है। यौगिक ष्।ष्ए ब्भ्ब्सऔर ऐल्कोहाॅली पोटैश से3 अभ्िावि्रफया कर ष्ब्ष् बनने के कारण दुग±ध् देता है। यौगिक ष्।ष् की बेन्जीन सल्पफोनिल क्लोराइड से़अभ्िावि्रफया यौगिक ष्क्ष् देता है जो क्षारक में घुलनशील है। छंछव्और भ्ब्सए के साथ अभ्िावि्रफया से2 यौगिक ष्।ष् यौगिक ष्म्ष् देता है जो क्षारकीय माध्यम में पफीनाॅल के साथ अभ्िावि्रफया करके एक नारंगी़रंग का रंजक ष्थ्ष् बनाता है। ष्।ष् से ष्थ्ष् तक यौगिकों को पहचानिए। 77ण् निम्नलिख्िात अभ्िावि्रफया व्रफम में अभ्िाकमर्क अथवा उत्पाद की प्रागुक्ित कीजिए। प्ण् बहुविकल्प प्रश्न ;प्ररूप - प्द्ध1ण् ;पपद्ध 2ण् ;पअद्ध 3ण् ;पपपद्ध 4ण् ;पद्ध 5ण् ;पपपद्ध 6ण् ;पपद्ध 7ण् ;पपपद्ध8ण् ;पअद्ध 9ण् ;पपपद्ध 10ण् ;पअद्ध 11ण् ;पपद्ध 12ण् ;पपद्ध 13ण् ;पअद्ध 14ण् ;पपपद्ध 15ण् ;पपद्ध 16ण् ;पपपद्ध 17ण् ;पपपद्ध 18ण् ;पपद्ध 19ण् ;पद्ध 20ण् ;पपद्ध 21ण् ;पपद्ध 22ण् ;पअद्ध 23ण् ;पपपद्ध 24ण् ;पअद्ध 25ण् ;पद्ध 26ण् ;पपद्ध 27ण् ;पपपद्ध प्प्ण् बहुविकल्प प्रश्न ;प्ररूप - प्प्द्ध 28ण् ;पपपद्धए ;पअद्ध 29ण् ;पद्धए ;पपद्धए ;पपपद्ध 30ण् ;पद्धए ;पपद्ध 31ण् ;पपद्धए ;पपपद्ध 32ण् ;पद्धए ;पपद्ध 33ण् ;पद्धए ;पपद्धए ;पपपद्ध 34ण् ;पद्धए ;पपद्ध 35ण् ;पद्धए ;पपपद्ध 36ण् ;पद्धए ;पपद्ध 37ण् ;पद्धए ;पपद्ध प्प्प्ण् लघु उत्तर प्रश्न 38ण् नाइट्रोकरण मिश्रण में भ्छव्एक क्षार का काम करता है और इलेक्ट्राॅनरागी, छव़् उपलब्ध् कराता है।3 2 39ण् एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 40ण् ब्6भ्5ब्भ्2व्भ् 41ण् नाइट्राइलों का सोडियम/ऐल्कोहाॅल अथवा स्प।सभ्द्वारा अपचयन प्राथमिक ऐमीन देता है।4 42ण् 43ण् बेन्जीन सल्पफोनिलक्लोराइड 44ण् बेन्जीन डाइऐशोनियम क्लोराइड बहुत अस्थायी होता है। 45ण् एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 46ण् नाइट्रोजन आॅक्सीजन से कम विद्युत)णात्मक होती है इसलिए नाइट्रोजन का एकल इलेक्ट्राॅन युगल दान देने के लिए आसानी से उपलब्ध् हो जाता है अतः डमछभ्ए डमव्भ् से अध्िक क्षारकीय होता है। 47ण् पिरिडीन और दूसरे क्षार अतिरिक्त उत्पाद यानी भ्ब्स निकालने के लिए प्रयुक्त होते हैं। 48ण् अभ्िावि्रफया मृदु क्षारकीय अवस्थाओं में की जाती है। 49ण् 2.ब्रोमोऐनिलीन और 4.ब्रोमोऐनिलीन का मिश्रण बनता है। 2;2.ब्रोमोऐनिलीनद्ध ;4.ब्रोमोऐनिलीनद्ध 50ण् ब्भ्ब्भ्ब्भ् ढ ब्भ्ब्भ्छभ् ढ ब्भ्ब्भ्व्भ्51ण् ब्भ्2त्रत्रब्भ्कृब्भ्2कृछभ्2ए प्रोप.2.इर्न.1.ऐमीन 3233223252ण् छए छ.