प्ण् बहुविकल्प प्रश्न ;प्ररूप.प्द्ध 1ण् ग्लाइकोजन α.क्.ग्लूकोस इकाइयों से बना शाख्िात शृंखला बहुलक होता है जिसमें ब्1कृब्4 शृंखला ग्लाइकोसाइडी बंध् द्वारा बनती है जबकि ब्1.ब्6 शाखन ग्लाइकोसाइडी बंध् द्वारा होता है। ग्लाइकोजन की संरचना के समान संरचना वाला यौगिक है ऋऋऋऋऋ। ;पद्ध ऐमिलोस ;पपद्ध ऐमिलोपेक्िटन ;पपपद्ध सेलुलोस ;पअद्ध ग्लूकोस 2ण् निम्नलिख्िात में से कौन - सा बहुलक प्राण्िायों के यवृफत में संग्रहित होता है? ;पद्ध ऐमिलोस ;पपद्ध सेलुलोस ;पपपद्ध एमिलोपेक्िटन ;पअद्ध ग्लाइकोजन 3ण् सूव्रफोस ;इक्षु शवर्फराद्ध एक डाइसैकेराइड है जिसका एक अणु जलअपघटन से ऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋ देता है। ;पद्ध ग्लूकोस के दो अणु ;पपद्ध ग्लूकोस के 2 अणु ़ लैक्टोस का एक अणु ;पपपद्ध ग्लूकोस का एक अणु ़ प्रफक्टोश का एक अणु ;पअद्ध प्रफक्टोश के दो अणु 4ण् निम्नलिख्िात में से कौन - सा युगल ऐनोमरों को प्रदश्िार्त करता है? ;पद्ध ;पपद्ध ;पपपद्ध ;पअद्ध 5ण् प्रोटीनों में दो प्रकार की द्वितीयक संरचनाएँ पाइर् गइर् हैं जो α.हेलिक्स और β.प्लीटेट शीट संरचनाएँ हैं। α.हेलिक्स संरचनाएँ जिसके द्वारा स्थायित्व प्राप्त करती हैं, वे हैं ऋऋऋऋऋऋऋऋ। ;पद्ध पेप्टाइड आबंध् ;पपद्ध वांडरवाल्स बल ;पपपद्ध हाइड्रोजन आबंध् ;पअद्ध द्विधु्रव - द्विधु्रव अन्योन्य वि्रफयाएँ 215 जैव अणु 6ण् यदि डाइसैकेराइड के अपचायक समूह यानी ऐल्िडहाइड अथवा कीटोन आबंध्ित हों तो वे अनअपचायी शवर्फरा होते हैं। निम्नलिख्िात में से कौन - सा डाइसैकेराइड अनअपचायी शवर्फरा है? 7ण् निम्नलिख्िात अम्लों में से कौन - सा अम्ल एक विटामिन है? ;पद्ध ऐस्पाटिर्क अम्ल ;पपद्ध ऐस्काॅबिर्क अम्ल ;पपपद्ध एडिपिक अम्ल ;पअद्ध सैवैफरिक अम्ल 8ण् डाइन्यूक्िलओटाइड, दो न्यूक्िलओटाइडों के आपस में प़्ाफाॅस्प़्ाफोडाइएस्टर आबंध् द्वारा जुड़ने से बनते हैं। ये न्यूक्िलओटाइडों की पेन्टोस शवर्फराओं के कौन - से काबर्न परमाणुओं के मध्य उपस्िथत होते हैं? ;पद्ध 5′ और 3′ ;पपद्ध 1′ और 5′ ;पपपद्ध 5′ और 5′ ;पअद्ध 3′ और 3′ 9ण् न्यूक्िलक अम्ल किसके बहुलक होते हैं? ;पद्ध न्यूक्िलओसाइडों के ;पपद्ध न्यूक्िलओटाइडों के ;पपपद्ध क्षारों के ;पअद्ध शवर्फराओं के 10ण् ग्लूकोस के संबंध् में निम्नलिख्िात में से कौन - सा कथन सही नहीं है? ;पद्ध यह एक ऐल्डोहैक्सोस है। ;पपद्ध भ्प् के साथ गरम करने पर यह ददृहेक्सेन देता है। ;पपपद्ध यह फ्रयूरेनोस रूप में उपस्िथत रहता है। ;पअद्ध इसका 2ए 4.क्छच् परीक्षण सकारात्मक नहीं होता। 11ण् प्रोटीनों के प्रत्येक पाॅलिपेप्टाइड में ऐमीनों अम्ल एक निधर्रित व्रफम में जुड़े रहते हैं। ऐमीनों अम्लों के इस व्रफम को क्या कहते हैं? ;पद्ध प्रोटीनों की प्राथमिक संरचना। ;पपद्ध प्रोटीनों की द्वितीयक संरचना। ;पपपद्ध प्रोटीनों की तृतीयक संरचना। ;पअद्ध प्रोटीनों की चतुष्क संरचना। 