कठपुतली को गुस्सा क्यों आया?

कठपुतली आगे-पीछे धागों से बंधी रहती है और अपने बंधनों को देखकर उसे गुस्सा जाता है। वह पराधीन रहकर जीवन बिता रही थी। उसे दूसरों के ईशारों पर नाचने से दुख होता था। वह स्वतंत्र होकर अपने पैरों पर खड़ा होना चाहती थी। इसी वजह से कठपुतली को गुस्सा जाता है।


2