छोटू का घर छोटू पहली बार मुंबइर् आया..30 चित्रों में छोटू की कहानी बताइर् गइर् है। देखकर बताओ μ ♦ छोटू ने पाइप को देखकर क्या सोचा? ♦ छोटू ने पाइप का किस तरह से इस्तेमाल किया है? ♦ छोटू ने पाइप और आस - पास की जगह को कौन - से हिस्सों में बाँटा है? ♦ छोटू को इस घर के कौन - से हिस्से में श्यादा समय बिताना पसंद होगा? ♦ छोटू ने मोनू को भी पाइप में रहने को क्यों कहा होगा? मकान कब घर बन जाता है, इस पर चचार् करवाना ‘मकान’ और ‘घर’ के अंतर को स्पष्ट करेगा। 31 अपने घर का चित्रा काॅपी में बनाओ। उसमें रंग भी भरो। ❉ तुम्हारे घर में कौन - कौन रहते हैं? ❉ छोटू ने पाइप को अलग - अलग हिस्सों में बाँटा। तुम भी अपने घर के अलग - अलग हिस्सों के नाम लिखो। ❉ एक दिन में तुम घर के किस हिस्से में कितना समय बिताते हो? ❉ क्या घर का कोइर् ऐसा हिस्सा है जिसमें घर के वुफछ लोग श्यादा समय बिताते हैं? ❉ क्या घर का कोइर् ऐसा भी हिस्सा है जिसमें घर का कोइर् खास व्यक्ित जाता ही नहीं है, या बहुत कम जाता है? हमारे घरों में हम लोग तो रहते ही हैं, पर हमारे साथ - साथ वुफछ जानवर भी रहते हैं μ वुफछ हमारी मशीर् से, वुफछ हमारी इजाशत के बगैर! बच्चों से उनके घर की बातचीत को संवेदनशीलता से करने की शरूरत है। घर अलग - अलग तरह के होते हैं। यह बात ध्यान में रखते हुए पाठ में कमरों के बजाए ‘घर के हिस्सों’ का प्रयोग किया गया है। घर के हिस्सों में विश्िाष्ट व्यक्ितयों का जाना या न जाना उनके घर के तौर - तरीव.फांे को दशार्ता है। घर प्यारा सदा यही तो कहती हो माँ घर यह सिपर्फ हमारा अपना। लेकिन माँ वैफसे मैं मानँू घर तो यह कितनों का अपना। देखो तो वैफसे ये चूहे खेल रहे हैं पकड़़म - पकडी। वैफसे मच्छर टहल रहे हैं वैफसे मस्त पड़ी है मकड़ी! और छिपकली को तो देखो चलती है जो गश्त लगाती! अरे कतारें बाँध्ें - बाँध्ें कहाँ चीटियाँ दौड़ी जातीं। और उध्र आँगन में देखो पंछी वैफसे झपट रहे हैं। बिल्वुफल दीदी और मुझ जैसे किसी बात पर झगड़ रहे हैं। इसीलिए तो कहता हँू माँ घर ना समझो सिपर्फ हमारा सदा - सदा से जो भी रहता सबका ही है घर यह प्यारा। बच्चा टोली ;भारत ज्ञान विज्ञान समितिद्ध 33 ❉ ऐसे दो जानवरों के चित्रा बनाओ, जो हमारी इशाशत के बिना हमारे घर में रहते हैं। चित्रा के नीचे उनका नाम भी लिखो। ❉ तुम अपने घर को वैफसे सापफ रखते हो?़❉ तुम्हारे घर में सपफाइर् का काम कौन - कौन करते हैं?़❉ तुम अपने घर का वूफड़ा - कचरा कहाँ डालते हो? ❉ क्या तुम्हारे घर के आस - पास सपफाइर् रहती है?़लता का घर इस तरह से सजा है। क्या तुम अपने घर को किसी खास तरह से सजाते हो? कब और वैफसे सजाते हो? अपने साथ्िायों से पता करो कि वे अपने घर को कब और वैफसे सजाते हैं? तुम अपने घर को किन - किन चीशों से सजाते हो? उनके नाम लिखो। पाठ में प्रत्येक बच्चे से उसके घर की सजावट के बारे में पूछा गया है। बच्चों से घर सजानेकी प्रकिया पर बातचीत से, स्थानीय सामग्री के उपयोग तथा त्योहार मनाने के महत्त्व को उभारा जा सकता है।

RELOAD if chapter isn't visible.