12ण् क्छ। और त्छ। में चार क्षार होते हैं। निम्नलिख्िात में से कौन - सा क्षार त्छ। में उपस्िथत नहीं होता? ;पद्ध ऐडेनीन ;पपद्ध यूरेसिल ;पपपद्ध थायमीन ;पअद्ध साइटोसीन 13ण् निम्नलिख्िात ठ समूह के विटामिनों में से कौन - सा हमारे शरीर में संग्रहित हो सकता है? ;पद्ध विटामिन ठ;पपद्ध विटामिन ठ1 2 ;पपपद्ध विटामिन ठ6 ;पअद्ध विटामिन ठ12 14ण् क्छ। में निम्नलिख्िात में से कौन - सा क्षार उपस्िथत नहीं होता? ;पद्ध ऐडेनीन ;पपद्ध थायमीन ;पपपद्ध साइटोसीन ;पअद्ध यूरेसिल 217 जैव अणु 15ण् मोनोसैवैफराइडों की तीन चव्रफीय संरचनाएँ नीचे दी गइर् हैं, इनमें से कौन - सी ऐनोमर हैं? ;प्द्ध;प्प्द्ध ;प्प्प्द्ध ;पद्ध प् और प्प् ;पपद्ध प्प् और प्प्प् ;पपपद्ध प् और प्प्प् ;पअद्ध प् और प्प् का ऐनोमर प्प्प् है 16ण् निम्नलिख्िात में से ग्लूकोस की कौन - सी अभ्िावि्रफया केवल इसकी चव्रफीय संरचना के आधर पर स्पष्ट की जा सकती है? ;पद्ध ग्लूकोस पेन्टाऐसीटेट बनाता है। ;पपद्ध ग्लूकोस, हाइड्राॅक्िसलऐमीन के साथ अभ्िावि्रफया में आॅक्िसम देता है। ;पपपद्ध ग्लूकोस का पेन्टाऐसीटेट हाइड्राॅक्िसल ऐमीन से अभ्िावि्रफया नहीं करता। ;पअद्ध ग्लूकोस नाइटिªक अम्ल द्वारा ग्लूकोनिक अम्ल में आॅक्सीवृफत हो जाता है। 17ण् वुफछ यौगिकों के ध्ु्रवण घूणर्न उनकी संरचनाओं सहित नीचे दिए हैं। इनमें से किनका विन्यास क् है। ;प्द्ध ;प्प्द्ध ;प्प्प्द्ध ;पद्ध प्ए प्प्ए प्प्प् ;पपद्ध प्प्ए प्प्प् ;पपपद्ध प्ए प्प् ;पअद्ध प्प्प् 18ण् ग्लूकोस और प्रफक्टोश से बने एक डाइसैवैफराइड की संरचना नीचे दी गइर् है। इसकी मोनोसैवैफराइड इकाइयों में ऐनोमेरिक काबर्न को पहचानिए। ;पद्ध ग्लूकोस का ष्ंष् काबर्न और प्रफक्टोश का ष्ंष् काबर्न ;पपद्ध ग्लूकोस का ष्ंष् काबर्न और प्रफक्टोश का ष्मष् काबर्न ;पपपद्ध ग्लूकोस का ष्ंष् काबर्न और प्रफक्टोश का ष्इष् काबर्न ;पअद्ध ग्लूकोस का ष्ि काबर्न और प्रफक्टोश का ष्ि काबर्न 19ण् नीचे तीन संरचनाएँ दी गइर् हैं जिनमें दो ग्लूकोस इकाइयाँ जुड़ी हुइर् हैं। ग्लूकोस इकाइयों के मध्य बने इनमें से कौन - से आबंध् ब्1 और ब्4 के मध्य हैं और कौन - से ब्1 और ब्6 के मध्य? 219 जैव अणु ;पद्ध;।द्धए ब्1 तथा ब्4 के मध्य है और ;ठद्ध एवं ;ब्द्धए ब्1 तथा ब्6 मध्य है। ;पपद्ध;।द्ध एवं ;ठद्धए ब्1 तथा ब्4 के मध्य हैं और ;ब्द्धए ब्1 तथा ब्6 के मध्य है। ;पपपद्ध;।द्ध एवं ;ब्द्धए ब्1 तथा ब्4 के मध्य हैं और ;ठद्ध ब्1 तथा ब्6 के मध्य है। ;पअद्ध;।द्ध एवं ;ब्द्धए ब्1 तथा ब्6 के मध्य हैं और ;ठद्धए ब्1 तथा ब्4 के मध्य है। प्प्ण् बहुविकल्प प्रश्न ;प्ररूप.प्प्द्ध नोट - निम्नलिख्िात प्रश्नों में दो या इससे अध्िक विकल्प सही हो सकते हैं। 