अपनी बात कहते हुए लेखक ने अनेक समानताएँ प्रस्तुत की हैं। ऐसी तुलना से अर्थ अधिक स्पष्ट एवं सुंदर बन जाता है। उदाहरण-

(क) संभ्रात महिला की भांति वे प्रतीत होती थीं।


(ख) माँ और दादी, मौसी और मामी की गोद की तरह उनकी धारा में डुबकियाँ लगाया करता।


अन्य पाठों से ऐसे पाँच तुलनात्मक प्रयोग निकालकर कक्षा में सुनाइए और उन सुंदर प्रयोगों को कॉपी में भी लिखिए।


(1) सागर की हिलोर की भांति उसका यह मादक गान गली भर के मकानों में इस ओर से उस ओर तक लहराता हुआ पहुँचता और खिलौनेवाला आगे बढ़ जाता।

(2) लाल किरण-सी चोंच खोलते, चुगते तारक अनार के दाने|


(3) लाल कण बनावट में बालूशाही की तरह ही होते हैं।


(4) रक्त के तरल भाग प्लाज्मा में एक विशेष किस्म की प्रोटीन होती है तो रक्तवाहिका की कटी-फटी दीवार में मकड़ी के जाल के समान एक जाला बुन देती है|


(5) यह स्थिति चित्रा जैसी अभिमानिनी माजोरी के लिए ही कही जायेगी|


1