डाइमेथ्िालबेन्जीनेमीन 53ण् र् एक ऐलिप़्ोफटिक ऐमीन है जो क्षार में अविलेय ठोस देती है। इसका अथर् है कि ब्भ्ैव्ब्स65 2से अभ्िावि्रफया में ऐसा उत्पाद बनना चाहिए जिसमें नाइट्रोजन पर कोइर् भी प्रतिस्थापनीय हाइड्रोजन न हो। दूसरे शब्दों में ऐमीन द्वितीयक ऐमीन होनी चाहिए यानी र्, एथ्िालमेथ्िालऐमीन है। केवल 1° ऐमीन काबिर्लऐमीन अभ्िावि्रफया देती है जिसमें छभ्समूह के नाइट्रोजन से काबर्न के2 माध्यम से जुड़े दो हाइड्रोजन परमाणुओं का प्रतिस्थापन होता है। उत्प्रेरकीय अपचयन से आइसोसायनाड, मेथ्िाल समूह युक्त द्वितीयक ऐमीन देता है। 55ण् अभ्िावि्रफया में प़्ाफीनाॅलों का ऐशो - युग्मन होता है। मृदु क्षारकीय अवस्थाओं में प़्ाफीनाॅल भाग ऐशो - युग्मन में सम्िमलित होता है और पफीनाॅल की़पेरा स्िथति पर अध्यासित होता है। 56ण् ऐनिलीन, ऐनिलीनियम क्लोराइड लवण बनाती है जो जल में घुलनशील होता है। 57ण् 58ण् 59ण् ;पद्ध ;पपद्ध 60ण् ;पद्ध ;पपद्ध 61ण् यह अभ्िावि्रफया इलेक्ट्राॅनरागी ऐरोमेटिक प्रतिस्थापन का उदाहरण है। क्षारकीय माध्यम में पफीनाॅल़प़्ाफीनाॅक्साइड आयन उत्पन्न करता है जो पफीनाॅल से अध्िक इलेक्ट्राॅन संपन्न होता है। अतः़इलेक्ट्राॅनरागी आव्रफमण के लिए अध्िक सवि्रफय होता है। इस अभ्िावि्रफया में ऐरिलडाइऐशोनियम ध्नायन इलेक्ट्राॅनरागी है। इलेक्ट्राॅनरागी जितना अध्िक प्रबल होता है, अभ्िावि्रफया उतनी ही द्रुत होती है। च.नाइट्रोप़्ोफनिलडाइऐशोनियम ध्नायन, च.टाॅलूइन डाइऐशोनियम ध्नायन से अध्िक प्रबल होता है इसलिए यह पफीनाॅल से वरीयता से युग्िमत होता है।़62ण् 63ण् 64ण् 65ण् ;पद्ध ;पपद्ध निम्नलिख्िात परिवतर्न ;कद्ध उपरोक्त भाग ;पद्ध की तरह होगा तत्पश्चात अभ्िावि्रफया ;खद्ध की जा सकती है। ;कद्ध ;खद्ध प्टण् सुमेलन प्ररूप प्रश्न 66ण् ;पद्ध→ ;कद्धए ;पपद्ध→ ;बद्धए ;पपपद्ध→;कद्धए ;पअद्ध→;इद्ध 67ण् ;पद्ध→ ;इद्ध;पपद्ध → ;ंद्धए ;पपपद्ध → ;कद्धए ;पअद्ध → ;बद्ध टण् अभ्िाकथन एवं तवर्फ प्ररूप प्रश्न 68ण् ;पपपद्ध 69ण् ;पपपद्ध 70ण् ;पअद्ध 71ण् ;पपद्ध 72ण् ;पअद्ध 73ण् ;पद्ध 74ण् ;पअद्ध टप्ण् दीघर् उत्तर प्रश्न ष्।ष् पर भ्ब्स का योगज हुआ है। इसका अथर् यह है कि ष्।ष् एक ऐल्कीन है। ष्ठष् में ब्स का छभ्द्वारा प्रतिस्थापन होकर ष्ब्ष् प्राप्त हुआ है।2 ष्ब्ष् छंछव्ध्भ्ब्स के साथ डाइऐशोनियम लवण देता है जो2छनिष्काष्िात कर ध्ु्रवण घूणर्क ऐल्कोहाॅल देता है। इसका अथर्2 है कि ष्ब्ष् एक ऐलिपैफटिक ऐमीन है। ऐमीन में काबर्न परमाणुओं की संख्या उतनी ही है जितनी यौगिक ष्।ष् में। यौगिक ष्।ष् के ओशोनी अपघटन से यौगिक ब्भ्कृ ब्भ् त्रत्रव् और व् त्रत्रब्भ्कृब्भ्बनते हैं3 3 अतः यौगिक ष्।ष् हैμ ब्भ्3कृब्भ्त्रत्रब्भ्कृब्भ्3 यौगिक ष्।ष् की संरचना के आधर पर अभ्िावि्रफयाओं को निम्नलिख्िात प्रकार से किया जा सकता है। ;।द्ध;ठद्ध;ठद्ध ;ब्द्ध;ब्द्ध ;क्द्ध 77ण् 1ण् ैद.भ्ब्स 2ण् 3ण् भ्2व्ध्भ़् 4ण् 5ण् भ्3च्व्2ध्भ्2व्

RELOAD if chapter isn't visible.