20ण् काबोर्हाइड्रेटों को जलअपघटन में उनके व्यवहार के आधर पर और अपचायी और अनपचायी शवर्फरा के रूप में भी वगीर्वृफत करते हैं। सूव्रफोस ऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋहै। ;पद्ध मोनोसैवैफराइड ;पपद्ध डाइसैवैफराइड ;पपपद्ध अपचायी शवर्फरा ;पअद्ध अनअपचायी शवर्फरा 21ण् आण्िवक आवृफति के आधर पर प्रोटीनों को दो वगो± यानी रेशेदार प्रोटीन और गोलिकाकार प्रोटीनों में वगीर्वृफत किया जा सकता है। गोलिकाकार प्रोटीनों के उदाहरण हैं ऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋ। ;पद्ध इन्सुलिन ;पपद्ध किरेटिन ;पपपद्ध ऐल्बूमिन ;पअद्ध मायोसिन 22ण् निम्नलिख्िात में से कौन - से काबोर्हाइडेªट ग्लूकोस के शख्िात बहुलक हैं? ;पद्ध ऐमिलोस ;पपद्ध ऐमिलोपेक्िटन ;पपपद्ध सेलुलोस ;पअद्ध ग्लाइकोजन 23ण् अणु में ऐमीनो और काबोर्क्िसल समूहों की आपेक्ष्िाक संख्या के आधर पर ऐमीनो अम्लों को अम्लीय, क्षारकीय और उदासीन वगो± में वगीर्वृफत किया गया है। निम्नलिख्िात में से कौन - से अम्लीय हैं? ;पद्ध ;पपद्ध ;पपपद्ध भ्छकृब्भ्कृब्भ्कृब्भ्कृब्व्व्भ्2222;पअद्ध 24ण् लाइसीन, है ऋऋऋऋऋऋऋऋऋऋ। ;पद्ध α.ऐमीनो अम्ल ;पपद्ध क्षारीय ऐमीनो अम्ल ;पपपद्ध शरीर में संश्लेष्िात होने वाला ऐमीनो अम्ल ;पअद्ध β.ऐमीनो अम्ल 25ण् निम्नलिख्िात में से कौन - से मोनोसैवैफराइड पाँच सदस्यीय चव्रफीय फ्रयूरानोस संरचना के रूप में उपस्िथत होते हैं? ;पद्ध राइबोस ;पपद्ध ग्लूकोस ;पपपद्ध प्रफक्टोश ;पअद्ध गैलैक्टोस 26ण् रेशेदार प्रोटीनों में, पाॅलिपेप्टाइड शृंखलाएँ किनके द्वारा एक साथ जुड़ी रहती हैं? ;पद्ध वान्डर वाल्स बल। ;पपद्ध डाइसल्पफाइड बंध्। ;पपपद्ध स्िथर वैद्युत् आकषर्ण बल। ;पअद्ध हाइड्रोजन आबंध्। 27ण् निम्नलिख्िात में से कौन - से प्यूरिन क्षारक हैं? ;पद्ध ग्वानीन ;पपद्ध ऐडेनीन ;पपपद्ध थायमीन ;पअद्ध यूरेसिल 28ण् एन्जाइम के संबंध् में निम्नलिख्िात में से कौन - से शब्द सही हैं? ;पद्ध प्रोटीन ;पपद्ध डाइन्यूक्िलयोटाइड ;पपपद्ध न्यूक्लीक अम्ल ;पअद्ध जैव उत्प्रेरक प्प्प्ण् लघु उत्तर प्रश्न 29ण् दूध् में उपस्िथत शवर्फरा का नाम लिख्िाए। इसमें कितनी मोनोसैवैफराइड इकाइयाँ होती हैं? ऐसे ओलिगोसैवैफराइडों को क्या कहते हैं? 30ण् आप ग्लूकोस में छः काबर्नों की सीध्ी शृंखला की उपस्िथति वैफसे स्पष्ट करेंगे? 31ण् न्यूक्िलओसाइड में क्षारक, शवर्फरा अंश की 1′ स्िथति पर जुड़ा होता है। न्यूक्िलओटाइड, न्यूक्िलओसाइड इकाइर् की शवर्फरा पर प़्ाफाॅस्प़्ाफोरिक अम्ल जुड़ने से बनते हैं। प़्ाफाॅस्प़्ाफोरिक अम्ल न्यूक्िलओसाइड की शवर्फरा इकाइर् की किस स्िथति से जुड़कर न्यूक्िलओटाइड देता है? 32ण् पोलिसैवैफराइड की मोनोसैवैफराइड इकाइयों को जोड़ने वाले बंध् का नाम लिख्िाए। 33ण् ग्लूकोस किन अवस्थाओं में ग्लूकोनिक और सैवैफरिक अम्ल में परिवतिर्त हो जाता है? 34ण् मोनोसैवैफराइडों में काबोर्निल समूह होता है। अतः इन्हें एल्डोज और कीटोज में वगीर्वृफत किया जाता है। वगीर्करण में मोनोसैवैफराइड अणु में उपस्िथत काबर्न अणुओं की संख्या भी देखी जाती है। प़्ा्रफक्टोश को आप मोनोसैवैफराइडों के किस वगर् में वगीर्वृफत करेंगे? 35ण् किसी भी यौगिक के त्रिाविमसमावयवी नाम के आगे ष्क्ष् अथवा ष्स्ष् अक्षर उस विशेष त्रिाविमसमावयवी का आपेक्ष्िाक विन्यास बताते हैं। यह ग्िलसरेल्िडहाइड के किसी एक समावयवी के साथ संबंध् को प्रदश्िार्त करते हैं। बताइए कि निम्नलिख्िात यौगिक का विन्यास ष्क्ष् है अथवा ष्स्ष् । 36ण् न्यूक्िलक अम्लों में पाए जाने वाले राइबोस और 2.डिआॅक्सीराइबोस नामक ऐल्डोपेन्टोसों का आपेक्ष्िाक विन्यास क्या होता है? 37ण् कौन - सी शवर्फरा इनवटर् शवर्फरा कहलाती है? इसे ऐसा क्यों कहते हैं? 38ण् ऐमीनो अम्लों को ऐमीनो समूह की काबोर्क्िसल समूह के सापेक्ष उपस्िथति के आधर पर α.ए β.ए γ.ए δ.आदि वगो± में वगीर्वृफत किया जा सकता है। प्रोटीनों में किस प्रकार के ऐमीनो अम्ल पाॅलिपेप्टाइडशृंखला बनाते हैं? 39ण् α.हेलिक्स प्रोटीनों की द्वितीयक संरचना होती है जो पाॅलिपेप्टाइड शृंखला के दक्ष्िाणावतीर् पेंच जैसे वुंफडलन से बनती है। किस प्रकार की अन्योन्य वि्रफयाएँ α.हेलिक्स संरचना को स्थायित्व देती हैं? 40ण् वुफछ एन्जाइमों को उन अभ्िावि्रफयाओं के आधर पर नाम दिया जाता है जिनमें वे प्रयुक्त होते हैं। एन्जाइमों के उस वगर् का नाम लिख्िाए जो एक वि्रफयाधर के आॅक्सीकरण के साथ - साथ दूसरे वि्रफयाधर का अपचयन करता है। 41ण् दूध् के जमने में इसमें उपस्िथत शवर्फरा में क्या परिवतर्न होता है? 42ण् आप ग्लूकोस अणु में पाँच कृव्भ् समूहों की उपस्िथति वैफसे स्पष्ट करेंगे? 43ण् निम्नलिख्िात संरचना ;।द्ध वाला यौगिक आॅक्िसम क्यों नहीं बनाता? ;।द्ध 44ण् विटामिन ब् को भोजन में नियमित क्यों लेना चाहिए? 45ण् सूव्रफोस दक्ष्िाण ध्ु्रवण घूणर्क है परन्तु जलअपघटन के पश्चात प्राप्त मिश्रण वामु ध्ु्रवण घूणर्क बन जाता है। स्पष्ट कीजिए। 46ण् ऐमीनो अम्ल ऐमीन अथवा काबोर्क्िसल अम्ल की बजाय लवण के समान व्यवहार करते हैं। स्पष्ट कीजिए क्यों? 47ण् ग्लाइसीन और ऐलानीन की संरचनाएँ नीचे लिखी हैं। ग्लाइसिलऐलानीन में पेप्टाइड बंध् दिखाइए। 48ण् वे प्रोटीन जो जैविक प्रव्रफम में विशेष त्रिाविमीय संरचना में उपस्िथत होते हैं और जैविक वि्रफयाशीलता प्रदश्िार्त करते हैं, प्रावृफत प्रोटीन कहलाते हैं। जब प्रोटीन की प्रावृफत अवस्था में इस पर तापमान जैसे भौतिक परिवतर्न अथवा रासायनिक परिवतर्न, उदाहरणाथर् चभ् परिवतर्न, इत्यादि किए जाते हैं तो इसका विवृफतिकरण हो जाता है। कारण स्पष्ट कीजिए। 49ण् सूव्रफोस के अम्ल द्वारा उत्प्रेरित जलअपघटन की सवि्रफयण उफजार् 6ण्22 ाश्र उवसदृ1 होती है जबकि एन्जाइम सूव्रेफस द्वारा उत्प्रेरित जलअपघटन में सवि्रफयण उफजार् केवल 2ण्15 ाश्र उवसदृ1 होती है। स्पष्ट कीजिए क्यों? 50ण् आप ग्लूकोस अणु में ऐल्िडहाइडी समूह की उपस्िथति वैफसे स्पष्ट करेंगे? 51ण् डाइन्यूक्िलओटाइडों में उपस्िथत प़्ाफाॅस्पफोडाइएस्टर बंध् बनने में न्यूक्िलओसाइडों के कौन - से अंश भाग लेते हैं? आबंध्न के नाम में डाइएस्टर शब्द क्या इंगित करता है? इस आबंध्न में कौन - सा अम्ल भाग लेता है? 52ण् ग्लाइकोसाइडी बंध् क्या होते हैं? ये किस प्रकार के जैव अणुओं में उपस्िथत होते हैं? 53ण् स्टाचर्, सेलुलोस और ग्लूकोस में कौन - सी मोनोसैवैफराइड इकाइयाँ उपस्िथत होती हैं और ये किन बंधों से जुड़ी रहती हैं? 223 जैव अणु 54ण् एन्जाइम वि्रफयाधर को अभ्िाकमर्क द्वारा प्रभावी आव्रफमण के लिए वैफसे सहायता देते हैं? 55ण् ऐमीनो अम्लों के लिए प्रयुक्त होने वाले पदों क् और स्.विन्यास को उदाहरण द्वारा स्पष्ट कीजिए। 56ण् आप ग्लूकोस में उपस्िथत 1° और 2° हाइड्राॅक्िसल समूहों में विभेद वैफसे करेंगे? अभ्िावि्रफयाओं सहित स्पष्ट कीजिए। 57ण् उबालने पर अंडे की सपेफदी का स्वंफदन प्रोटीन के विवृफतिकरण का एक उदाहरण है। इसे संरचना परिवतर्न के रूप में समझाइए। प्टण् सुमेलन प्ररूप प्रश्न नोट - निम्नलिख्िात प्रश्नों में काॅलम - प् एवं काॅलम - प्प् के मदों को सुमेलित कीजिए। काॅलम - प् का एक मद काॅलम - प्प् के एक से अध्िक मदों से सुमेलित किया जा सकता ह।ै58ण् काॅलम प् में दिए विटामिनों को उनकी कमी से उत्पन्न होने वाले काॅलम प्प् में दिए रोग से सुमेलित कीजिए। काॅलम प् ;विटामिनद्ध काॅलम प्प् ;रोगद्ध ;पद्ध विटामिन । ;ंद्ध प्रणाशी रक्ताल्पता ;पपद्ध विटामिन ठ ;इद्ध रक्त का थक्का जमने में लगने वाले समय का बढ़ना 1 ;पपपद्ध विटामिन ठ ;बद्ध िाअॅरा.फ्रथैल्िमया 12 ;पअद्ध विटामिन ब् ;कद्ध रिकेट्स ;अद्ध विटामिन क् ;मद्ध मांसपेश्िायों की कमजोरी ;अपद्ध विटामिन म् ;द्धि रात्रिा अंध्ता ;अपपद्ध विटामिन ज्ञ ;हद्ध बेरी - बेरी ;ीद्ध मसूड़ों से रक्त बहना ;पद्ध आॅस्िटयोमेलेश्िाया 59ण् काॅलम प् में दिए एन्जाइमों को उनके द्वारा उत्प्रेरित की जाने वाली काॅलम प्प् में दी गइर् अभ्िावि्रफया से सुमेलित कीजिए। काॅलम प् ;एन्जाइमद्ध काॅलम प्प् ;अभ्िावि्रफयाद्ध ;पद्ध इनवटेर्ज ;ंद्ध यूरिया का छभ्और ब्व्में विघटन32 ;पपद्ध मालटेस ;इद्ध ग्लूकोस का एथ्िाल ऐल्कोहाॅल में परिवतर्न ;पपपद्ध पेप्िसन ;बद्ध मालटोस का ग्लूकोस में जलअपघटन ;पअद्ध यूरिएज ;कद्ध इक्षु शवर्फरा का जलअपघटन ;अद्ध जाइमेज ;मद्ध प्रोटीनों का पेप्टाइडों में जलअपघटन टण् अभ्िाकथन एवं तवर्फ प्ररूप प्रश्न नोट - निम्नलिख्िात प्रश्नों में अभ्िाकथन और तवर्फ के कथन दिए हैं। नीचे लिखे विकल्पों में से सही उत्तर का चयन कीजिए। ;पद्ध अभ्िाकथन और तवर्फ दोनों सही हैं और तवर्फ अभ्िाकथन का सही स्पष्टीकरण है। ;पपद्ध अभ्िाकथन और तवर्फ दोनों ही गलत कथन हैं। ;पपपद्ध अभ्िाकथन सही है परन्तु तवर्फ गलत कथन है। ;पअद्ध अभ्िाकथन गलत है परन्तु तवर्फ सही कथन है। ;अद्ध अभ्िाकथन और तवर्फ दोनों सही कथन हैं परन्तु तवर्फ अभ्िाकथन का स्पष्टीकरण नहीं है। 60ण् अभ्िाकथन - क् ;़द्ध दृ ग्लूकोस प्रवृफति में दक्ष्िाण ध्ु्रवण घूणर्क होता है। तवर्फ - ष्क्ष् दक्ष्िाण ध्ु्रवण घूणर्क प्रवृफति प्रदश्िार्त करता है। 61ण् अभ्िाकथन - विटामिन क् हमारे शरीर में संग्रहित हो सकता है। तवर्फ - विटामिन क् वसा में घुलनशील विटामिन है। 62ण् अभ्िाकथन - मालटोस में β.ग्लाइकोसाइडी बंध् उपस्िथत होता है, तवर्फ - मालटोस दो ग्लूकोस इकाइयों से बना होता है जिसमें एक ग्लूकोस इकाइर् का ब्दृ1 दूसरी ग्लूकोस इकाइर् के ब्दृ4 से जुड़ा रहता है। 63ण् अभ्िाकथन - ग्लाइसीन को छोड़कर सभी प्रावृफतिक α.ऐमीनो अम्ल ध्ु्रवण घूणर्क होते हैं। तवर्फ - अध्िकतर प्रावृफतिक ऐमीनो अम्लों का स्.विन्यास होता है। 64ण् अभ्िाकथन - डिआॅक्िसराइबोस, ब्5भ्10व्4 काबोर्हाइड्रेट नहीं है। तवर्फ - काबोर्हाइड्रेट काबर्न के हाइड्रेट होते हैं इसलिए जो यौगिक ब् ग;भ्2व्द्धल सूत्रा का अनुसरण करते हैं वे काबोर्हाइड्रेट होते हैं। 65ण् अभ्िाकथन - ग्लाइसीन को भोजन द्वारा लेना चाहिए। तवर्फ - यह आवश्यक ऐमीनो अम्ल है। 66ण् अभ्िाकथन - एन्जाइम की उपस्िथति में अभ्िाकमर्क वि्रफयाधर अणु पर प्रभावी प्रकार से आव्रफमण कर सकता है। तवर्फ - एन्जाइमों के वि्रफयाशील स्थान वि्रफयाधर अणु को उपयुक्त स्िथति में थामे रहते हैं। टप्ण् दीघर् उत्तर प्रश्न 67ण् क्.ग्लूकोस की वे अभ्िावि्रफयाएँ लिख्िाए जिन्हें विवृत शृंखला संरचना द्वारा स्पष्ट नहीं किया जा सकता। ग्लूकोस की चव्रफीय संरचना इन अभ्िावि्रफयाआंे को वैफसे स्पष्ट कर सकती है? 68ण् किन प्रमाणों के आधर पर क्.ग्लूकोस को निम्नलिख्िात संरचना प्रदान की गइर्? 69ण् काबोर्हाइड्रेट, वनस्पतियों और प्राण्िायों, दोनों के जीवन के लिए आवश्यक होते हैं। उन काबोर्हाइड्रेटों के नाम लिख्िाए जो वनस्पतियों और प्राण्िायों में संग्रहण अणु की तरह प्रयुक्त होते हैं। उस काबोर्हाइड्रेट का नाम भी लिख्िाए जो काष्ठ अथवा सूती कपडे़ के रेशे में उपस्िथत होता है। 70ण् प्रोटीनों की प्राथमिक और द्वितीयक संरचनाओं को स्पष्ट कीजिए। प्रोटीनों की α.हेलिक्स और β.प्लीटेड शीट संरचना में क्या अन्तर है? 71ण् क्छ। के सम्पूणर् जलअपघटन से बने खंडों की संरचनाएँ लिख्िाए। ये क्छ। अणु में किस प्रकार जुड़े रहते हैं? द्विक हेलिक्स क्छ। में न्यूक्िलओटाइड क्षारकों का युगलन एक चित्रा द्वारा प्रदश्िार्त कीजिए। प्ण् बहुविकल्प प्रश्न ;प्ररूप - प्द्ध 1ण् ;पपद्ध 2ण् ;पअद्ध 3ण् ;पपपद्ध 4ण् ;पपपद्धए संकेत - मोनोसैवैफराइडों के चव्रफीय हेमीएसीटैल रूप, जिनमें केवल ब्1 के हाइड्राॅक्िसल समूह का विन्यास अलग होता है, ऐनोमर होते हैं। 5ण् ;पपपद्धए संकेत - α.हेलिक्स में एक ऐमीनो अम्ल अवश्िाष्ट के दृछभ् समूह और दूसरे ऐमीनो अम्ल अवश्िाष्ट के झब्त्रत्र व् समूह के मध्य हाइड्रोजन आबंध् होता है। 6ण् ;पपद्ध 7ण् ;पपद्ध 8ण् ;पद्ध 9ण् ;पपद्ध 10ण् ;पपपद्ध 11ण् ;पद्ध 12ण् ;पपपद्ध 13ण् ;पअद्ध 14ण् ;पअद्ध 15ण् ;पद्ध 16ण् ;पपपद्ध 17ण् ;पद्ध 18ण् ;पपपद्ध 19ण् ;पपपद्ध प्प्ण् बहुविकल्प प्रश्न ;प्ररूप - प्प्द्ध 20ण् ;पपद्धए ;पअद्ध 21ण् ;पद्धए ;पपपद्ध 22ण् ;पपद्धए ;पअद्ध 23ण् ;पपद्धए ;पअद्ध 24ण् ;पद्धए ;पपद्ध 25ण् ;पद्धए ;पपपद्ध 26ण् ;पपद्धए ;पअद्ध 27ण् ;पद्धए ;पपद्ध 28ण् ;पद्धए ;पअद्ध प्प्प्ण् लघु उत्तर प्रश्न 29ण् लैक्टोस, दो मोनोसैवैफराइड इकाइयाँ उपस्िथत हैं। ऐसे ओलिगोसैवैफराइड डाइसैवैफराइड कहलाते हैं। 30ण् ग्लूकोस, लंबे समय तक भ्प् के साथ गरम करने पर द.हेक्सेन देता है। 31ण् पफाॅस्प़़्ाफोरिक अम्ल न्यूक्िलओसाइड शवर्फरा अंश के 5′.स्थान पर जुड़कर न्यूक्िलओटाइड बनाता है। 32ण् ग्लाइकोसाइडी बंध् 33ण् ग्लूकोस ब्रोमीन द्वारा ग्लूकोनिक अम्ल में और सांद्र भ्छव्अम्ल द्वारा सैवैफरिक अम्ल में परिवतिर्त3 होता है। 34ण् प़्ा्रफक्टोश कीटोहेक्सोस है। 35ण् ष्स्ष् विन्यास 36ण् ष्क्ष् विन्यास 37ण् ख्संकेत - सूव्रफोस, स्पष्टीकरण के लिए एन.सी.इर्.आर.टी. की पाठ्यपुस्तक का पृष्ठ 425 देखें।, 38ण् α.ऐमीनो अम्ल, 39ण् α.हेलिक्स में पाॅलिपेप्टाइड शृंखला एक वुंफडली के ऐमीनो अम्लों के कृछभ्कृ और निकट की दूसरी वुंफडली के ऐमीनो अम्लों के झब्त्रत्र व् समूहों के मध्य हाइड्रोजन आबंध् द्वारा स्थायित्व प्राप्त करती है। 40ण् आॅक्िसडोरिडक्टेस 41ण् लेक्िटक अम्ल 42ण् ग्लूकोस, ऐसीटिक ऐनहाइड्राइड द्वारा ऐसिलटलन से पेन्टाऐसीटेट व्युत्पन्न बनाता है। यह पाँचकृव्भ् समूहों की उपस्िथति सि( करता है। 43ण् ग्लूकोस पेन्टाऐसीटेट संरचना ;कद्ध में ब्1 पर स्वतंत्रा कृव्भ् समूह नहीं होते अतः इसे विवृत शृंखला रूप में परिवतिर्त नहीं किया जा सकता जिससे कृब्भ्व् समूह मिल सके, इसलिए यह आॅक्िसम नहीं बनाता। ;कद्ध 44ण् विटामिन ब् जल में विलेय है। अतः मूत्रा द्वारा आसानी से निष्काष्िात हो जाता है एवं शरीर में संग्रहित नहीं हो सकता। 45ण् सूव्रफोस ;दक्ष्िाण ध्ु्रवण घूणर्कद्ध, जल अपघटन से ग्लूकोस ;दक्ष्िाण ध्ु्रवण घूणर्क, ़ 52ण्5°द्ध और प़्रफक्टोश ;वामु धु्रवण घूणर्क, दृ92ण्4°द्ध देता है। प़्रफक्टोश का वामु ध्ु्रवण घूणर्न ग्लूकोस के दक्ष्िाण ध्ु्रवण घूणर्न से अध्िक है। अतः मिश्रण वामु ध्ु्रवण घूणर्क होता है। 46ण् जलीय विलयन में काबोर्क्िसल समूह एक प्रोटोन विसजिर्त करता है और ऐमीनो समूह एक प्रोटोन प्राप्त करता है जिससे िवटर आयन बनता है। 47ण् ग्लाइसिलऐलानीन में ग्लाइसीन का काबोर्क्िसल समूह ऐलानीन के ऐमीनो समूह से जुड़ा रहता है। 48ण् भौतिक अथवा रासायनिक परिवतर्न के कारण प्रोटीनों के हाइड्रोजन बंध् विचलित हो जाते हैं, गोलिकाएँ खुल जाती हैं और हेलिक्स अवंुफडलित हो जाते हैं जिससे प्रोटीन अपनी जैविक सवि्रफयता खो देता है, इसे प्रोटीनों का विवृफतिकरण कहते हैं। 49ण् एन्जाइम जो जैव उत्प्रेरक होते हैं, वैकल्िपक पथ देकर सवि्रफयण उफजार् का आमाप कम कर देते हैं। इसलिए सूव्रफोस के जलअपघटन में एन्जाइम सूव्रेफस, सवि्रफयण उफजार् को 6ण्22 ाश्र उवसदृ1 से 2ण्15 ाश्र उवसदृ1 कर देता है। 50ण् ग्लूकोस हाइड्राॅक्िसलऐमीन से अभ्िावि्रफया करके मोनोआॅक्िसम देता है और हाइड्रोजन सायनाइड के एक अणु के योगज से सायनोहाइडिªन बनाता है। इसलिए इसमें उपस्िथत काबोर्निल समूह ऐल्िडहाइड अथवा कीटोन हो सकता है। ब्रोमीन द्वारा मृदु आॅक्सीकरण से ग्लूकोस ग्लूकोनिक अम्ल देता है जो छः काबर्नों का कोबोर्क्िसलिक अम्ल है। यह इंगित करता है कि उपस्िथत काबोर्निल समूह ऐल्िडहाइडी समूह है। 51ण् संकेत - एन.सी.इर्.आर.टी. की पाठ्यपुस्तक का पृष्ठ 436 देखें। 52ण् संकेत - एन.सी.इर्.आर.टी. की पाठ्यपुस्तक का पृष्ठ 425 देखें। 53ण् स्टाचर् और ग्लाइकोजन में ग्लूकोस इकाइयों के मध्य ग्लाइकोसाइडी α.बंध् होता है जबकि सेलुलोस में ग्लाइकोसाइडी β.बंध् उपस्िथत होता है। 54ण् एन्जाइमों के वि्रफयाशील स्थल वि्रफयाधर अणु को उपयुक्त स्िथति में थामे रखते हैं। इसलिए इस पर अभ्िाकमर्क का प्रभावी आव्रफमण हो सकता है। 55ण् संकेत - उत्तर के लिए एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 56ण् संकेत - उत्तर के लिए एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक का पृष्ठ 421 देखें। 57ण् संकेत - उत्तर के लिए एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक का पृष्ठ 431 देखें। 229 जैव अणु प्टण् सुमेलन प्ररूप प्रश्न 58ण् ;पद्ध→ ;बद्धए ;द्धि;पपद्ध→ ;हद्धए ;पपपद्ध→;ंद्धए ;पअद्ध→;ीद्ध ;अद्ध→ ;कद्धए ;पद्ध;अपद्ध→ ;मद्धए ;अपपद्ध→;इद्ध 59ण् ;पद्ध→ ;कद्ध;पपद्ध → ;बद्धए ;पपपद्ध → ;मद्धए ;पअद्ध → ;ंद्ध;अद्ध→ ;इद्ध टण् अभ्िाकथन एवं तवर्फ प्ररूप प्रश्न 60ण् ;पपपद्ध 61ण् ;पद्ध 62ण् ;पअद्ध 63ण् ;अद्ध 64ण् ;पपद्ध 65ण् ;पपद्ध 66ण् ;पद्ध टप्ण् दीघर् उत्तर प्रश्न 67ण् संकेत - उत्तर के लिए एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 68ण् संकेत - उत्तर के लिए एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 69ण् संकेत - वनस्पतियों में काबोर्हाइड्रेट संग्रहण अणु स्टाचर् के रूप में होता है और प्राण्िायों में यह ग्लाइकोजन अणु के रूप में होता है। काष्ठ अथवा कपड़े के रेशे में सेलुलोस उपस्िथत होता है। 70ण् संकेत - उत्तर के लिए एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें। 71ण् संकेत - उत्तर के लिए एन.सी.इर्.आर.टी. की कक्षा 12 की पाठ्यपुस्तक देखें।

RELOAD if chapter isn't visible.